Thursday, September 23, 2021
Homeदेश-समाजथरूर पर लिबरल गिरोह गरम, कहा- RSS के सुर में बोल रहे: तालिबान में...

थरूर पर लिबरल गिरोह गरम, कहा- RSS के सुर में बोल रहे: तालिबान में केरल के युवकों के शामिल होने की जताई थी आशंका

कई लिबरल इसलिए नाराज थे क्योंकि थरूर द्वारा केरल के युवाओं की कट्टरता पर ध्यान आकृष्ट कराना, दक्षिणपंथी इकोसिस्टम की सहायता करेगा।

कॉन्ग्रेस नेता शशि थरूर ने आशंका जताई थी कि केरल से ISIS में शामिल होने गए कट्टरपंथी तालिबान में शामिल हो चुके हैं। थरूर द्वारा केरल के कट्टरपंथी युवाओं को लेकर कही गई इस बात से ‘लिबरल’ समुदाय भड़क उठा।

थरूर के बयान से द क्विंट के पत्रकार आदित्य मेनन भी नाखुश दिखाई दिए। द क्विंट पहले भी इस्लामी कट्टरपंथियों के अपराधों को छुपाने के लिए लेख प्रकाशित करता रहा है और उन्हें ‘बेटा’, ‘दोस्त’ या पति कहते हुए उनका महिमामंडन करता रहा है। मेनन पूर्व में शरजील इमाम जैसे कट्टरपंथी का समर्थन भी कर चुके हैं जिसने भारत के पूर्वोत्तर हिस्से को मुख्य भूमि से अलग करने की बात कही थी। मेनन के अलावा दूसरे अन्य मुस्लिमों ने भी थरूर को आड़े हाथों लिया और उन पर RSS के सुर में बोलने का आरोप लगाया।

कई लिबरल इसलिए नाराज थे क्योंकि थरूर द्वारा केरल के युवाओं की कट्टरता पर ध्यान आकृष्ट कराना, दक्षिणपंथी इकोसिस्टम की सहायता करेगा। इसका मतलब यही हुआ कि दक्षिणपंथी इकोसिस्टम की सहायता, केरल के युवाओं द्वारा ISIS में शामिल होने से कहीं ज्यादा बड़ा खतरा है।

इस मुद्दे का समाधान ढूँढने से ज्यादा लिबरल इस बात को लेकर चिंतित दिखाई दिए कि थरूर के बयान के बाद एक ‘हेट कैंपेन’ शुरू हो जाएगा।

थरूर ने एक और ट्वीट किया जिसमें केरल की निमिषा फातिमा के बारे में जानकारी दी गई थी जो ISIS में शामिल होने के लिए भारत छोड़कर चली गई थी और अफगानिस्तान में कैद में थी। संभावना है कि फातिमा उन 5000 कैदियों में से एक है जिन्हें तालिबान द्वारा रिहा किया गया है। थरूर के इस ट्वीट के बाद भी लिबरल भड़क उठे और उनसे पूछा कि उन्हें कैसे पता कि तालिबान में केरल के लोग भी हैं।

फिलिस्तीन का झंडा अपनी प्रोफाइल में लगाए हुए कुछ ट्विटर यूजर ने शशि थरूर पर आरोप लगाया कि उन्होंने घृणा फैलाने वालों के लिए अपने राज्य को धोखा दिया है।

ज्ञात हो कि तिरुवनंतपुरम से सांसद शशि थरूर ने मंगलवार (17 अगस्त) को ट्वीट कर अफगानिस्तान में आतंक मचाने वाले तालिबानियों में दो भारतीयों के शामिल होने की आशंका जताई थी। थरूर ने दावा किया था कि उन्होंने वीडियो में दो भावुक तालिबानियों को मलयालम में बातचीत करते हुए सुना है। थरूर ने लिखा, “ऐसा प्रतीत होता है कि तालिबान ने केरल के कम से कम दो मलयाली लोगों को भर्ती किया है। इनमें से एक को 8 सेकेंड के आसपास ‘संसारिककिट्टे’ (मलयाली शब्द) बोलते हुए सुना जा सकता है और दूसरा तालिबानी इसे समझता है।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

100 मलयाली ISIS में हुए शामिल- 94 मुस्लिम, 5 कन्वर्टेड: ‘नारकोटिक्स जिहाद’ पर घिरे केरल के CM ने बताया

केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने बुधवार को खुलासा किया कि 2019 तक केरल से ISIS में शामिल होने वाले 100 मलयालियों में से लगभग 94 मुस्लिम थे।

इस्लामी कट्टरपंथ से डरा मेनस्ट्रीम मीडिया: जिस तस्वीर पर NDTV को पड़ी गाली, वह HT ने किस ‘दहशत’ में हटाई

इस्लामी कट्टरपंथ से डरा हुआ मेन स्ट्रीम मीडिया! ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि हिंदुस्तान टाइम्स ने ऐसा एक बार फिर खुद को साबित किया। जब कोरोना से सम्बंधित तमिलनाडु की एक खबर में वही तस्वीर लगाकर हटा बैठा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,886FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe