Friday, October 7, 2022
Homeदेश-समाजकमलेश तिवारी हत्याकांड में सामने आया नया वीडियो, हत्यारों को पकड़ने के क़रीब है...

कमलेश तिवारी हत्याकांड में सामने आया नया वीडियो, हत्यारों को पकड़ने के क़रीब है पुलिस

फुटेज में दिख रहे संदिग्धों में एक महिला भी है जो बाद में अलग होकर घटनास्थल से निकलती है, इसके बाद दोनों संदिग्ध युवक निकलते हैं। इसी आधार पर पुलिस आरोपितों की तलाश कर रही है।

लखनऊ के कमलेश तिवारी हत्याकांड में कुछ नए वीडियो पुलिस के हाथ लगे हैं। माना जा रहा है कि इस गुत्थी को सुलझाने में जुटी पुलिस इसके ज़रिये कमलेश तिवारी के हत्यारों के काफी करीब पहुँच सकती है। इससे पहले शुक्रवार (18 अक्टूबर) को भी एक वीडियो पुलिस के हाथ लगा था जिसमें नारंगी कपड़े पहने दो युवक जा रहे हैं। उनमे से एक के हाथ में पीले रंग की पॉलीथीन है। माना जा रहा है कि रहा इसमें मिठाई का वह डब्बा रहा होगा जिसमें बन्दूक छिपा कर रखी गई थी।

वीडियो में साफ़ है कि इस घटनाक्रम को अंजाम देने में तीन लोगों का हाथ है इनमें से दो पुरुष और एक महिला है। एक सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि हत्या को अंजाम देने के बाद तीनो अलग-अलग भाग जाते हैं। यूपी सरकार ने इस मामले में एसआईटी का भी गठन कर दिया है ताकि जल्द से जल्द हत्यारों को ढूँढा जा सके।

एक आधिकारिक रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि कमलेश तिवारी को एक गनर और एक गार्ड मुहैया कराया गया था। हत्या के एक दिन के भीतर पुलिस ने जो वीडियो जो हासिल किए हैं उनसे इस हत्याकांड में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिल सकती है। पुलिस असल अपराधी को पकड़ने करीब पहुँचती दिख रही है, क्योंकि वारदात को अंजाम देने वाले संदिग्ध हत्यारे सीसीटीवी फुटेज में क़ैद हो गए हैं।

बता दें कि फुटेज में दिख रहे संदिग्धों में एक महिला भी है जो बाद में अलग होकर घटनास्थल से निकलती है, इसके बाद दोनों संदिग्ध युवक निकलते हैं। इसी आधार पर पुलिस आरोपितों की तलाश कर रही है। एसपी कलानिधि नैथानी के निर्देश पर पुलिस की कई टीमें आरोपितों की तलाशी में जुट गई हैं। पुलिस ने भी इस विषय में यह दावा किया है कि जल्द ही हत्याकांड की गुत्थी को सुलाझा लिया जाएगा।

इस पूरे घटनाक्रम में अभी तक पुलिस ने कुल तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है और जाँच जारी है। इस पूरे मामले को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि दहशत फ़ैलाने की कोई भी कोशिश सफल नहीं होने दी जाएगी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मंदिर में नमाज गंगा-जमुनी तहजीब, कर्नाटक के बीदर में पारंपरिक दशहरा पूजा मस्जिद-मुस्लिमों पर हमला: इस्लामी प्रलाप कब तक भोगते रहेंगे हिंदू

कर्नाटक के बीदर में दशहरा पूजा की जो परिपाटी निजाम काल से चल रही है, उस पर इस्लामी प्रलाप चल रहा है। इसके दबाव में पुलिस ने 9 हिंदुओं पर एफआईआर की है।

राजस्थान में छाया बिजली संकट: 23 थर्मल स्टेशनों में से 11 बंद, प्रदेश में बचा है सिर्फ 4 दिन का कोयला

राजस्थान में बिजली संकट का खतरा बढ़ता जा रहा है। कोयले की आपूर्ति न होने के कारण प्रदेश में 23 थर्मल स्टेशनों में से 11 ने बिजली उत्पादन करना बंद कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
226,757FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe