Monday, August 15, 2022
Homeदेश-समाजबच्चे ने ब्लैकबोर्ड पर लिख दिया 'जय श्रीराम', प्रिंसिपल अबुल कलाम ने बेरहमी से...

बच्चे ने ब्लैकबोर्ड पर लिख दिया ‘जय श्रीराम’, प्रिंसिपल अबुल कलाम ने बेरहमी से पीटा: फिर चर्चा में झारखंड का सरकारी स्कूल

बच्चों के अभिभावकों का यह भी आरोप है कि प्रिंसिपल अबुल कलाम स्कूल में उनके बच्चों से शौचालय साफ करवाता है। उनसे शौचालय का पानी ढुलवाता है।

झारखंड के सरकारी स्कूल इन दिनों चर्चा में हैं। पहले कई सरकारी स्कूलों में इस्लामी कायदे के हिसाब से रविवार की छुट्टी बदलकर शुक्रवार किए जाने की बात सामने आई थी। अब गिरिडीह जिले के एक स्कूल में छात्र की बेरहमी से पिटाई कक्षा के ब्लैकबोर्ड पर ‘जय श्रीराम’ लिखने के कारण किए जाने का मामला सामने आया है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार यह घटना गिरिडीह जिले के पालमो पंचायत के उत्क्रमित मध्य विद्यालय की है। बताया जाता है कि चौथी कक्षा में पढ़ने वाले एक छात्र ने 8 जुलाई 2022 को ब्लैक बोर्ड पर जय श्रीराम लिख दिया। असके अगले दिन 9 जुलाई को प्रिंसिपल मोहम्मद अबुल कलाम ने उसे जमकर पीटा। इस स्कूल में कक्षा 1 से 8 तक की पढ़ाई होती है।

इसके बाद 13 जुलाई को स्कूल में स्थानीय ग्रामीणों की एक बैठक बुलाई गई। इसमें पंचायत के कई प्रमुख लोग, प्रिंसिपल अबुल कलाम और स्कूल प्रबंधन समिति सहित दर्जनों लोग शामिल हुए। बैठक के दौरान अब्दुल कलाम पर कई बच्चों के अभिभावकों ने यह भी आरोप लगाया कि स्कूल में उनके बच्चों से शौचालय साफ कराया जाता है और उनसे शौचालय का पानी ढुलवाया जाता है। माहौल गर्म होता देख पंचायत के सदस्यों ने स्थानीय थाने को इसकी सूचना दी। पुलिस पहुँची तो उन्होंने भीड़ को तितर-बितर किया और गुस्साए स्थानीय लोगों को शांत कराया। घटना की जानकारी जिला शिक्षा अधिकारी पुष्पा कुजूर को भी दी गई, जिन्होंने मामले की जाँच के आदेश दिए हैं। साथ ही दोषी पाए जाने पर प्रिंसिपल के खिलाफ सख्त कार्रवाई का भरोसा दिलाया है।

इस घटना की निंदा करते हुए झारखंड भाजपा प्रदेश प्रवक्ता अविनेश कुमार ने कहा कि जिस तरह से पूरे झारखंड में कट्टरपंथियों का मनोबल बढ़ाने का काम राज्य सरकार कर रही है, उसे देखते हुए कहा जा सकता है कि आने वाले समय में झारखंड में भी तालिबान का राज होगा।

बता दें कि हाल ही में गढ़वा से खबर आई थी कि बच्चों को हाथ जोड़कर प्रार्थना करने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। उसके बाद झारखंड के जामताड़ा जिले के कुछ सरकारी स्कूलों में रविवार के बजाय शुक्रवार की छुट्टी दिए जाने की खबर सामने आई थी। इसके बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के गृह जिले दुमका के कई स्कूलों के नाम में उर्दू जोड़ने की बात सामने आई थी ताकि साप्ताहिक छुट्टी शुक्रवार को की जा सके।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

₹180 करोड़ की फिल्म, 4 दिन में बस ₹38 करोड़: लाल सिंह चड्ढा के फ्लॉप होते ही सदमें में आमिर खान, डिस्ट्रीब्यूटर्स ने माँगा...

लाल सिंह चड्ढा की बॉक्स ऑफिस पर भद्द पिटने के बाद आमिर खान सदमे में चले गए हैं। वहीं डिस्ट्रीब्यूटर्स ने भी मेकर्स से मुआवजे की माँग शुरू कर दी है।

वो हिंदुस्तानी जो अभी भी नहीं हैं आजाद: PoJK के लोग देख रहे आशाभरी नजरों से भारत की ओर, हिंदू-सिखों का यहाँ हुआ था...

विभाजन की विभीषिका को भी भुलाया नहीं जा सकता। स्वतंत्रता-प्राप्ति का मूल्य समझकर और स्वतन्त्रता का मूल्य चुकाकर ही हम अपनी स्वतंत्रता को सुरक्षित और संरक्षित कर सकते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
213,977FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe