‘डरा हुआ मुसलमान’? 50 ऐसी घटनाओं की सूची, जो इस फेक नैरेटिव का पोल खोलती हैं

पश्चिम बंगाल से तो ऐसी घटनाओं (हेट क्राइम) की खबरें आना आम है लेकिन यह किसी राज्य विशेष तक सीमित नहीं है। बिहार, झारखंड, तमिलनाडु, दिल्ली, राजस्थान, केरल... हर जगह ऐसे अपराध होते हैं, जहाँ मुसलमान आरोपित हैं और हिंदू पीड़ित।

भारत में मुसलमानों को ‘डरा हुआ’ साबित करने की कोशिश हो रही है और कहा जा रहा है कि उनके ख़िलाफ़ हेट क्राइम बढ़ गए हैं। यहाँ हम कुछ ऐसी घटनाओं का ज़िक्र करने जा रहे हैं, जिसमें अपराधी के मुस्लिम होने की ख़बर आई लेकिन इसे लेकर कोई नैरेटिव गढ़ने की कोशिश नहीं की गई। ऐसी 50 घटनाओं की सूची पूरे विवरण के साथ नीचे इसलिए दिया गया है ताकि इस प्रोपेगेंडा को पनपने और फैलने से पहले ही कुचला जा सके।

नीचे जो 50 घटनाएँ सूचीबद्ध की गईं हैं और उनके आगे तो तारीख या महीना लिखा गया है, वो उस खबर के घटित होने से संबंधित हैं। हालाँकि कुछ खबरों के आगे की तारीख उस घटना की रिपोर्टिंग से संबंधित है।

1. कालीचक दंगे, पश्चिम बंगाल (3 जनवरी 2016)

‘अंजुमन अल्हे सुन्नतउल जमात’ संगठन के बैनर तले 30,000 से लेकर 2.5 लाख मुसलमानों ने 3 जनवरी 2016 को सड़क पर निकल कर आतंक फैलाया। थाने में तोड़फोड़ की गई, सार्वजनिक संपत्ति को नुक़सान पहुँचाया गया और कई गाड़ियों को आग लगा दिया गया। इसमें 30 लोग घायल हुए।

2. धूलागढ़ दंगा, पश्चिम बंगाल (12 दिसंबर 2016)

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

मुस्लिमों ने ईद-ए-मिलाद का जुलूस एक दिन पहले निकाला। ईद 13 दिसंबर को था लेकिन जलूस 12 दिसंबर 2016 को निकाला गया। उस दिन हिन्दू मार्गशीर्ष पूर्णिमा मना रहे थे। जब हिन्दुओं ने ज़ोर से बज रहे लाउडस्पीकर पर आपत्ति जताई तो उनके घरों को जला डाला गया। ‘पाकिस्तान ज़िंदाबाद’ के नारे भी लगे।

3. लव जिहाद: रमा कुमारी ओझा (जनवरी 2018)

एक हिन्दू महिला ने तनवीर अख़्तर ख़ान पर शादी के बाद जबरन धर्म परिवर्तन कराने की कोशिश, प्रताड़ना और धोखाधड़ी के आरोप लगाए। तनवीर पर आरोप लगा कि उसने अपनी हिन्दू पत्नी को धोखे से बीफ खिला दिया और कहा कि अब वो हिन्दू नहीं रही। यह घटना जनवरी 2018 की है।

4. अंकित सक्सेना की हत्या (फरवरी 2018)

फरवरी 2018 में अंकित सक्सेना को उसकी प्रेमिका शहज़ादी के परिवार वालों ने सिर्फ़ इसीलिए मार डाला क्योंकि वो दोनों के रिश्ते से नाराज़ थे। शहज़ादी की माँ ने अपनी स्कूटी से धक्का देकर अंकित को गिराया और फिर शहज़ादी के पिता ने चाक़ू से उनके गले को रेत डाला।

5. दलितों की शवयात्रा से मुस्लिमों को दिक्कत (6 मई 2018)

तमिलनाडु स्थित थेनी ज़िले में एक दलित महिला की मृत्यु के बाद उनकी शवयात्रा से मुस्लिमों को दिक्कत हो गई। इसके बाद हिंसा भड़क गई। मुस्लिमों का कहना था कि दलितों ने उनकी बस्ती से शवयात्रा क्यों निकाली। दलित हितों के कथित रक्षक इस घटना की तरफ़ आँख मूँदे रहे।

6. ईद में पाकिस्तान के समर्थन वाले नारे (जून 2018)

बिहार के रोहतास में 8 ऐसे युवकों को गिरफ़्तार किया गया, जिन्होंने ईद के दौरान पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाजी की थी। उन्होंने लाउडस्पीकर पर भड़काऊ चीजें बजाईं, जिसमें पाकिस्तान विरोधियों को मार डालने तक की बात कही गई थी। यह जून 2018 की घटना है।

7. मुस्लिम प्रेमिका के कारण दलित को मिली मौत (21 जुलाई 2018)

बाड़मेर में एक 22 वर्षीय दलित युवक का हाथ-पाँव बाँध कर इतना पीटा गया कि वह मर गया। उसकी प्रेमिका मुस्लिम समुदाय से थी, इसी नाराज़गी के कारण मुस्लिम समुदाय के लोगों ने इस घटना को अंजाम दिया। मृतक भील जाति से था और एक मुस्लिम परिवार के घर में काम करता था।

8. मुस्लिमों द्वारा दलित महिला से छेड़छाड़ (मई 2018)

मई 2018 में यूपी के सिद्धार्थनगर में एक शादी समारोह में भाग ले रही दलित महिला से ‘समुदाय विशेष’ के लोगों ने छेड़छाड़ की और दुर्व्यवहार किया। जब महिला ने आपत्ति जताई तो उन पर हमला कर दिया गया और उनके समर्थन में आने वाले लोगों की भी पिटाई की गई।

9. दलितों को जातिसूचक शब्द से पुकारा, फिर हिंसा (2 जुलाई 2017)

दलित समुदाय से आने वाले सुनील पासवान और मुस्लिम समुदाय के कुछ लोगों की लड़ाई हो गई। यह अंडे ख़रीदने को लेकर हुई मामूली लड़ाई थी लेकिन सुनील को जातिसूचक अपमानजनक शब्दों से सम्बोधित किया गया। इसके बाद दोनों तरफ़ के लोगों के बीच लड़ाई हुई, जिससे हिंसा भड़क गई।

10. सांप्रदायिक द्वेष का पाठ पढ़ाने वाला मौलवी गिरफ़्तार (26 फरवरी 2018)

‘केरल का ज़ाकिर नाइक’ कहा जाने वाला एमएम अकबर जान क़तर जा रहा था, उसे गिरफ़्तार कर लिया गया। कोच्ची स्थित पीस इंटरनेशनल स्कूल का डायरेक्टर अकबर अपने पाठ्य पुस्तकों के माध्यम से बच्चों को साम्प्रदायिक द्वेष की शिक्षा दे रहा था। मात्र दूसरी कक्षा की पुस्तकों में ‘इस्लाम की जीत क्यों होती है?’ जैसे प्रश्नों को जगह दी गई थी।

11. मुस्लिम ने तोड़ी हनुमान जी की मूर्ति, दावा ‘अल्लाह’ का फ़रमान है (जनवरी 2019)

जनवरी 2019, प्रतापगढ़, उत्तर प्रदेश में एक ‘दिमागी रूप से विक्षिप्त’ मुस्लिम युवक ने हनुमान मंदिर का ताला तोड़कर हनुमान जी की मूर्ति को मंदिर से बाहर फेंककर विखंडित कर दिया। इसके बाद वहीं नमाज अदा कर, ‘अल्लाह हु अक़बर’ जैसे नारे लगाए। बाद में लोगों ने उसे ऐसा करते हुए देखा तो कथित तौर पर धुनाई कर दी उसकी, हालाँकि, बाद में पुलिस ने उसे गिरफ्तार भी कर लिया।

12. दलित-मुस्लिमों के बीच झड़प, आगरा (फरवरी 2019)

फरवरी 2019 में, एक दलित लड़का RO प्लांट से एक बाल्टी पानी लेने निकलता है। लौटते समय, उसकी शाहरुख़ और सलमान से झड़प होती है। इसके बाद सैकड़ो मुस्लिम एकजुट हो दलितों के घरों पर हमला कर देते है। जिससे दलितों और मुस्लिमों के बीच सांप्रदायिक हिंसा भड़क उठी, जिसमें पत्थरबाजी के साथ, लगभग 6 राउंड फायरिंग भी की गई, जिसमें कई लोग घायल हुए।

13. तमिलनाडु में हिन्दुओं का मुस्लिमों द्वारा धर्मान्तरण रोकने वाला कार्यकर्त्ता मार डाला गया (फरवरी 2019)

तमिलनाडु के तंजावुर के कुम्भकोणम में PMK (Pattali Makkal Katchi) नेता 42 वर्षीय रामालिंगम की हत्या कर दी गई। इस बर्बरतापूर्ण हत्या में रामलिंगम के रात में घर लौटते वक़्त कुछ अज्ञात लोगों ने उसके हाथ काट दिए जिससे अत्यधिक रक्स्राव से रामालिंगम की मृत्यु हो गई। घटना की वजह थी धर्मान्तरण का विरोध।

14. उत्तर प्रदेश में, होली पर सांप्रदायिक टकराव (मार्च 2019)

पीलीभीत, उत्तर प्रदेश में जयप्रकाश नामक व्यक्ति द्वारा होली खेलते समय कुछ मुस्लिमों पर रंग पड़ जाने की वजह से सांप्रदायिक तनाव भड़क गया। इस मामले में साबिर अली और शाकिर अली को सांप्रदायिक तनाव बढ़ाने के लिए गिरफ्तार किया गया। साथ ही, होली पर ही, जहानाबाद पुलिस स्टेशन के अंतर्गत आने वाले, कुकरी खेरा गाँव में एक व्यक्ति की मौत और कई घायल हुए थे।

15. यौन शोषण के खिलाफ विरोध कर रहे दलितों पर रहमत अली व गैंग का हमला (अप्रैल 2019)

स्थान- देवरिया, कुछ दलित समुदाय के लोग, अपने समुदाय की एक लड़की का रहमत अली द्वारा किए गए यौन शोषण के प्रयास का विरोध कर रहे थे। दलित लड़की के परिवार के विरोध के कारण रहमत अपने समुदाय के कई लोगों को लेकर दलित बस्ती में गया। इस उन्मादी भीड़ ने लड़की के परिवार की अन्य महिलाओं, बच्चों को बुरी तरह तो पीटा ही, इसके साथ, मुस्लिमों की इस भीड़ ने अम्बेदकर की मूर्ति भी तोड़ डाली।

16. उत्तर प्रदेश में, हिन्दू व्यक्ति से शादी करने के कारण मुस्लिम युवक ने अपनी बहन को मार डाला (मई 2019)

मई 2019, करुआ शाहबगंज गाँव, जिला बरेली, उत्तर प्रदेश में नरगिस से मोहिनी बनी 19 साल की लड़की ने हिन्दू व्यक्ति राम किशोर से प्रेम विवाह किया था। इसमें नरगिस के परिवार वालों ने नरगिस को तो मार ही डाला, साथ ही किशोर को भी मरा जान छोड़ गए जिसे बाद हॉस्पिटल में भर्ती करवाना पड़ा।

17. कर्नाटक, गर्भवती मुस्लिम महिला को हिन्दू युवक से विवाह करने के कारण ज़िंदा जला दिया गया (जून 2017)

स्थान- गुंडाकनाला गाँव, जिला बीजापुर, कर्नाटक में 21 वर्षीय गर्भवती मुस्लिम युवती बानू बेगम को अपने मज़हब से बाहर एक हिन्दू युवक से विवाह करने के कारण उसके परिवार ने ज़िंदा जला दिया।

18. हिन्दू लड़का- मुस्लिम लड़की, प्रेम प्रसंग में, लड़की के परिवार ने मार डाला (नवम्बर 27, 2017)

स्थान- पश्चिम चम्पारण, बिहार, मुस्लिम युवती के परिवार के चार लोगों ने मिलकर दोनों को मार डाला। मामले में पुलिस ने लड़की के भाई अलाउद्दीन अंसारी के साथ उसके दोनों अंकल गुलसनोवर और अंसारी मिंया को गिरफ्तार किया।

19. भारी हथियारों के साथ मुस्लिमों की भीड़ ने हिन्दू व्यक्ति पर हमला किया (जुलाई 2018)

स्थान- संजेली गाँव, गुजरात का दाहोद जिला, लगभग 200 मुस्लिमों की उन्मादी भीड़ ने हिन्दू लड़के के मकान पर हमला कर दिया। इस भीड़ ने जमकर लूटपाट की, लड़के के पड़ोसी की बाइक जला दी, साथ ही, आगजनी, तोड़फोड़, पत्थरबाजी के साथ जमकर उत्पात मचाया।

20. मुस्लिम भीड़ ने, मुस्लिम युवती से बात करने के कारण हिन्दू लड़के पर हमला कर दिया (जुलाई 2018)

स्थान- फरंगीपेट, बंटवाल कर्नाटक, मुस्लिम भीड़ ने सुरेश नामक हिन्दू लड़के पर इसलिए हमला कर दिया कि उसने महज एक मुस्लिम युवती से बात कर ली थी।

21. हिन्दू द्वारा अपने मुस्लिम मित्र को बचाने का प्रयास करने पर इलाके में साम्प्रदायिक तनाव (जून 2018)

उत्तर प्रदेश के खतौली के गाँव खानजहाँपुर में जून 2018 में एक दिन कारोबार को लेकर अरशद और नाजिम के बीच मारपीट हो गई। नाजिम के दोस्त विकास ने मारपीट के दौरान नाजिम को छुड़ानेकी कोशिश की। इसके बाद जब एक दिन विकास और उसका भाई प्रवीण अपने घर में बैठे हुए थे, अरशद अपने साथ बिलाल, मुन्ना, उस्मान, जावेद आदि दर्जनों लोगों को लेकर वहाँ पहुँचा और दोनों को पीटने लगा। यही नहीं, मुस्लिम समुदाय के लोगों ने विकास के परिवार की महिलाओं के साथ भी अभद्रता की।

22. अपनी बेटी के यौन उत्पीड़न का विरोध करने पर मुस्लिम युवक ने जान से मारा (
अक्टूबर 2018)

उत्तर प्रदेश के गोंडा में 3 मुस्लिम युवकों द्वारा एक 50 साल के आदमी की पिटाई की गई। उन्होंने जिला अस्पताल में दम तोड़ दिया। शाह मुहम्मद, दोस्त मुहम्मद और यार मुहम्मद ने उनकी बच्ची से कटरा बाजार में शौच जाते समय छेड़छाड़ की। पिता ने जब विरोध किया तो इन युवकों ने उनकी जान ले ली।

23. मुस्लिम भीड़ द्वारा आरएसएस कार्यकर्ता की शवयात्रा पर पथराव (जुलाई 2017)

जानलेवा हमले में घायल होने के बाद एक निजी अस्पताल में दम तोड़ने वाले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के 28 वर्षीय कार्यकर्ता शरत मडिवाल की शवयात्रा पर पथराव किया गया था। इस पत्थरबाजी के लिए मेंगलूरु के भूतपूर्व मेयर के. अशरफ़, सुहैल खड़क, अशरफ किन्नार कुदरौली, सीएम मुतप्पा, मुहम्मद हनीफ़, मीद कुदरौली और नौशाद बंदारू को गिरफ्तार किया गया और उन पर दंगे करने और संपत्ति को नुकसान पहुँचाने के भी आरोप दर्ज किए गए थे।

24. ‘उनके इलाके’ से गुजरने के कारण काँवड़ियों पर मुस्लिमों ने किया पथराव (जुलाई 2017)

उत्तर प्रदेश में बरेली जिले के अलीगंज थाना के खैरम गाँव के मुसलमानों ने काँवड़ यात्रा पर इस वजह से पत्थरबाजी की क्योंकि वो काँवड़िए ‘उनके इलाके’ से गुजर रहे थे। इस रास्ते को लेकर पत्थरबाजी करने वाले मुसलमानों का कहना था कि यह रास्ता उनका है और इससे किसी को गुजरने नहीं दिया जा सकता है।

25. हिंदू लड़के से प्यार करने पर लड़की को पेड़ से बाँध कर पीटा (सितंबर 2018)

बिहार के नवादा जिले के जोगिया मारण गाँव के मोहम्मद फरीद अंसारी की 18 वर्षीय बेटी को एक हिंदू लड़के से प्यार हो गया। परिवारवालों ने लड़की की जमकर पिटाई की और उसे पाँच घंटों तक पेड़ से बाँध कर रखा। इसके बाद पीड़िता अपने प्रेमी रुपेश कुमार के साथ भाग गई और उसके साथ रहने लगी।

26. मुस्लिम महिला को एक हिन्दू से सम्बन्ध रखने के कारण उसके भाई और पिता ने मार दिया (अगस्त 2018)

पश्चिम बंगाल के पूर्व बर्दवान जिले में एक मुस्लिम महिला को उसके पिता और भाई द्वारा एक हिन्दू युवक से रिश्ता रखने के कारण मार दिया गया था। इन दोनों ने पकड़े जाने पर बताया था कि उन्होंने महिला को बिहार के जमालपुर ले जाते समय एक चलती हुई गाड़ी में रस्सी से गला घोंट कर मार दिया था और इसके बाद उसके चेहरे को पत्थर से कुचलकर किसी खेत में दफना दिया था।

27. मुस्लिम महिला पर पड़ोसी से अफेयर के शक में भाइयों ने डाला एसिड, नहर में फेंका (मई 2019)

बुलंदशहर के गुलावठी स्थित रामनगर की रहने वाली सलमा के दो भाई, इरफ़ान और रिजवान ने अपनी बहन सलमा को पड़ोसी से अफेयर होने के संदेह में कार से ले जाकर पहले उसका गला दबाया, इसके बाद चेहरे पर तेजाब डाल दिया और कोट नहर में डालकर फरार हो गए थे। नहर में फेंके जाने के 12 घंटे तक युवती दर्द से तड़पती रही। तेज़ाब से हमले के कारण सलमा की स्वाँस नाली तक प्रभावित हो गई थी।

28. मुसलमानों ने मध्य प्रदेश में एक दलित की शादी में किया हमला (मई 2019)

गत माह, मध्य प्रदेश के देवस जिले में लोकल मुस्लिमों ने एक दलित की बारात पर तब हमला कर दिया जब वह एक मस्जिद के सामने से गुजर रही थी। इसमें धर्मेंद्र सिंधे नामक एक व्यक्ति की मौत हुई थी और काफी लोग घायल हो गए थे। मुस्लिमों का कहना था कि बरात मस्जिद के पास गाने बजा रही थी।

29. मुसलमानों ने किया अंत्येष्टि कर लौट रहे हिन्दुओं पर पथराव (जून, 2019)

झारखण्ड में मुसलमानों के एक गुट ने अंतिम संस्कार करने के बाद लौट रहे हिन्दुओं पर पथराव कर दिया। हमले में कई लोगों को चोटें आई हैं। शवयात्रा के दौरान शोक का बाजा बजाए जाने को लेकर हुई इस झड़प के बाद पुलिस को कैम्पिंग करनी पड़ी है।

30. नाबालिग बेटी के अपहरण का आरोप लगाने पर सफ़ायत हुसैन ने गंगाराम को पीटकर मार डाला (जून, 2019)

उत्तर प्रदेश के दिलारी में बुधवार, 19 जून को एक 54 वर्षीय व्यक्ति गंगाराम की मुस्लिम भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी, क्योंकि उसने अपनी बेटी के अपहरण की शिक़ायत पुलिस से की थी। गंगाराम ने अपनी बेटी के अपहरण का आरोप दूसरे समुदाय के पड़ोसी के बेटे पर लगाया था। हालाँकि, बाद में पता चला कि नदीम नाम के एक अन्य व्यक्ति द्वारा नाबालिग लड़की का अपहरण किया गया था।

31. मेरठ में लव जिहाद (मई 2019)

4 मई 2019 को नाबालिग लता (बदला हुआ नाम) अपने घर से लापता हो जाती है। पुलिस की खोजबीन से पता चला कि लता को अगवा करके पहले देवबंद में उसका धर्म परिवर्तन कराया गया फिर जबरन निकाह। पुलिस के डर से हैदराबाद-मुंबई-चंडीगढ़ ले जाया गया। आरोपित को उसके भाई और एक अन्य रिश्तेदार के साथ पुलिस ने अरेस्ट कर लिया।

32. पुलिस स्टेशन पर हमला (जून 2019)

इमरान पर एक पुलिस ऑफिसर की बेटी के संग लव जिहाद और अपहरण का आरोप। पुलिस उसे गिरफ्तार करती है। कानूनन तो कोर्ट फैसला सुनाती है लेकिन इमरान के परिवार वालों को यह मंजूर नहीं। इसलिए वो लोग 500 की भीड़ के साथ थाने पर हमला बोलते हैं और तुरंत रिहा करने के लिए बवाल मचाते हैं।

33. मेरठ में लव जिहाद (दिसंबर 2017)

अमर नाम के एक लड़के ने एक हिंदू लड़की से दोस्ती की। लेकिन लड़की को उसके असली नाम अमिरुद्दीन के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। दोस्ती के नाम पर ये दोनों साथ में सिनेमा देखने गए जहाँ अमिरुद्दीन का दोस्त वसीम भी था और दोनों ने सिनेमा हॉल में ही लड़की का गैंगरेप किया।

34. 2 हिन्दू बहनों को जबरन बनाया मुसलमान (अप्रैल 2019)

दो हिंदू बहनें, जिनमें एक नाबालिग। दोनों को प्रेम जाल में फँसाया गया। फिर बाप-माँ-भाई को मार डालने की धमकी दी गई, एसिड से जला डालने का डर दिखाया गया। धर्म परिवर्तित कर मुसलमान बनाया गया। कोलकाता में दोनों की शादी मुसलमान मर्दों के साथ कर दी गई। पुलिस ने नाबालिग लड़की को खोज निकाला लेकिन बड़ी बहन अब तक गायब।

35. पश्चिम बंगाल में लव जिहाद और हत्या (जुलाई 2018)

शुभलोग्ना चक्रवर्ती को सुल्तान से प्रेम था। लेकिन सुल्तान ने अपने मुसलमान होने को छिपाए रखा था। जब पता चला तो कोर्ट में होने वाली शादी कैंसल कर दिया शुभलोग्ना और उसके परिवार वालों ने। सुल्तान को गुस्सा आ गया और उसने शुभलोग्ना को गोली मार दी।

36. कोयंबटूर में लव जिहाद, लड़की ने की आत्महत्या (अप्रैल 2019)

आश्विनी गंगा ने आत्महत्या कर लिया क्योंकि जाफर नाम का एक मुसलमान दोस्त उसको धर्म परिवर्तित करने के लिए दबाव बना रहा था। आश्विनी ने जब उसके फोन या मैसेज का जवाब देना बंद कर दिया तो वो उसके घर आ गया और उसे परिवार वालों के नाम पर भी धमकाया। परिवार वालों को सुरक्षित रखने के लिए आश्विनी ने अपनी जिंदगी का अंत कर लिया।

37. मेरठ में लव जिहाद, दलित महिला से गैंग-रेप (दिसंबर 2017)

इकबाल का बेटा बिट्टू एक दलित लड़की से दोस्ती करता है और उसे मुसलमान बनने को कहता है। मना करने पर अपने दोस्तों संग उसको अगवा करता है, 7 दिनों तक उसका गैंग-रेप करता है। विडियो भी बनाता है। बहुत कोशिशों के बाद पुलिस जब उसे खोज निकालती है, तो वो एक सुनसान सड़क पर बदहवास चले जा रही थी।

38. हत्या क्योंकि… मुसलमान से शादी लेकिन धर्म-परिवर्तन से इनकार (अगस्त 2018)

संजय ने रुख्सार से शादी तो की लेकिन खुद मुसलमान बनने को तैयार नहीं हुआ। नतीजा हुआ कि उसकी लाश मिली तो जरूर लेकिन उसका गुदा-द्वार गायब था, लिंग कटा हुआ था, आँखें निकाल ली गई थीं, दाँत तोड़ दिए गए थे, जहाँ पर ओम का टैटू बना था, वहाँ की चमड़ी नोच ली गई थी। इतने के बावजूद रुख्सार की माँ खुश थी क्योंकि उसकी बेटी को मरने के बाद अब दफनाने के बजाय जलाया नहीं जाएगा।

39. उत्तर प्रदेश में साधु की हत्या (सितंबर 2018)

6 लोगों की हत्या, जिनमें 3 साधु। और यूपी में योगी आदित्यनाथ की सरकार। एटा के पूर्व कॉन्सिलर सबीर अली ने लाइम लाइट में आने और अपने विरोधियों को फँसाने का प्लान तो अच्छा बनाया था लेकिन उसका बेटा नदीम और उसके तीन दोस्त इरफान, सलमान व यासीन पहुँच गए जेल।

40. गौहत्या का विरोध करने के कारण 2 साधुओं की मंदिर के अंदर निर्मम हत्या (अगस्त 2018)

साधु लज्जा राम यादव और हरभजन को गौहत्या के विरोध की कीमत अपनी जान देकर चुकानी पड़ी। औरइया जिले के भयानक नाथ मंदिर में इन दोनों की छत-विछत लाश मिली थी, जबकि तीसरे साधु राम शरण को नाजुक हालत में अस्पताल ले जाया गया। हत्या वाली रात कुछ लोगों ने जबरन मंदिर में घुस कर इन पर अटैक किया था।

41. लव जिहाद, वड़ोदरा (जून 2019)

19 साल के तौसीफ इमरान ने 14 साल की दसवीं की छात्रा के साथ लगातार बलात्कार किया और उसकी वीडियो बना ली। साथ ही, उसने उसे कई बार मजहबी स्थानों पर ले जाकर मतपरिवर्तन कराने की भी कोशिश की। इससे पहले भी तौसीफ एक नाबालिग को छेड़ने के आरोप में पकड़ा गया था।

42. इमरान ने दिल्ली में गाय बस इसलिए काटी कि साम्प्रदायिक तनाव पैदा हो (जून 2019)

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने इमरान को हाल ही में गिरफ्तार किया और उसने स्वीकारा कि होली के दिन उसने अपने दोस्तों, परवेज, लुकमान और इन्साअल्लाहुम के साथ मिल कर हर्ष विहार इलाके में गाय काटी ताकि दो समुदायों में झगड़े हों।

43. बेगूसराय में मुसलमानों ने हिन्दू परिवार पर किया हमला, जबरन घर बेचवाया  (जून 2019)

बेगूसराय के नूरपुर इलाके में मुसलमानों की एक भीड़ ने एक महादलित समुदाय के परिवार पर न सिर्फ हमला किया बल्कि उनकी दो औरतों के साथ यौन हिंसा भी की, और एक व्यक्ति को जान से मारने की कोशिश की। मुसलमानों की भीड़ ने कहा कि ‘बजरंग दल वाले भी तुम्हारी रक्षा नहीं करेंगे’।

44. नमाज के लिए देर होने पर मुस्लिम भीड़ ने पेट्रोल पंप कर्मचारियों को पीटा और तोड़-फोड़ की  (जून 2019)

मुंबई के मलाड इलाक़े में पुलिस ने भीड़ के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की और जाहिद, जावेद, फिरोज, सिराज और अब्दुल को गिरफ्तार किया। सचदेवा पेट्रोल पंप पर दो लड़के बाइक से आए और लाइन तोड़ कर पेट्रोल लेने की जिद की। थोड़ी देर बाद वो दोनों करीब बीस लोगों की भीड़ लेकर आए, स्टाफ को पीटा और 35,000 रूपए की लूट के साथ पंप को तहस-नहस कर दिया।

45. बजरंग दल पर मुस्लिमों ने किया हमला, पुलिस पर किया अटैक और अभियुक्तों को भागने में की मदद  (जून 2019)

उत्तर प्रदेश के शामली इलाके में मोमो को लेकर हुए विवाद में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं पर मुस्लिम युवकों ने हमला किया। हिमांशु और हर्ष को साजिद, आबिद और तौफीक ने बुरी तरह से पीटा। साथ ही, जब पुलिस इन्हें पकड़ने पहुँची तो एक मजहबी भीड़ ने पुलिस पर ही हमला कर दिया और उन्हें भागने में मदद की।

46. मथुरा में मुसलमानों की भीड़ ने लस्सी विक्रेता को काफिर कहते हुए जान से मार डाला (मई2019)

बुर्काधारी महिला ने चौक बाजार इलाके में दो हिन्दू भाइयों, पंकज और भरत यादव, की लस्सी की दुकान पर एक मुसलमान भीड़ को बुलाकर उन्हें इतना पिटवाया, कि एक भाई की मौत हो गई। इस की जड़ में किसी बात पर हुई बाता-बाती भर थी।

47. मुसलमानों की एक भीड़ ने मंदिर में तोड़फोड़ की क्योंकि वहाँ लाउडस्पीकर पर भजन होता था (जून 2019)

पीलीभीत के रोहन्या गाँव में ईद के दौरान कुछ मुसलमानों ने वहाँ के मंदिर में तोड़फोड़ की। साथ ही, महबूब, मोनिस, इजरायल, आजाद, और अलानूर के साथ की भीड़ ने मंदिर की मूर्तियाँ भी फेंक दीं, लाउडस्पीकर के तार काट दिए और पुजारी को पीटा।

48. झारखंड में गौहत्या पर विरोध जताने पर पुलिस को मुस्लिम भीड़ ने पीटा (अगस्त 2018)

राँची के बड़गाई इलाके में जब तक पुलिस आती गाय काटी जा चुकी थी। पुलिस ने जब गोमांस के गैरकानूनी होने को लेकर विरोध जताया तो मुसलमानों की भीड़ ने बम फेंका। पुलिस ने बशीर अंसारी को जब गिरफ्तार किया तो गाँव की भीड़ ने पुलिस को घेर लिया, पत्थरों से मारा और पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाजी की।

49. कर्नाटक में गैरकानूनी गाय काटने वाला कसाईखाना चलाने वाले मुसलमानों ने पत्रकार पर हमला किया (अगस्त 2018)

कर्नाटक के रामनगर जिले के इस कसाईखाने में हर दिन लगभग दो सौ गोवंश काटे जाते थे। पुलिस और एनिमल एक्टिविस्ट ने जब यहाँ छापा मारा तो सर, आँत, हड्डियाँ आदि मिलीं। छापे की खबर सुन कर इलाके में मुसलमानों की भीड़ जमा हो गई और इंडिया टुडे के एक पत्रकार को पीटा। साथ ही एक्टिविस्टों पर पत्थरबाजी भी की। गाजीपीर, खासी, सईद, मुबारक, नूर, इम्तिया और तबरेज नाम के गुंडो को पुलिस ने गिरफ्तार किया।

50. लव जिहाद, बोकारो (नवम्बर 2017)

झारखंड के बोकारो जिले में एक हिन्दू महिला का बलात्कार हुआ और बाद में उसके ससुराल वालों ने उसकी हत्या कर दी जब उसने धर्म बदलने से मना कर दिया। गरना नदी से जब उसकी हाथ बँधी लाश मिली तो पुलिस ने बताया कि पोस्टमॉर्टम के अनुसार पहले उसका बलात्कार हुआ था, फिर हत्या की गई। पति आदिल अंसारी ने पुलिस को सारी बातें बताईं।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by paying for content

यू-ट्यूब से

बड़ी ख़बर

पीड़ित के मुताबिक उसके क्वालिटी बार पर सन 2013 में यह लोग लूटपाट और तोड़फोड़ किए थे। उनके मुताबिक जो उनकी जगह थी उसको पूर्व मंत्री आजम खान की पत्नी तंजीम फातिमा के नाम आवंटित कर दिया गया था।

ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

इमरान ख़ान

मोदी के ख़िलाफ़ बयानबाजी बंद करें इमरान ख़ान: मुस्लिम मुल्कों की पाकिस्तान को 2 टूक

मुस्लिम देशों ने प्रधानमंत्री इमरान खान से कहा है कि कश्मीर मुद्दे को लेकर दोनों देशों के बीच जारी तनाव को कम करने के लिए वह अपने भारतीय समकक्ष के खिलाफ अपनी भाषा में तल्खी को कम करें।
सीजेआई रंजन गोगोई

CJI रंजन गोगोई: कश्मीर, काटजू, कन्हैया…CM पिता जानते थे बेटा बनेगा मुख्य न्यायाधीश

विनम्र स्वभाव के गोगोई सख्त जज माने जाते हैं। एक बार उन्होंने अवमानना नोटिस जारी कर सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज मार्कंडेय काटजू को अदालत में तलब कर लिया था। काटजू ने सौम्या मर्डर केस में ब्लॉग लिखकर उनके फैसले पर सवाल उठाए थे।
तजिंदर बग्गा, एंड्रिया डिसूजा

‘₹500 में बिक गईं कॉन्ग्रेस नेता’: तजिंदर बग्गा ने खोली रिया (असली नाम एंड्रिया डिसूजा) की पोल

बग्गा ने रिया को व्हाट्सएप मैसेज किया और कहा कि वो उनसे एक प्रमोशनल ट्वीट करवाना चाहते हैं। रिया ने इसके लिए हामी भर दी और इसकी कीमत पूछी। बग्गा ने रिया को प्रत्येक ट्वीट के लिए 500 रुपए देने की बात कही। रिया इसके लिए भी तैयार हो गई और एक फेक ट्वीट को...
सिंध, पाकिस्तान

मियाँ मिट्ठू के नेतृत्व में भीड़ ने हिन्दू शिक्षक को पीटा, स्कूल और मंदिर में मचाई तोड़फोड़

इस हमले में कट्टरपंथी नेता मियाँ मिट्ठू का हाथ सामने आया है। उसने न सिर्फ़ मंदिर बल्कि स्कूल को भी नुक़सान पहुँचाया। मियाँ मिट्ठू के नेतृत्व में भीड़ ने पुलिस के सामने शिक्षक की पिटाई की, मंदिर में तोड़फोड़ किया और स्कूल को नुक़सान पहुँचाया।
नितिन गडकरी

भारी चालान से परेशान लोगों के लिए गडकरी ने दी राहत भरी खबर, अब जुर्माने की राशि 500-5000 के बीच

1 सितंबर 2019 से लागू हुए नए ट्रैफिक रूल के बाद से चालान के रोजाना नए रिकॉर्ड बन और टूट रहे हैं। दिल्ली से लेकर अन्य राज्यों में कई भारी-भरकम चालान काटे गए जो मीडिया में छाए रहे जिसे देखकर कुछ राज्य सरकारों ने पहले ही जुर्माने की राशि में बदलाव कर दिया था।
दिग्विजय के भाई लक्ष्मण सिंह

क़र्ज़माफ़ी संभव नहीं, राहुल गाँधी को नहीं करना चाहिए था वादा: दिग्विजय के भाई लक्ष्मण सिंह

राहुल गाँधी ने चुनाव के दौरान सरकार गठन के 10 दिनों के भीतर किसानों की क़र्ज़माफ़ी करने का ऐलान किया था। लेकिन लक्ष्मण सिंह के कहना है कि क़र्ज़माफ़ी किसी भी क़ीमत पर संभव नहीं है। राहुल गाँधी को ऐसा वादा नहीं करना चाहिए था।
हिना सिद्धू, मलाला युसुफ़ज़ई

J&K पाकिस्तान को देना चाहती हैं मलाला, पहले खुद घर लौटकर तो दिखाएँ: पूर्व No.1 शूटर हिना

2013 और 2017 विश्वकप में पहले स्थान पर रह कर गोल्ड मेडल जीत चुकीं पिस्टल शूटर हिना सिद्धू ने मलाला को याद दिलाया है कि ये वही पाकिस्तान है, जहाँ कभी उनकी जान जाते-जाते बची थी। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में लड़कियों की शिक्षा के लिए कितने मौके हैं, इसे मलाला बेहतर जानती हैं।

शेख अब्दुल्ला ने लकड़ी तस्करों के लिए बनाया कानून, फॅंस गए बेटे फारूक अब्दुल्ला

फारूक अब्दुल्ला को जिस पीएसए एक्ट तहत हिरासत में लिया गया है उसमें किसी व्यक्ति को बिना मुक़दमा चलाए 2 वर्षों तक हिरासत में रखा जा सकता है। अप्रैल 8, 1978 को जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल से इसे मंजूरी मिली थी। यह क़ानून लकड़ी की तस्करी रोकने के लिए लाया गया था।
हिन्दू लड़की की हत्या

…बस एक एग्जाम और डेंटल डॉक्टर बन जातीं नमृता लेकिन पाकिस्तान में रस्सी से बंधा मिला शव

बहन के मृत शरीर को देख नमृता के भाई डॉ विशाल सुंदर ने कहा, "उसके शरीर के अन्य हिस्सों पर भी निशान हैं, जैसे कोई व्यक्ति उन्हें पकड़ रखा था। हम अल्पसंख्यक हैं, कृपया हमारे लिए खड़े हों।"
एन राम

‘The Hindu’ के चेयरमैन बने जज: चिदंबरम को कॉन्ग्रेस के कार्यक्रम में दी क्लीन चिट, कहा- कोई सबूत नहीं

एन राम चिदंबरम को जेल भेजने के लिए देश की अदालतों की आलोचना करने से भी नहीं चूके। उन्होंने कहा कि इस गिरफ्तारी की साजिश करने वालों का मकसद सिर्फ और सिर्फ चिदंबरम की आजादी पर बंदिश लगाना था और दुर्भाग्यवश देश की सबसे बड़ी अदालतें भी इसकी चपेट में आ गईं।

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

91,243फैंसलाइक करें
15,199फॉलोवर्सफॉलो करें
97,600सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

शेयर करें, मदद करें: