Saturday, May 15, 2021
Home देश-समाज महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ न करें कोई नकारात्मक टिप्पणी: IMA ने डॉक्टरों को दी...

महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ न करें कोई नकारात्मक टिप्पणी: IMA ने डॉक्टरों को दी हिदायत

“मुझे यकीन है, हम IMA के सदस्य समाज के प्रतिष्ठित लोग हैं और हम ऐसी किसी भी गतिविधि में शामिल नहीं होंगे। हम कोरोना वायरस की महामारी को नियंत्रित करने के लिए अपना अभियान जारी रखेंगे।”

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) की महाराष्ट्र इकाई ने राज्य में डॉक्टरों को सूचित किया है कि व्हाट्सएप ग्रुपों में राज्य सरकार के फैसलों के खिलाफ कोई ‘अपमानजनक’ टिप्पणी नहीं की जानी चाहिए। उन्होंने कहा है कि वो व्हाट्सएप ग्रुप में मैसेज भेज सकते हैं, अपनी प्रतिक्रियाएँ दे सकते हैं, मगर इसकी भाषा ‘गैर-अपमानजनक’ होनी चाहिए।

दरअसल, एक पत्र सामने आया है, जिसमें IMA की महाराष्ट्र इकाई के प्रदेश अध्यक्ष डॉ अविनाश भोंडवे और राज्य सचिव डॉ पंकज बंदरकर के दस्तखत हैं। इसमें डॉक्टरों से कहा गया है कि उन्हें महराष्ट्र साइबर सेल से ‘सूचना’ मिली थी कि व्हाट्सएप ग्रुपों में कुछ डॉक्टर महाराष्ट्र सरकार और उनके अधिकारियों के खिलाफ टिप्पणी कर रहे हैं।

ऑपइंडिया द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार, यह एक आधिकारिक पत्र है जो IMA की महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष ने अपने व्हाट्सएप ग्रुपों में पोस्ट किया है। पत्र में कहा गया, “मुझे यकीन है, हम IMA के सदस्य समाज के प्रतिष्ठित लोग हैं और हम ऐसी किसी भी गतिविधि में शामिल नहीं होंगे। हम कोरोना वायरस की महामारी को नियंत्रित करने के लिए अपना अभियान जारी रखेंगे।” पत्र को संगठन के सभी पदाधिकारियों को संबोधित किया गया था और उन्हें व्हाट्सएप ग्रुप पर सरकार की आलोचना के खिलाफ एहतियात बरतने के लिए कहा गया था।

उल्लेखनीय है कि कुछ दिनों पहले ही मुंबई के कस्तूरबा अस्पताल के कर्मचारी ने वीडियो बनाकर अस्पताल के अंदर PPE (Personal Protection Equipment) की कमी को उजागर करने की कोशिश की तो उनके खिलाफ कार्रवाई की गई। स्टाफ यह दिखाने की कोशिश कर रहा था कि PPE किट की कमी है, इसके बावजूद भी वो लोग अपनी जान को जोखिम में डालकर मरीजों का इलाज कर रहे हैं। उन्हें भी इस संक्रमण का खतरा है। आखिर वो भी तो इंसान ही हैं। मगर स्टाफ को PPE किट की बात को उजागर करना भारी पड़ गया।

कोरोना संकट से निपटने में नाकाम महाराष्ट्र सरकार

बता दें कि वुहान कोरोनावायरस संकट से निपटने के लिए महाराष्ट्र सरकार की काफी आलोचना हो रही है। आरोप लगाए गए हैं कि राज्य सरकार अपने प्रदेश में लॉकडाउन लागू कराने में बुरी तरह विफल रही है। हाल ही में, बांद्रा में एक मस्जिद के पास अफवाहों की वजह से प्रवासी मजदूरों का एक विशाल जमावड़ा इकट्ठा हुआ था, जो गलत सूचनाओं के कारण इकठ्ठा हुआ था। परिवार और स्वास्थ्य कल्याण मंत्रालय की वेबसाइट के अनुसार अभी तक राज्य में कोरोना संक्रमण के कुल 4203 मामले सामने आए हैं, जिनमें से 507 डिस्चार्ज हो गए हैं और 223 लोगों की मौत हो चुकी है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ अभी अल-अक्शा मस्जिद, वहाँ पहले था यहूदियों का मंदिर: जानिए कहाँ से शुरू हुआ येरुशलम विवाद

येरुशलम में जहाँ अल अक्सा मस्जिद है उसी स्थान पर टेंपल माउंट पर ही यहूदियों का सेकेंड टेंपल हुआ करता था। सेकंड टेम्पल को यहूदी विद्रोह की सजा के रूप में 70 ईस्वी में रोमन साम्राज्य ने नष्ट कर दिया था।

इजरायल के विरोध में पूर्व पोर्न स्टार मिया खलीफा: ट्वीट कर बुरी तरह फँसीं, ‘किसान’ प्रदर्शन वाला ‘टूलकिट’ मामला

इजरायल और फिलिस्तीनी आंतकियों के बीच संघर्ष लगातार बढ़ता ही जा रहा है। पूर्व पोर्न-स्टार मिया खलीफा ने गलती से इजरायल के विरोध में...

पुणे में बनेगी कोरोना वैक्सीन, इसलिए 50% सिर्फ महाराष्ट्र को मिले: महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजीत पवार

महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा कि राज्य सरकार हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक के पुणे में लगने वाले वैक्सीन निर्माण संयंत्र से...

‘लगातार बम बरसाए, एकदम निर्ममता से… हमारा (हमास) एक भी लड़ाका नहीं था’: 10000+ फिलिस्तीनी घर छोड़ कर भागे

इजराइल और फिलिस्तीनी आंतकियों के बीच खूनी संघर्ष और तेज हो गया है। हमास को इजराइल की जवाबी कार्रवाई में कम से कम...

इजरायली रॉकेट से मरीं केरल की सौम्या… NDTV फिर खेला शब्दों से, Video में कुछ और, शीर्षक में जिहादियों का बचाव

केरल की सौम्या इजरायल में थीं, जब उनकी मौत हुई। वह अपने पति से बात कर रही थीं, तभी फिलिस्तीनी रॉकेट उनके पास आकर गिरा। लेकिन NDTV ने...

1971 में भारतीय नौसेना, 2021 में इजरायली सेना: ट्रिक वही-नतीजे भी वैसे, हमास ने ‘Metro’ में खुद भेज दिए शिकार

इजरायल ने एक ऐसी रणनीतिक युद्धकला का प्रदर्शन किया है, जिसने 1971 में भारत और पाकिस्तान के बीच हुए युद्ध की ताजा कर दी है।

प्रचलित ख़बरें

दिल्ली में ऑक्सीजन सिलेंडर के बदले पड़ोसी ने रखी सेक्स की डिमांड, केरल पुलिस से सेक्स के लिए ई-पास की डिमांड

दिल्ली में पड़ोसी ने ऑक्सीजन सिलेंडर के बदले एक लड़की से साथ सोने को कहा। केरल में सेक्स के लिए ई-पास की माँग की।

हिरोइन है, फलस्तीन के समर्थन में नारे लगा रही थीं… इजरायली पुलिस ने टाँग में मारी गोली

इजरायल और फलस्तीन के बीच चल रहे संघर्ष में एक हिरोइन जख्मी हो गईं। उनका नाम है मैसा अब्द इलाहदी।

1971 में भारतीय नौसेना, 2021 में इजरायली सेना: ट्रिक वही-नतीजे भी वैसे, हमास ने ‘Metro’ में खुद भेज दिए शिकार

इजरायल ने एक ऐसी रणनीतिक युद्धकला का प्रदर्शन किया है, जिसने 1971 में भारत और पाकिस्तान के बीच हुए युद्ध की ताजा कर दी है।

गाजा पर गिराए 1000 बम, 160 विमानों ने 150 टारगेट पर दागे 450 मिसाइल: बोले नेतन्याहू- हमास को बहुत भारी कीमत चुकानी पड़ेगी

फलस्तीन के साथ हवाई संघर्ष के बीच इजरायल जमीनी लड़ाई की भी तैयारी कर रहा है। हथियारबंद टुकड़ियों के साथ 9000 रिजर्व सैनिकों की तैनाती।

इजरायली रॉकेट से मरीं केरल की सौम्या… NDTV फिर खेला शब्दों से, Video में कुछ और, शीर्षक में जिहादियों का बचाव

केरल की सौम्या इजरायल में थीं, जब उनकी मौत हुई। वह अपने पति से बात कर रही थीं, तभी फिलिस्तीनी रॉकेट उनके पास आकर गिरा। लेकिन NDTV ने...

1600 रॉकेट-600 टारगेट: हमास का युद्ध विराम प्रस्ताव ठुकरा बोला इजरायल- अब तक जो न किया वो करेंगे

संघर्ष शुरू होने के बाद से इजरायल पर 1600 से ज्यादा रॉकेट दागे जा चुके हैं। जवाब में गाजा में उसने करीब 600 ठिकानों को निशाना बनाया है।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,349FansLike
94,118FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe