Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजजिस हिरोइन से साजिद खान ने कहा था- टॉप और ब्रॉ उतारो, उसे सूरज...

जिस हिरोइन से साजिद खान ने कहा था- टॉप और ब्रॉ उतारो, उसे सूरज पंचोली देता था गालीः जिया खान की माँ ने कोर्ट में बताया कैसे टॉर्चर की गई उनकी बेटी

"जिया ने सूरज की कुछ महिला मित्रों के साथ अपनी तस्वीरें भेजीं और उस तस्वीर में जिया की जाँघ और उसकी कोहनी पर चोट के निशान थे। इसके बारे में पूछे जाने पर जिया ने कहा- कोई बात नहीं, हमारा अभी झगड़ा हुआ था।”

बॉलीवुड की दिवंगत हिरोइन जिया खान को सूरज पंचोली गाली देता था। उसे शारीरिक और मानसिक तौर पर टॉर्चर करता था। यह दावा जिया खान की माँ राबिया ने किया है। वे बुधवार (17 अगस्त 2022) को मुंबई की एक विशेष अदालत में पेश हुईं थी।

जिया खान की आत्महत्या के मामले में अभिनेता सूरज पंचोली नामजद हैं। सीबीआई ने उन पर आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज कर रखा है। एक्टर आदित्य पंचोली के बेटे सूरज फिलहाल जमानत पर हैं। 

जिया खान की माँ राबिया खान ने बुधवार को कोर्ट में बताया जिया 2006 में मुंबई में छुट्टी बिताने के लिए आई थी। इसी दौरान निर्देशक रामगोपाल वर्मा ने जिया को अमिताभ बच्चन के साथ नि:शब्द फिल्म के लिए अप्रोच किया। उस समय जिया 17 साल की थी। यह फिल्म 2007 में रिलीज हुई। इस फिल्म के कारण जिया को काफी सराहना मिलीं और अन्य फिल्मों के भी प्रस्ताव मिलने लगे।

राबिया खान ने आगे बताया कि पंचोली ने सोशल मीडिया पर जिया को स्टॉक करना शुरू किया। उसने जिया से मिलने को कहा। शुरुआत में जिया उससे नहीं मिलना चाहती थी। लेकिन सितंबर 2012 में दोनों के बीच मुलाकात हुई। जिया खार में जिम करने जाती थी। सूरज पंचोली वहाँ पर उसके लिए फूल लेकर जाता था। इसके बाद जिया ने अपनी माँ को उसके साथ तस्वीरें भी भेजी थी। इसे देख राबिया को लगा दोनों रिलेशन में हैं। लेकिन जिया ने अपनी माँ को बताया कि वे सिर्फ दोस्त हैं।

राबिया ने अदालत को बताया कि अक्टूबर 2012 में जिया और सूरज एक-दूसरे के घर पर रहने लगे थे। सूरज पंचोली ने पूरी तरह से सब अपने कंट्रोल में कर लिया था। 24 दिसंबर 2012 को उन्हें दोनों के बीच लड़ाई होने का पहली बार पता चला। इसके बाद आगे भी कई मौकों पर ऐसी घटनाएँ हुई।

एक्ट्रेस की माँ ने कहा कि 2013 में जिया ने बताया कि सूरज पंचोली उसे अपने दोस्तों के सामने नीचे दिखाता था और उसके सामने दूसरी लड़कियों से फ्लर्ट करता था। रबिया ने कोर्ट में कहा, “जिया ने कहा कि मुझे लगता है कि सूरज और उसके बचपन के दोस्त करण जोशी के बीच अजीब रिश्ता है। फिर मैंने जिया से उन लोगों की तस्वीरें भेजने के लिए कहा जिनके साथ वह गोवा में थी। जिया ने सूरज की कुछ महिला मित्रों के साथ अपनी तस्वीरें भेजीं और उस तस्वीर में जिया की जाँघ और उसकी कोहनी पर चोट के निशान थे। इसके बारे में पूछे जाने पर जिया ने कहा- कोई बात नहीं, हमारा अभी झगड़ा हुआ था।”

गौरतलब है कि इससे पहले राबिया खान ने इस मामले में सलमान खान और महेश भट्ट पर भी गंभीर आरोप लगाए थे। उन्होंने कहा था कि 2015 में एक सीबीआई ऑफिसर ने उन्हें बताया था कि सलमान खान रोज फोन करते थे और पैसे की बात करते थे। वो कहते थे कि लड़के (सूरज पंचोली) से पूछताछ मत करो। वहीं इंडिया टुडे को दिए इंटरव्यू में राबिया खान ने बताया था जिया के अंतिम संस्कार पर महेश भट्ट ने उनसे कहा था कि उनकी बेटी (जिया) डिप्रेशन में थी। बकौल राबिया भट्ट ने उनसे कहा था, “तुम चुप हो जाओ वरना तुम्हें भी इंजेक्शन देकर सुला देंगे।” 

यौन शोषण के आरोपित व बॉलीवुड फिल्म निर्माता साजिद खान पर भी जिया को परेशान करने का आरोप लगा था। जिया की बहन करिश्मा ने एक बार बताया था, “वह स्क्रिप्ट पढ़ रही थी तभी उसने (साजिद खान) ने उससे उसका टॉप और ब्रा हटाने को कहा। उसे नहीं समझ आया कि वो क्या करे। उसने कहा था कि अभी तो फिल्म शुरू भी नहीं हुई और ये सब अभी से हो रहा है। वो घर आकर बहुत रोई थी। उसका कहना था कि उनके पास कॉन्ट्रैक्ट हैं। अगर मैंने छोड़ा तो मुझ पर मुकदमा होगा। अगर नहीं छोड़ा तो मेरा यौन उत्पीड़न होगा। हर स्थिति हारने वाली है।”

बता दें जिया खान की मौत 3 जून 2013 को हुई थी। साल 2016 में बॉम्बे कोर्ट ने मौत को आत्महत्या करार कर दिया था। हालाँकि राबिया खान इसे हमेशा से हत्या बताती रहीं और सूरज पंचोली पर इल्जाम मढ़ती रही हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -