Monday, July 15, 2024
Homeदेश-समाजनूहं हिंसा में कॉन्ग्रेस MLA मामन खान गिरफ्तार, हरियाणा की SIT ने राजस्थान से...

नूहं हिंसा में कॉन्ग्रेस MLA मामन खान गिरफ्तार, हरियाणा की SIT ने राजस्थान से पकड़ा: हिंदुओं पर हमले के लिए भड़काने का है आरोप

मामन खान को हरियाणा पुलिस ने दो बार नोटिस भेजा था। पर वह पूछताछ के लिए हाजिर नहीं हुआ। गिरफ्तारी से बचने के लिए उसने हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। लेकिन उसे राहत नहीं मिली थी।

हरियाणा के मेवात के नूहं में 31 जुलाई 2023 को हिंदुओं की शोभायात्रा पर इस्लामिक भीड़ ने हमला किया था। इस मामले में पुलिस ने 14 सितंबर 2023 की रात मामन खान को गिरफ्तार किया है। वह मेवात की फिरोजपुर झिरका सीट से कॉन्ग्रेस का विधायक है। उस पर हिंसा के लिए लोगों को भड़काने का आरोप है। गिरफ्तारी से बचने के लिए मामन खान ने हाई कोर्ट में भी अर्जी लगाई थी। लेकिन कोर्ट ने गिरफ्तारी पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, नूहं हिंसा मामले की जाँच के लिए गठित SIT ने मामन खान को राजस्थान के जयपुर से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी से बचने के लिए मामन ने 12 सितंबर को पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी। इसमें उसने कहा था कि हिंसा वाले दिन और उससे पहले वह प्रभावित इलाके में नहीं था। साथ ही उसने उच्च अधिकारियों की देखरेख में SIT जाँच कराने और जाँच पूरी होने तक अपने खिलाफ कार्रवाई पर रोक लगाने की माँग की थी।

मामन की इस याचिका पर 14 सितंबर को सुनवाई हुई थी। इस दौरान SIT ने उसके खिलाफ सबूत कोर्ट में पेश किए थे। इसके चलते कोर्ट ने उसकी गिरफ्तारी पर रोक नहीं लगाई थी। अब SIT ने उसे गिरफ्तार कर लिया है। गौरतलब है कि इससे पहले पुलिस ने दो बार नोटिस भेजकर मामन को पूछताछ के लिए बुलाया था, लेकिन वह पुलिस के सामने पेश नहीं हुआ था।

बता दें कि हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज नूहं हिंसा के पीछे मामन खान के हाथ होने की बात कह चुके हैं। उन्होंने कहा था कि नूहं हिंसा के गिरफ्तार आरोपितों ने पूछताछ में कहा है कि वे कॉन्ग्रेस विधायक मामन खान के संपर्क में थे। उन्होंने कहा था कि हिंसा से पहले मामन खान ने 29, 30 और 31 जुलाई को नूहं का दौरा किया था। वह दंगा प्रभावित इलाकों में लोगों के साथ लाइव कॉन्टैक्ट में था।

क्या है मामला

हरियाणा के मेवात के नूहं जिले में 31 जुलाई, 2023 को हिंदू संगठन श्रावण सोमवार पर बृजमंडल जलाभिषेक यात्रा निकाल रहे थे। इसी दौरान घात लगाए बैठे इस्लामिक दंगाइयों ने उन पर हमला बोल दिया था। पत्थरबाजी, गोलीबारी और आगजनी की थी। इस्लामी दंगाइयों ने नल्हड़ मंदिर को तीन ओर से घेरकर फायरिंग की थी। इसके चलते 1500 से अधिक हिंदू मंदिर में फँस गए थे। आरोप है कि इस्लामवादियों ने हिंदुओं को घेरकर उन्हें जान से मारने की प्लानिंग की थी। 

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मंगलौर के बहाने समझिए मुस्लिमों का वोटिंग पैटर्न: उत्तराखंड की जिस विधानसभा से आज तक नहीं जीता कोई हिन्दू, वहाँ के चुनाव परिणामों से...

मंगलौर में हाल के विधानसभा उपचुनावों में कॉन्ग्रेस ने भाजपा को हराया। इस चुनाव में मुस्लिम वोटिंग का पैटर्न भी एक बार फिर साफ़ हो गया।

IAS बेटी ऑडी पर बत्ती लगाकर बनाती थी भौकाल, माँ-बाप FIR के बाद फरार: पूजा खेडकर को जाँच के बाद डॉक्टरों ने नहीं माना...

पूजा खेडकर का मामला मीडिया में उठने के बाद उनके माता-पिता से जुड़ी कई वीडियो सामने आई है। ऐसे में पुलिस ने उनकी माँ के खिलाफ एफआईआर की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -