Wednesday, July 17, 2024
Homeदेश-समाजपंचतत्व में विलीन हुईं 'सुर साम्राज्ञी': PM मोदी ने पाँव छू दी श्रद्धांजलि, गूँजा...

पंचतत्व में विलीन हुईं ‘सुर साम्राज्ञी’: PM मोदी ने पाँव छू दी श्रद्धांजलि, गूँजा ‘ऐ मेरे वतन के लोगों’ और ‘वन्दे मातरम्’

इस अवसर पर सचिन तेंदुलकर, शाहरुख खान, जावेद अख्तर, अमिताभ बच्चन, श्रद्धा कपूर, रणबीर कपूर और आमिर खान समेत तमाम सितारे भी मौजूद रहे।

‘भारत रत्न’ स्वर साम्राज्ञी लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) पंचतत्व में विलीन हो गई हैं। उन्हें उनके छोटे भाई हृदयनाथ और भतीजे आदित्य ने शिवाजी पार्क में मुखाग्नि दी। लेकिन उससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) समेत कई राजनीतिक और फिल्मी हस्तियों ने उनके अंतिम दर्शन किए। उनका दर्शन करने के लिए हजारों लोग सड़कों पर उतर आए।

मुंबई के शिवाजी पार्क में उन्हें 7:16 बजे मुखाग्नि दी गई। इस दौरान लता मंगेशकर की बहनें उषा, आशा और मीना भी मौजूद रहीं। उससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लता दीदी की पार्थिव देह को पुष्पचक्र अर्पित कर उनके पाँव छूकर अंतिम प्रणाम किया। इसके बाद तीनों सेनाओं ने भी उन्हें अंतिम प्रणाम किया। इस अवसर पर महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी, सीएम उद्धव ठाकरे, एनसीपी चीफ शरद पवार, पूर्व सीएण देवेंद्र फडणवीस समेत कई अन्य हस्तियाँ लता दीदी के अंत्येष्टि संस्कार के मौके पर मौजूद रहीं।

इस अवसर पर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar), शाहरुख खान (Sharukh Khan), जावेद अख्तर (Javed Akhtar), अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachhan), श्रद्धा कपूर (shraddha Kapoor), रणबीर कपूर (Ranbir Kapoor), आमिर खान (Aamir Khan) समेत तमाम सितारे भी मौजूद रहे। बता दें कि स्वर साम्राज्ञी के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी गोवा की वर्चुअल रैली की थी। गौरतलब है कि लता मंगेशकर की अंतिम यात्रा के दौरान वहाँ का माहौल पूरी तरह से देशभक्ति भरा हो गया था। हर किसी जुबान पर ‘वंदे मातरम’ और ‘ऐ मेरे वतन के लोगों’ गाना था। लोगों की आँखें नम थीं।

गौरतलब है कि लता दीदी (92) का देहांत 6 फरवरी 2022 को हुआ। 8 जनवरी 2022 को कोरोना संक्रमित पाए जाने पर उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। बाद में उन्हें न्यूमोनिया हो गया था, जिससे उनकी हालत बिगड़ने लगी। इसके बाद उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था। उनकी हालत में सुधार के बाद वेंटिलेटर सपोर्ट भी हट गया था, लेकिन 5 फरवरी को उनकी स्थिति बिगड़ने लगी और उन्हें फिर से वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया।

लता दीदी के इस तरह से छोड़ के जाने के बाद उनके सम्मान में 2 दिन का राष्ट्रीय शोक भी घोषित किया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

अब सरकार की हो गई माफिया अतीक अहमद की ₹50 करोड़ की प्रॉपर्टी, किसानों-गरीबों को धमका कर किया था अवैध कब्ज़ा

उत्तर प्रदेश में ऑपरेशन माफिया के तहत चल रही कार्रवाई में कमिश्नरेट पुलिस प्रयागराज और राज्य सरकार ने बड़ी सफलता हासिल की है। माफिया अतीक अहमद की करीब 50 करोड़ रुपये की बेनामी संपत्ति अब राज्य सरकार की हो गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -