Friday, August 19, 2022
Homeदेश-समाजकेरल सरकार की लॉटरी, विजेता बन गया गया मोहम्मद बावा: अब मिलेंगे ₹1 करोड़...

केरल सरकार की लॉटरी, विजेता बन गया गया मोहम्मद बावा: अब मिलेंगे ₹1 करोड़ रुपए

लॉटरी जितने वाले 5 बच्चों के पिता बावा के अनुसार, उन्होंने रविवार की शाम 5 बजे ही उनके घर के खरीददार एडवांस रुपए देने आने वाले थे, लेकिन उससे पहले ही उनकी किस्मत खुल गई। उन्होंने कहा कि वह लॉटरी टिकट के नियमित खरीददार नहीं थे, लेकिन कर्ज की वजह से उन्होंने इसे लिया था।

केरल (Kerala) में कर्ज में डूबकर अपना घर बेचने के लिए मजबूर एक व्यक्ति की किस्मत उस वक्त चमक उठी जब उसे एक करोड़ रुपए की लॉटरी लग गई। अपने घर को औने-पौने दामों में बेचने जा रहे 50 वर्षीय मोहम्मद बावा की मन माँगी मुराद पूरी हो गई। टैक्स कटौती के बाद उन्हें 63 लाख रुपए मिलेंगे।

केरल के उत्तरी जिले के मंजेश्वर के रहने वाले बावा पर लगभग 50 लाख रुपए का खर्च था। मोहम्मद बावा ने यह कर्ज अपनी दो बेटियों की शादी करने और व्यापार में हुए घाटे से उबरने के लिए रिश्तेदारों और बैंकों से ले रखा था।

रिश्तेदारों और बैंकों के बढ़ते दबाव को देखते हुए मोहम्मद बावा ने अपना घर बेचकर कर्ज चुकाने की सोची। इसके लिए उन्होंने ग्राहक से बात भी कर ली, लेकिन घर बेचने के दो घंटे पहले ही उन्हें एक करोड़ रुपए की लॉटरी लगने की सूचना मिली। इसके बाद उन्होंने अपना घर बेचने का फैसला टाल दिया।  

मोहम्मद बावा ने इस उम्मीद में लॉटरी का एक टिकट खरीदा था, एक दिन उनकी किस्मत बदल जाएगी और हुआ भी ऐसा ही। बावा ने रविवार (24 जुलाई 2022) को केरल की पी. विजयन सरकार की लॉटरी के टिकट लिए थे। लॉटरी का परिणाम रविवार दोपहर 3:30 बजे घोषित हुआ और इसमें वह विजेता साबित निकले।

लॉटरी जितने वाले 5 बच्चों के पिता बावा के अनुसार, उन्होंने रविवार की शाम 5 बजे ही उनके घर के खरीददार एडवांस रुपए देने आने वाले थे, लेकिन उससे पहले ही उनकी किस्मत खुल गई। उन्होंने कहा कि वह लॉटरी टिकट के नियमित खरीददार नहीं थे, लेकिन कर्ज की वजह से उन्होंने इसे लिया था।

आगे उन्होंने कहा, “मैं उस लॉटरी एजेंट को व्यक्तिगत रूप से जानता हूँ, इसलिए जब वह मेरे घर से गुजरता था, तो वह मुझे कुछ टिकट देता था। यह विशेष टिकट मैंने बेहद तनाव में खरीदा था क्योंकि मुझे नहीं पता था कि मुझे क्या करना है।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘10000 महिलाओं के साथ सोया हूँ’: विरोध करने पर रेप पीड़िता से पूर्व फुटबॉलर ने कहा था, आरोप – नंगा कर के 20 मिनट...

बेंजामिन मेंडी पर रेप का आरोप लगाने वाली एक पीड़िता ने बताया कि पूर्व फुटबॉलर ने उससे कहा था कि वह 10,000 महिलाओं के साथ सो चुका है।

‘कार खरीदी, गर्लफ्रेंड्स व सब्जी वालों का धन्यवाद’: व्यंग्य को सच समझ रवीश कुमार ने दी बधाई, जवाब मिला – मजाक है, वामपंथ की...

मधुर सिंह ने कार खरीदने वाली अपनी पोस्ट में अपनी एक्स व वर्तमान गर्लफ्रेंड्स एवं सब्जी वालों को धन्यवाद दिया। रवीश कुमार व्यंग्य को समझ नहीं पाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
215,277FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe