Tuesday, April 23, 2024
Homeदेश-समाज₹16 लाख, आवास, नौकरी और आरोपितों को फाँसी: प्रशासन के लिखित वादे के बाद...

₹16 लाख, आवास, नौकरी और आरोपितों को फाँसी: प्रशासन के लिखित वादे के बाद लखीमपुर खीरी के रेप के बाद हत्या की गई बहनों का हुआ अंतिम संस्कार

SP ने आगे कहा कि दोस्ती के बाद तीनों लड़के गाँव में आकर लड़कियों को बहला-फुसला कर खेत में ले गए। बताया गया कि खेत में लड़कियों के विरोध के बाद भी उनसे शारीरिक संबंध बनाए गए तो वहाँ लड़कियाँ आरोपितों से शादी की जिद करने लगीं। इससे नाराज होकर आरोपितों ने उनके दुपट्टे से गला दबा कर हत्या कर दी।

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी स्थित निघासन गाँव में दो सगी नाबालिग बहनों की रेप के बाद हत्या की घटना को लेकर बवाल मचा हुआ है। पीड़ित ने दोनों का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया था, लेकिन प्रशासन के समझाने-बुझाने के बाद शवों का 24 घंटे बाद गुरुवार (15 सितंबर 2022) को अंतिम संस्कार कर दिया गया।

पीड़ित परिवार प्रशासन द्वारा 5 वादे करने के बाद अंतिम संस्कार के लिए राजी हुआ। प्रशासन ने वादा किया कि आरोपितों के खिलाफ SC-ST ऐक्ट के तहत दोनों मृतक लड़कियों को 8-8 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा। कुल 16 लाख रुपए की पहली किश्त शुक्रवार (16 सितंबर 2022) को परिजनों के खाते में भेज दिया जाएगा।

अपने दूसरे वादे में प्रशासन ने कहा कि रानी लक्ष्मीबाई योजना के तहत मान्य राशि अभियोग के विवेचना की समाप्ति के तुरंत बाद दे दिया जाएगा। इसके अलावा, प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पीड़ित परिवार को घर बनाने की कार्यवाही ब्लॉक के माध्यम से जल्दी ही शुरू की जाएगी।

चौथे वादे में प्रशासन ने कहा कि नौकरी एवं अन्य आर्थिक सहायता के लिए शासन को जल्दी ही आवेदन भेजा जाएगा। वहीं, प्रशासन ने कहा कि आरोपितों को फाँसी की सजा दिलाने के लिए मामले की सुनवाई फास्टट्रैक कोर्ट में सुनिश्चित की जाएगी।

प्रशासन द्वारा पीड़ित परिवार से किए गए वादे (साभार: आजतक)

इससे पहले मृतक बहनों के परिजनों ने अंतिम संस्कार करने से इनकार करते हुए अपनी माँगें रखी थीं। परिजनों ने अंतिम संस्कार करने के लिए तीन शर्तें रखी थीं। परिजनों का कहना है कि परिवार को एक करोड़ रुपए की मुआवजा राशि सरकार की दी जाए। मृतक के परिजनों के बेटे को योग्यता अनुसार सरकारी नौकरी दी जाए और सभी आरोपितों को फाँसी की सजा सुनाई जाए।

बता दें कि 2 दलित बहनों की रेप के बाद हत्या के आरोप में पुलिस ने अब तक कुल 6 आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इनके नाम जुनैद, सोहैल, आरिफ, हाफ़िज़, छोटे और करीमुद्दीन हैं। पुलिस से हुई मुठभेड़ में जुनैद को गोली लगी है। आरोपितों पर पीड़िता को बहला-फुसला कर खेत में ले जाने और वहाँ रेप के बाद हत्या कर देने का आरोप है। घटना बुधवार (14 सितम्बर 2022) की है।

घटना की जानकारी देते हुए खीरी के पुलिस अधीक्षक IPS संजीव सुमन ने बताया कि सभी नामजद अभियुक्तों को गिरफ्तार किया जा चुका है। पुलिस के मुताबिक छोटू नाम के व्यक्ति ने सबसे पहले आरोपितों को लड़की से परिचित करवाया था और सभी में दोस्ती हुई थी।

SP ने आगे कहा कि दोस्ती के बाद तीनों लड़के गाँव में आकर लड़कियों को बहला-फुसला कर खेत में ले गए। बताया गया कि खेत में लड़कियों के विरोध के बाद भी उनसे शारीरिक संबंध बनाए गए तो वहाँ लड़कियाँ आरोपितों से शादी की जिद करने लगीं।

पुलिस ने आगे बताया कि शादी की जिद से नाराज हो कर आरोपितों ने लड़कियों के ही दुपट्टे से गला दबा कर उनकी हत्या कर डाली। बाद में सभी आरोपितों ने सबूत मिटाने के लिए दोनों लड़कियों की लाशों को पेड़ पर टाँग दिया। आरोपी सोहेल और जुनैद ने दोनों लड़कियों के साथ रेप किया था। छोटी बहन की सोहेल से दोस्ती थी। बड़ी लड़की की दोस्ती जुनैद से थी। दोनों बहनों की दोस्ती हाल ही में हुई थी। छोटू नाम के आरोपित ने

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कॉन्ग्रेस सरकार में हनुमान चालीसा अपराध, दुश्मन काट कर ले जाते थे हमारे जवानों के सिर’: राजस्थान के टोंक-सवाई माधोपुर में बोले PM मोदी...

पीएम मोदी ने कहा कि आरक्षण का जो हक बाबासाहेब ने दलित, पिछड़ों और जनजातीय समाज को दिया, कॉन्ग्रेस और I.N.D.I. अलायंस वाले उसे मजहब के आधार पर मुस्लिमों को देना चाहते थे।

‘गोवा पर जबरन थोपा गया भारत का संविधान’ : कॉन्ग्रेस प्रत्याशी फर्नांडिस की वीडियो वायरल, BJP ने कहा- भारत तोड़ने की हो रही कोशिश

कॉन्ग्रेस के उम्मीदवार कैप्टन विरिआटो फर्नांडिस ने विवादित बयान देते हुए कहा है कि गोवा वासियों पर भारत का संविधान जबरदस्ती लादा गया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe