Friday, October 22, 2021
Homeदेश-समाजदेश में पहले कोरोना पॉजिटिव डॉक्टर की मौत: इंदौर की सभी सीमाओं को किया...

देश में पहले कोरोना पॉजिटिव डॉक्टर की मौत: इंदौर की सभी सीमाओं को किया गया सील, बढ़ाई गई मेडिकल स्टाफ की सुरक्षा

डॉक्टर पंचवानी प्राइवेट प्रैक्टिस करते थे। जो कि शहर के विनय नगर और दूसरा त्रिवेणी कॉलोनी में अपना क्लीनिक संचालित करते थे। आशंका जताई जा रही है कि इस दौरान हो सकता है कि किसी कोरोना पॉजीटिव के संपर्क में आए हों, हालाँकि, वह कोरोना से संक्रमिल लोगों का इलाज नहीं कर रहे थे। लेकिन इन दिनों इंदौर में कोरोना संक्रमण तेजी से फैलता ही जा रहा है।

देश में लगातार बढ़ते कोरोना के मरीजों की संख्या के बीच इंदौर के कोरोना पीड़ित एक डॉक्टर ने दम तोड़ दिया। यह देश में कोरोना से पीड़ित पहले डॉक्टर की मौत है। इसके बाद पूरे मध्य प्रदेश के साथ देश के डॉक्टरों की सुरक्षा को लेकर सरकार तरह-तरह के इंतजाम कर रही है। वहीं इंदौर में बिगड़ते हालातों को देखते हुए शहर को पूरी तरह से सील कर दिया है।

एनबीटी की खबर के मुताबिक स्वास्थ्य विभाग के सीएमएचओ डॉक्टर प्रवीण जड़िया ने बताया कि डॉ शत्रुधन पंजवानी पिछले दिनों कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे और उनका उपचार पहले गोकुलदास में चल रहा था। इसके बाद सीएचएल और फिर उन्हें अरविंदों अस्पताल में शिफ्ट किया गया था। इसके बाद भी उनकी हालत में कोई सुधार नहीं हो रहा था और स्थिति गंभीर बनी हुई थी। इसी बीच आज (गुरुवार 9 अप्रैल) सुबह को उनकी मौत हो गई।

जानकारी के मुताबिक इंदौर के रुपराम नगर में रहने वाले डॉक्टर पंचवानी प्राइवेट प्रैक्टिस करते थे। जो कि शहर के विनय नगर और दूसरा त्रिवेणी कॉलोनी में अपना क्लीनिक संचालित करते थे। आशंका जताई जा रही है कि इस दौरान हो सकता है कि किसी कोरोना पॉजीटिव के संपर्क में आए हों, हालाँकि, वह कोरोना से संक्रमिल लोगों का इलाज नहीं कर रहे थे। लेकिन इन दिनों इंदौर में कोरोना संक्रमण तेजी से फैलता ही जा रहा है।

अब सरकार के लिए यह एक चिंता का विषय हो गया है, क्योंकि देश में पहले कोरोना पीड़ित डाक्टर ने दम तोड़ा है। लिहाजा प्रदेश सरकार ने इंदौर शहर को पूरी तरह से सील कर दिया है। इतना ही नहीं प्रदेश सरकार ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण से जूझ रहे 14 जिलों में सख्ती से लॉकडाउन का पालन कराने के आदेश दिए हैं। वहीं डॉक्टर की मौत के बाद इंदौर में कोरोना पीड़ितों के इलाज में लगे डॉक्टर और नर्सिंग स्टॉफों का प्रशासन विशेष ध्यान रख रहा है।

वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पुलिस को निर्देश दिए हैं कि यदि कोई व्यक्ति कोरोना संक्रमण को छुपाता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इससे पहले शिवराज सिंह ने तबलीगी जमात से जुड़े लोगों को चेतावनी देते हुए कहा था कि निजामुद्दीन के मरकज में शामिल होकर सूबे में जो लोग पहुँचे हैं वे 24 घंटे के अंदर स्टेट अथॉरिटी के समक्ष रिपोर्ट करें नहीं तो ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

आपको बता दें कि अब तक मध्य प्रदेश में 404 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए है, जबकि प्रदेश में 30 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं अगर बात करें इंदौर की तो यहाँ अकेले इंदौर शहर में 213 पॉजिटिव मामले सामने आए हैं, जिनमें से 21 लोगों की मौत हो चुकी है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बधाई देना भी हराम’: सारा ने अमित शाह को किया बर्थडे विश, आरफा सहित लिबरलों को लगी आग, पटौदी की पोती को बताया ‘डरपोक’

सारा ने गृहमंत्री को बधाई दी लेकिन नाराज हो गईं आरफा खानुम शेरवानी। उन्होंने सारा को डरपोक कहा और पारिवारिक बैकग्राउंड पर कमेंट किया।

‘जमानत के लिए भगवान भरोसे हैं आर्यन खान’: जेल में रोज हो रहे आरती में शामिल, कैदियों से मिलती है दिलासा

आर्यन खान ड्रग केस में इस समय जेल में हैं। वो रोज आरती में शामिल होते हैं और अपनी रिहाई के इंतजार में चुप बैठे रहते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
130,824FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe