Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाज'जहन्नुम में जाए भारत': एशिया कप की मेजबानी Pak से छिनने की आशंका से...

‘जहन्नुम में जाए भारत’: एशिया कप की मेजबानी Pak से छिनने की आशंका से भड़के दाऊद के समधी जावेद मियाँदाद, BCCI ने कह दिया है – पाकिस्तान नहीं जाएगी इंडियन टीम

जय शाह के फैसले के बाद PCB प्रमुख सेठी ने हाल ही में BCCI को धमकी दी थी कि अगर एशिया कप तटस्थ स्थान पर खेला जाएगा तो पाकिस्तान 2023 विश्व कप से बाहर हो जाएगा।

पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर जावेद मियाँदाद (Javed Miandad) ने एशिया कप (Asia Cup) 2023 में भारतीय पुरुष क्रिकेट टीम को नहीं भेजने पर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के खिलाफ जहर उगला है। मियाँदाद ने कहा है कि पाकिस्तान को बने रहने के लिए भारत की आवश्यकता नहीं है और न ही भारत द्वारा नियंत्रित क्रिकेट की आवश्यकता है। उन्होंने आईसीसी से भारत के खिलाफ कार्रवाई करने की माँग की।

जावेद मियाँदाद ने हाल ही में एक सार्वजनिक कार्यक्रम में कहा था, “अगर भारत क्रिकेट खेलने के लिए पाकिस्तान नहीं आना चाहता है तो वह जहन्नुम में जाए।” उन्होंने आगे कहा, ”मैंने हमेशा पाकिस्तान का समर्थन किया है। आप जानते हैं कि जब भी कोई समस्या आती है तो मैं भारत को नहीं बख्शता हूँ। लेकिन, बात यह है कि हमें अपने हिस्से को देखने की जरूरत है। हमें इसके लिए लड़ना चाहिए। हमें किसी बात की परवाह नहीं है क्योंकि हमें मेजबानी करनी है। यह आईसीसी का काम है। यदि ICC इसे नियंत्रित नहीं कर सकता है तो उसके गवर्निंग बॉडी होने का कोई मतलब नहीं है। उन्हें हर टीम के लिए समान नियम लागू करने की जरूरत है। अगर इस तरह की टीमें नहीं आती हैं तो उन्हें प्रतिबंधित कर दिया जाना चाहिए। इंडिया होगा, अपने लिए होगा। हमारे लिए नहीं है।”

पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर ने आगे कहा कि भारत हार के डर से पाकिस्तान का सामना करने से डरता है। जबकि तथ्य यह है कि पाकिस्तान ने पिछले 13 विश्व कप मैचों में से 12 में भारत से हार का सामना किया है। इसके अलावा कई महत्वपूर्ण मैचों में भी भारत ने पाकिस्तान को पटखनी दी है। बता दें कि अंडरवर्ल्ड सरगना दाऊद इब्राहिम की बेटी का निकाह जावेद मियाँदाद के बेटे से हुआ है। इस तरह वो आतंकी दाऊद के समधी हैं।

मियाँदाद ने कहा, “भारत पाकिस्तान के खिलाफ खेलने से क्यों डरता है? उन्हें पता है कि अगर वे पाकिस्तान से हार गए तो उनकी जनता उन्हें बख्शेगी नहीं। नरेंद्र मोदी गायब हो जाएँगे, उनकी जनता उन्हें नहीं छोड़ेगी। पाकिस्तान से भागना भारत की पुरानी आदत है। यह कोई नई बात नहीं है, मैं उन्हें अपने खेल के दिनों से जानता हूँ।”

उन्होंने आगे कहा, “जब हमने शारजाह में जीतना शुरू किया तो भारत वहाँ से भाग गया, वे हमसे खेलना नहीं चाहते थे। जब भी वो हमसे हारते थे तो उनकी जनता खिलाड़ियों के घरों में आग लगा देती थी। गावस्कर सहित उनके खिलाड़ियों को हमसे हारने के बाद काफी परेशानी हुई थी।” मियाँदाद, दरअसल हाल के महीनों में 2023 एशिया कप के आयोजन स्थल को लेकर उठे विवाद पर प्रतिक्रिया दे रहे थे।

2023 एशिया कप की मेजबानी को लेकर क्या है विवाद ?

दरअसल एशिया कप 2023 पाकिस्तान में आयोजित किया जाना था और इस बात को लेकर अनिश्चितता है कि भारतीय क्रिकेट टीम भाग लेने के लिए वहाँ जाएगी या नहीं। ऐसी अफवाहें थीं कि मेन इन ब्लू एशिया कप के लिए पाकिस्तान जाने की योजना बना रही है, लेकिन एशियाई क्रिकेट परिषद (ACC) के अध्यक्ष (ACC) और बीसीसीआई सचिव जय शाह ने पिछले साल अक्टूबर में स्पष्ट किया था कि भारत एशिया कप के लिए अपने पड़ोसी देश का दौरा नहीं करेगा। इसके बजाय, जय शाह ने संकेत दिया था कि एशिया कप 2023 किसी तटस्थ स्थान पर होगा।

उन्होंने तब कहा था,“एशिया कप 2023 एक तटस्थ स्थान पर होगा। सरकार पाकिस्तान जाने वाली टीम की अनुमति के बारे में फैसला करती है, इसलिए हम उस पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे। 2023 एशिया कप के लिए यह तय किया गया है कि टूर्नामेंट किसी तटस्थ स्थान पर आयोजित किया जाएगा।” भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) की बैठक 18 अक्टूबर 2022 को मुंबई में आयोजित की गई थी।

उन्होंने कहा था, “2025 चैंपियनशिप ट्रॉफी के लिए भी स्थान अभी भी तय किया जाना है, जब यह तय हो जाएगा तो हम उस पर टिप्पणी करेंगे। हमें अपने मीडिया राइट्स से अच्छी कमाई हो रही है। हमारा मकसद है कि घरेलू खिलाड़ियों को ज्यादा फायदा मिलना चाहिए क्योंकि हमारी कमाई बढ़ रही है।”

दिसंबर 2022 में, ACC के अध्यक्ष जय शाह ने यात्रा कार्यक्रम जारी किया था लेकिन एशिया कप के आयोजन स्थल का उल्लेख नहीं किया था। वहीं पीसीबी प्रमुख नजम सेठी ने शाह पर ‘एकतरफा निर्णय’ लेने का आरोप लगाया आरोप। हालाँकि इस आरोप को ACC अधिकारी ने आधिकारिक तौर पर ख़ारिज कर दिया था और कहा था कि यात्रा कार्यक्रम पर सिफारिशें माँगने के लिए पीसीबी को बार-बार ईमेल किया गया था लेकिन कोई जवाब नहीं आया।

जय शाह के फैसले के बाद PCB प्रमुख सेठी ने हाल ही में BCCI को धमकी दी थी कि अगर एशिया कप तटस्थ स्थान पर खेला जाएगा तो पाकिस्तान 2023 विश्व कप से बाहर हो जाएगा। पीसीबी ने एशिया कप की मेजबानी के अधिकार पर चर्चा के लिए आपात बैठक बुलाई थी।

विवाद को समाप्त करने के लिए, एशियाई क्रिकेट परिषद (ACC) ने 4 फरवरी 2023 को बहरीन में एशिया कप की मेजबानी पर चर्चा करने के लिए एक आपातकालीन बैठक की थी। बैठक के बाद शाह ने दोहराया कि पाकिस्तान में सितंबर 2023 में एशिया कप आयोजित होने की कोई संभावना नहीं है। BCCI का कहना है कि भारत पाकिस्तान में एशिया कप में भाग नहीं ले सकता क्योंकि भारत सरकार ने भारतीय टीम को पाकिस्तान जाने की अनुमति नहीं दी है। इसके बजाए, संयुक्त अरब अमीरात और श्रीलंका दो संभावित विकल्प हैं। आयोजन स्थल पर अंतिम फैसला मार्च में लिया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि 2009 में लाहौर में श्रीलंका की टीम पर बस में हुए हमले के बाद से पाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों की मेजबानी कई वर्षों तक नहीं हुई थी। पिछले तीन वर्षों से, पाकिस्तान ने अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंटों की मेजबानी करना शुरू किया है, लेकिन भारत ने अभी तक पाकिस्तान का दौरा नहीं किया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

राहुल आनंद
राहुल आनंदhttps://hindi.opindia.com/
बेहतरी की तलाश में...

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

3 आतंकियों को घर में रखा, खाना-पानी दिया, Wi-Fi से पाकिस्तान करवाई बात: शौकत अली हुआ गिरफ्तार, हमलों के बाद OGW नेटवर्क पर डोडा...

शौकत अली पर आरोप है कि उसने सेना के जवानों पर हमला करने वाले आतंकियों को कुछ दिन अपने घर में रखा था और वाई-फाई भी दिया था।

नई नहीं है दुकानों पर नाम लिखने की व्यवस्था, मुजफ्फरनगर पुलिस ने काँवड़िया रूट पर मजहबी भेदभाव के दावों को किया खारिज: जारी की...

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में पुलिस ने ताजी एडवायजरी जारी की है, जिसमें दुकानों और होटलों पर मालिकों के नाम लिखने को ऐच्छिक कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -