Friday, June 14, 2024
Homeदेश-समाज'अमरावती में 800+ मुस्लिम लड़कियाँ हुईं काफिर, हर साल 10 लाख को मुर्तद बनाना...

‘अमरावती में 800+ मुस्लिम लड़कियाँ हुईं काफिर, हर साल 10 लाख को मुर्तद बनाना चाहता है RSS-बजरंग दल’: इंदौर में मस्जिद के पास बँटे हिंदू विरोधी पर्चे

पर्चे में मुस्लिम लड़कियों को 'इस्लाम की शहजादी' बताया गया है। कहा गया है कि आरएसएस और बजरंग दल उन्हें काफिर बनाकर उनकी इज्जत तार-तार करना चाहता है। इस साजिश को 'भगवा लव ट्रैप' का नाम पर्चे में दिया गया है।

हाल के समय में देश के अलग-अलग हिस्सों में ऐसी कई घटनाएँ हुईं है, जब मुस्लिम लड़कियों के साथ दिखने पर हिंदुओं को इस्लामी कट्टरपंथी समूह ने निशाना बनाया है। अब मध्य प्रदेश के इंदौर में एक मस्जिद के पास हिंदू विरोधी पर्चे बाँटे जाने का मामला सामने आया है। इसमें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) और बजरंग दल पर मुस्लिम लड़कियों को मुर्तद (काफिर) बनाने की साजिश रचने का आरोप लगाया गया है। इस साजिश को ‘भगवा लव ट्रैप’ का नाम पर्चे में दिया गया है।

पर्चे में मुस्लिम लड़कियों से कहा गया है, “तेरे ईमान की कीमत 7 जमीन और 7 आसमानों से ज्यादा है। तेरी इज्जत सारी दुनिया के मुसलमानों की जान से ज्यादा कीमती है। तू अपने वालिद का फक्र है, तू अपने भाई का गुरूर है। तू अपने खानदान की इज्जत है। तू कोई मामूली नहीं है बहन, बल्कि तू इस्लाम की शहजादी है।” इसके बाद आरोप लगाया गया है कि आरएसएस और बजरंग दल हर साल 10 लाख मुस्लिम लड़कियों को मुर्तद (काफिर) बनाकर उनकी इज्जत को तार-तार करना चाहते हैं। साथ ही महाराष्ट्र के अमरावती में 800 से ज्यादा मुस्लिम लड़कियों के काफिर हो ​​जाने का दावा किया गया है।

पर्चे में कहा गया है कि सोशल मीडिया (फेसबुक, इंस्टाग्राम आदि) के जरिए, स्कूल और कॉलेज में मुस्लिम लड़कियों को फँसाया जाता है। इसमें आगे कहा गया है, “बहन तू अपना शिकार ना बनना। तू भगवा लव ट्रैप में ना फँसना। थोड़े दिनों की झूठी खुशी, तोहफे और पैसों के लालच में आकर अपनी दुनिया और आखिरत को खराब ना कर। अगर तुझसे कोई गलती हो गई हो तो वापस आ जा, तेरा भाई तेरी मदद के लिए तैयार है। अल्लाह तेरे ईमान, इज्जत और आबरु की हिफाजत करें, आमीन।”

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार मंगलवार 23 मई 2023 की रात एक महिला हिंदू संगठन के लोगों के साथ पर्चा लेकर रावजी बाजार थाने पहुँची थी। उन्होंने पुलिस को बताया कि हिंदुओं को काफिर बताते हुए रावजी बाजार क्षेत्र में कलालकुई मस्जिद के पीछे ये पर्चे बाँटे गए हैं। पुलिस मामले की जाँच कर रही है।

पर्चे पर न तो इसे छपवाने वाले और न ही इसे छापने वाले प्रिंटिंग प्रेस का जिक्र है। पुलिस इसका लगाने में जुटी हुई है। पुलिस के मुताबिक 10 अज्ञात लोगों के IPC की धारा 153- A के तहत FIR दर्ज की गई है। आरोपितों को चिन्हित करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कश्मीर समस्या का इजरायल जैसा समाधान’ वाले आनंद रंगनाथन का JNU में पुतला दहन प्लान: कश्मीरी हिंदू संगठन ने JNUSU को भेजा कानूनी नोटिस

जेएनयू के प्रोफेसर और राजनीतिक विश्लेषक आनंद रंगनाथन ने कश्मीर समस्या को सुलझाने के लिए 'इजरायल जैसे समाधान' की बात कही थी, जिसके बाद से वो लगातार इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं।

शादीशुदा महिला ने ‘यादव’ बता गैर-मर्द से 5 साल तक बनाए शारीरिक संबंध, फिर SC/ST एक्ट और रेप का किया केस: हाई कोर्ट ने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में जस्टिस राहुल चतुर्वेदी और जस्टिस नंद प्रभा शुक्ला की बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि सबूत पेश करने की जिम्मेदारी सिर्फ आरोपित का ही नहीं है, बल्कि शिकायतकर्ता का भी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -