Sunday, July 25, 2021
Homeदेश-समाजआज़ाद मोहम्मद ने प्रेमजाल में फँसा कर बनाया हिन्दू लड़की का अश्लील वीडियो: धर्मपरिवर्तन...

आज़ाद मोहम्मद ने प्रेमजाल में फँसा कर बनाया हिन्दू लड़की का अश्लील वीडियो: धर्मपरिवर्तन के विरोध पर दी वायरल करने की धमकी

पुलिस अधीक्षक हरदोई ने मामले की जानकारी देते हुए कहा कि आजाद मोहम्मद नाम के युवक पर उसकी प्रेमिका ने आरोप लगाया था कि उसने प्रेम जाल में फँसाकर उसके साथ रेप किया। फिर शादी से पहले धर्म बदलने का आरोप दबाव डाला।

यूपी के हरदोई में एक हिन्दू किशोरी ने दुष्कर्म और जबरन धर्म परिवर्तन कराने का आरोप लगाते हुए FIR दर्ज करवाई है। किशोरी का आरोप है कि आजाद मोहम्मद नाम के युवक ने पहले उसे प्रेमजाल में फँसाया। फिर दो साल तक शादी के बहाने उसके साथ बार-बार दुष्कर्म किया और वीडियो बना ली। शादी के लिए उसने इस्लाम धर्म कबूलने का जोर डाला। जब उसने इसका विरोध किया तो मोहम्मद ने उसके अश्लील फोटो को वायरल करने की धमकी दी।

पुलिस ने 10 दिसंबर को आरोपित के खिलाफ बलात्कार और पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया था। फिर पीड़िता के बयान के आधार पर पुलिस ने उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म परिवर्तन प्रतिषेध अधिनियम 3/5 की धारा भी जोड़ी और आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

दर्ज एफआईआर के अनुसार, नरहाई के रहने वाले आजाद मोहम्मद ने दो साल पहले गाँव की ही एक किशोरी को अपने प्रेमजाल में फँसाया, उसने शादी का झाँसा देकर किशोरी का शारीरिक शोषण किया और मौके का फायदा उठाते हुए उस दौरान उसकी अश्लील वीडियो भी बना ली, लेकिन शादी के लिए टालता रहा। 30 नवंबर को वह शादी के लिए तैयार हुआ और कोर्ट मैरिज के लिए हरदोई लेकर आया।

शादी से पहले उसने किशोरी से धर्म परिवर्तन कर निकाह करने लिए कहा। जिसका उसने विरोध किया। किशोरी के मना करते ही आजाद मोहम्मद ने उसे वीडियो वायरल करने की भी धमकी दी, लेकिन फिर भी वह टस से मस नहीं हुई। फिर आजाद उसे कोर्ट में छोड़कर चला गया। इससे नाराज किशोरी ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

पुलिस अधीक्षक हरदोई ने मामले की जानकारी देते हुए कहा कि आजाद मोहम्मद नाम के युवक पर उसकी प्रेमिका ने आरोप लगाया था कि उसने प्रेम जाल में फँसाकर उसके साथ रेप किया। फिर शादी से पहले धर्म बदलने का आरोप दबाव डाला।

एएसपी अनिल कुमार यादव ने बताया कि लड़की की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए आरोपित आजाद को बुधवार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। धर्म परिवर्तन अध्यादेश 2020 के अंतर्गत हरदोई जिले की यह पहली गिरफ्तारी है। आगे की जाँच की जा रही है।

गौरतलब है कि जब-जब ग्रूमिंग जिहाद (लव जिहाद) पर सख्ती की बात आती है तो लिबरल गिरोह इसे बीजेपी और हिंदू संगठनों का दुष्प्रचार बताता है। वह इसे समस्या मानने से ही इनकार कर देता है।

इससे पहले दिल्ली के रोहिणी इलाके में रहने वाले अख्तर ने शिवा बनकर हिंदू युवती को प्रेमजाल में फँसाया। जागरण में उससे मुलाकात की और मंदिर में शादी रचाई। उसके बाद लड़की को डिमांड के नाम पर परेशान करने लगा। जब एक दिन अख्तर की झूठी पहचान उजागर हो गई तो उसने अपने भाइयों अफजल, अरशद और पिता मोहम्मद इदरीश के साथ मिलकर युवती को पीटा।

वहीं यूपी के बिजनौर में साकिब नाम के युवक ने सोनू बनकर दलित नाबालिक किशोरी को अपने प्रेमजाल में फँसाया, फिर मौका देखते ही उसे भगा ले गया। पुलिस के अनुसार थाना धामपुर के एक गाँव में 14 दिसंबर की रात मुस्लिम धर्म का एक युवक 16 वर्षीय दलित किशोरी को भगा ले गया था। लड़के ने अपना असली नाम छिपाकर सोनू बता रखा था। किशोरी को बाद में उसकी असली पहचान का पता चला।

परिजनों द्वारा दर्ज एफआईआर के अनुसार, थाना धामपुर के एक गाँव में मुस्लिम धर्म के 18 वर्षीय युवक ने 16 वर्षीय दलित किशोरी को अपना नाम सोनू बता कर दोस्ती की। फिर उसका ब्रेनवाश कर उसे अपने प्यार में फँसा लिया। 14 दिसंबर की रात वह किशोरी को लेकर फरार हो गया और निकाह करने की फिराक में था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,200FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe