Sunday, June 23, 2024
Homeदेश-समाजकार्यक्रम का नाम - महाराष्ट्र उत्सव, हुआ क्या - महिला के जैकेट फाड़े, लाठी...

कार्यक्रम का नाम – महाराष्ट्र उत्सव, हुआ क्या – महिला के जैकेट फाड़े, लाठी से पीटा, छेड़खानी की: उद्धव वाली शिवसेना का नेता गिरफ्तार

लाउडस्पीकर की आवाज से परेशान महिला पत्रकार ने पहले तो स्थानीय पुलिस को फोन कर शिकायत दी। मौके पर पहुँची पुलिस को आयोजकों ने तवज्जोह दी। इसके बाद महिला खुद आयोजन स्थल पर पहुँची।

महाराष्ट्र के ठाणे में शिवसेना उद्धव गुट के नेता और पूर्व डिप्टी मेयर नरेश मनेरा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। नरेश मनेरा पर एक पूर्व महिला पत्रकार ने मारपीट और छेड़खानी का आरोप लगाया है। उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 354 के साथ-साथ कई अन्य धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है। गिरफ्तारी के बाद उन्हें अदालत में पेश किया गया।

मीडिया रिपोर्टों की मानें तो घोड़बंदर के आनंद नगर में पूर्व महिला पत्रकार ने नरेश मनेरा और उनके 10-12 साथियों पर मारपीट और छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया। दी गई शिकायत के अनुसार गुरुवार, (09 फरवरी, 2023) की रात एक कार्यक्रम की लाउडस्पीकर की आवाज से वह परेशान हो गई थी। दरअसल नरेश मनेरा ने इलाके में ‘महाराष्ट्र उत्सव’ नाम से सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया है।

लाउडस्पीकर की आवाज से परेशान महिला पत्रकार ने पहले तो स्थानीय पुलिस को फोन कर शिकायत दी। मौके पर पहुँची पुलिस को आयोजकों ने तवज्जोह दी। इसके बाद महिला खुद आयोजन स्थल पर पहुँची और आयोजक नरेश मनेरा को कार्यक्रम समाप्त करने के लिए कहा। आरोपों के मुताबिक, इस पर मौजूद लोगों ने उस पर हमला कर दिया जिसमें महिलाएँ व पुरुष शामिल थे। आरोप है कि भीड़ का फायदा उठाकर उनके साथ छेड़खानी की गई। उनके गले से सोने की चेन भी चोरी हो गई।

आरोप है कि नरेश और उनके लोगों ने भीड़ के सामने महिला का जैकेट पकड़ कर घसीटा। इतना ही नहीं एक शख्स ने उनकी लाठी से पिटाई की। पीड़िता ने कसारवदवली थाने में शिकायत दर्ज कराई है। पीड़िता के पति का आरोप है कि स्थानीय पुलिस आरोपितों को गिरफ्तार करने से बच रही थी। जिसके बाद उन्होंने पुलिस के बड़े अधिकारियों से मदद माँगी। उनकी शिकायत के बाद पुलिस ने शनिवार (11 फरवरी, 2023) को नरेश मनेरा को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NEET पीपर लीक की जाँच अब CBI के हवाले, केंद्रीय जाँच एजेंसी ने दर्ज की FIR: PG की परीक्षा के लिए नई तारीखों का...

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की ओर से बताया गया कि विवाद की समीक्षा के बाद मंत्रालय ने मामले की व्यापक जाँच के लिए इसे सीबीआई को सौंपने का फैसला किया है।

न सप्लाई करने की क्षमता बढ़ाई, न सीवर ट्रीटमेंट प्लांट बनाए, न दिया बजट: दिल्ली के पानी संकट के लिए केजरीवाल सरकार ही जिम्मेदार,...

2022-23 में दिल्ली में पानी से सम्बन्धित सुविधाओं पर ₹6344 करोड़ के खर्चे की मंजूरी दी गई थी। इसकी तुलना में मात्र ₹3171 करोड़ ही जारी किए गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -