Monday, August 2, 2021
Homeदेश-समाजरमन बने अफजल ने नेहा को बहन बनाकर घर से भगाया: घर से ₹25000...

रमन बने अफजल ने नेहा को बहन बनाकर घर से भगाया: घर से ₹25000 कैश, 3 लाख के गहने, एटीएम कार्ड गायब

"अफजल ने फ़ोन पर उसे माँ कहते हुए बात की थी। उस समय मुझे क्या पता था कि भाई की आड़ में कोई दरिंदा इसके पीछे छिपा है। जिसकी नजर मेरी बेटी की जिस्म पर थी। बहन बहन कह कर उसने मेरी बेटी नेहा को अपने मोह जाल में फँसाया फिर मौका देखते ही उसे भगा ले गया।"

कानपुर में लव जिहाद का एक नया मामला सामने आया है। गोविंदनगर थाना क्षेत्र में एक मुस्लिम युवक ने एक हिंदू लड़की को बहन बनाया और फिर घर से भगा ले गया। लड़की की माँ ने बताया कि अफजल अंसारी नाम के मुस्लिम युवक ने फेसबुक पर रमन नाम से फर्जी ईडी बना कर उनकी बेटी को बहला फुसलाकर अपने साथ ले गया। इतना ही नहीं अफजल ने फोन पर उनकी बेटी को इस्लाम कबूलवाने की बात भी कही है।

कानपुर में मजहबी फरेब के मामले रुकने का नाम ही नहीं ले रहे। जानकारी के मुताबिक, लव जिहाद का ये मामला कानपुर के गुजैनी इलाके का है। अफजल ने हिंदू लड़की नेहा को अपने प्यार में फँसाया और अब परिजनों को इस्लाम धर्म कबूल करवाकर निकाह करने की धमकी दे रहा है।

नेहा की माँ सन्नो देवी ने बताया कि गुरूवार शाम को नेहा अपनी सहेली के घर पर गई थी। जब वो देर रात घर नहीं आई तो घरवालों ने उसे खोजना शुरू कर दिया। सन्नो ने बताया कि देर रात एक लड़के का कॉल आया। उसने बताया कि उसका नाम रमन नहीं बल्कि अफजल अंसारी है। उसने कहा कि मेरी बेटी उसके साथ है और अब वह नेहा को इस्लाम धर्म कबूल कराकर उसे मुस्लिम बनाएगा फिर निक़ाह करेगा। अफजल की बातों ने घर वालों के होश उड़ा दिए है।

मामले की पूरी जानकारी देते हुए लड़की की माँ ने बताया, उनकी बेटी फेसबुक के जरिए अफजल से मिली थी। लड़के ने रमन नाम से अपनी आईडी बनाई थी। आरोपित ने नेहा का भरोसा जीतने के लिए पहले उसे बहन बनाया। और हर बात पर उसे बहन-बहन कह कर के संबोधित करने लगा। करीब दो साल से उनकी बेटी अफजल बने रमन से बात कर रही थी।

युवती की माँ ने यह भी बताया कि उन्होंने इस सिलसिले में अपनी बेटी से पूछताछ की थी। जिसपर उसने बताया कि वह लड़का उसकी बहुत रेस्पेक्ट करता है। रमन बने अफजल ने उसे बहन का दर्जा दिया हुआ है और राखी भी बंधवाई है। जिसका मैंने यकीन कर इस बात पर कोई एतराज नहीं किया था। नेहा ने एक बार उस लड़के से मुझसे फोन पर बात भी कराई थी।

लड़की की माँ ने आगे कहा, “अफजल ने फ़ोन पर उसे माँ कहते हुए बात की थी। उस समय मुझे क्या पता था कि भाई की आड़ में कोई दरिंदा इसके पीछे छिपा है। जिसकी नजर मेरी बेटी की जिस्म पर थी। बहन बहन कह कर उसने मेरी बेटी नेहा को अपने मोह जाल में फँसाया फिर मौका देखते ही उसे भगा ले गया।”

रिपोर्ट के अनुसार अफजल दुबई में काम करता है। और मूल रूप से वह दरभंगा बिहार का निवासी है। आरोपित का फोन आने के बाद डरे सहमे परिजनों ने जब घर की तिजोरी देखी तो पता चला 25 हजार रुपए, तीन लाख के गहने, बैंक की पासबुक, एटीएम सब गायब था। लड़की के पिता ने बताया नेहा के बैंक एकाउंट में भी करीब 1 लाख 50 हजार रुपए थे। मेरी बेटी को झाँसे में लेकर यह सब अफजल अंसारी ने ही कराया है।

नेहा के परिजनों ने पुलिस थाने में एफआईआर कर दी है। इंस्पेक्टर अनुराग मिश्र ने बताया कि लव जिहाद और धर्म परिवर्तन के बारे में तो सबूतों और जाँच पड़ताल के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा। मामले कि छानबीन शुरू कर दी गई है। वहीं परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल हो गया है। वे सही सलामत अपनी बेटी की वापसी की माँग कर रहे हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वीर सावरकर के नाम पर फिर बिलबिलाए कॉन्ग्रेसी; कभी इसी कारण से पं हृदयनाथ को करवाया था AIR से बाहर

पंडित हृदयनाथ अपनी बहनों के संग, वीर सावरकर द्वारा लिखित कविता को संगीतबद्ध कर रहे थे, लेकिन कॉन्ग्रेस पार्टी को ये अच्छा नहीं लगा और उन्हें AIR से निकलवा दिया गया।

‘किताब खरीद घोटाला, 1 दिन में 36 संदिग्ध नियुक्तियाँ’: MGCUB कुलपति की रेस में नया नाम, शिक्षा मंत्रालय तक पहुँची शिकायत

MGCUB कुलपति की रेस में शामिल प्रोफेसर शील सिंधु पांडे विक्रम विश्वविद्यालय में कुलपति थे। वहाँ पर वो किताब खरीद घोटाले के आरोपित रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,635FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe