Monday, November 28, 2022
Homeदेश-समाजNCB अफसर का निकाहनामा लाए नवाब मलिक, काजी भी आए: फैमिली ने फिर दोहराया-...

NCB अफसर का निकाहनामा लाए नवाब मलिक, काजी भी आए: फैमिली ने फिर दोहराया- हिंदू हैं वानखेड़े

मुजम्मिल अहमद नाम के एक काजी ने दावा किया है कि उन्होंने ही समीर वानखेड़े और शबाना नाम की लड़की का निकाह कराया था। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने जो निकाहनामा शेयर किया है वह असली है।

बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खाने के बेटे आर्यन खान को ड्रग्स केस में गिरफ्तार करने वाले नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े को इन दिनों उनके धर्म को लेकर टारगेट किया जा रहा है। एनसीपी नेता और महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक उनके खिलाफ एक के बाद एक आरोप लगा रहे हैं। नवाब मलिक ने बुधवार (27 अक्टूबर 2021) को समीर वानखेड़े पर एक नया आरोप लगाते हुए उनका कथित ‘निकाहनामा’ शेयर किया है।

नवाब मलिक ने लिखा है, ”साल 2006 में 7 दिसंबर, गुरुवार को रात 8 बजे समीर दाऊद वानखेड़े और शबाना कुरैशी का निकाह हुआ था। यह निकाह मुंबई के अंधेरी (वेस्ट) के लोखंडवाला कॉम्पलेक्स में हुआ था।”

नवाब मलिक द्वारा ट्वीट किया गया निकाहनामा

महाराष्ट्र के मंत्री ने दूसरे ट्वीट में लिखा, ”निकाह में 33 हजार रुपए मेहर के रूप में अदा की गई थी। इसमें गवाह नंबर 2 अजीज खान थे। वह यासमीन दाऊद वानखेड़े के पति हैं जो कि समीर दाऊद वानखेड़े की बहन हैं।”

समीर वानखेड़े के निकाह से जुड़े नवाब मलिक के दावे के बाद अब मुजम्मिल अहमद नाम के एक काजी सामने आए हैं। काजी ने दावा किया है कि उन्होंने ही समीर वानखेड़े और शबाना नाम की लड़की का निकाह कराया था। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने जो निकाहनामा शेयर किया है वह असली है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, काजी मुजम्मिल अहमद ने कहा, ”मैंने निकाह पढ़ाया था, निकाहनामा बिल्कुल सही है। उस वक्त समीर, शबाना (समीर की पहली पत्नी), उनके पिता सब मुसलमान थे। काजी बोले, “अगर समीर हिंदू होते तो निकाह ही नहीं होता, क्योंकि शरियत के हिसाब से ऐसा नहीं हो सकता। शरियत के खिलाफ जाकर काजी निकाह नहीं पढ़ाता। आज वह कुछ भी कहें, उस वक्त समीर मुसलमान थे।”

काजी ने मीडिया को यह भी बताया कि साल 2006 में बड़ी सी जगह पर यह शादी हुई थी। इसमें करीब 2 हजार लोग शामिल हुए थे। इनमें कई हाई प्रोफाइल लोग शामिल थे। काजी ने कहा कि 15 मिनट के अंदर निकाह पढ़वा दिया गया था। समीर वानखेड़े का निकाह पूरी तरह से इस्लामी तौर-तरीके से हुआ था।

इस विवाद पर समीर वानखेड़े के पिता और पत्नी ने कहा कि उन्होंने सच से कभी इनकार नहीं किया है। समीर की पत्नी क्रांति ने कहा, “जो झूठ है और उसे हमारे मत्थे जो मढ़ रहे हैं उस चीज को हमलोग सहन नहीं कर सकते। समीर वानखेड़े को यह पता था कि वे हिंदू हैं, इसके लिए उनको स्पेशल मैरिज ऐक्ट के तहत शादी करनी है, वो उन्होंने की। उसके लीगल डॉक्युमेंट्स हमारे पास हैं। दोनों बालिग हैं और दोनों से अपने साइन किये हैं। तो फर्जीवाड़ा कहाँ है? समीर वानखेड़े ने किसी को फँसाया? साफ-साफ लिखा है यहाँ पर कि वो हिंदू हैं। समीर वानखेड़े ना ही अपने रीलिजन और ना ही अपने जात के बारे में कभी झूठ बोला है। वो आदमी सच्चा है। उसके ऊपर दाग लगाने की कोशिश करोगे, वो हीरे जैसा निखर कर आएगा।”

ड्रग्स मामले में ऐसे सामने आया बड़ा ट्विस्ट

आर्यन खान ड्रग्स मामले में बड़ा ट्विस्ट तब सामने आया जब इस केस के प्राइम विटनेस केपी गोसावी के बॉडीगार्ड ने बड़ा खुलासा किया। बॉडीगार्ड प्रभाकर सैल ने अपने हलफनामे में बताया था कि एनसीबी के दफ्तर में पंचनामा पेपर बताकर खाली कागज में जबरन हस्ताक्षर कराए गए थे। इतना ही नहीं केपी गोसावी व एक अन्य के साथ इस मामले में 25 करोड़ की रिश्वत की भी माँग की गई थी। बाद में यह सौदा 18 करोड़ में तय हुआ था, जिसमें आठ करोड़ रुपए समीर वानखेड़े को देने की बात हो रही थी। गवाह द्वारा लगाए गए गंभीर आरोप के बाद एनसीबी के जोनल अधिकारी समीर वानखेड़े 25 अक्टूबर को स्पेशल NDPS कोर्ट के सामने पेश हुए और एफिडेविट दाखिल किए। रिपोर्ट्स के मुताबिक, NDPS कोर्ट में एक एफिडेविट समीर वानखेड़े की तरफ से दाखिल किया गया और दूसरा एनसीबी की तरफ से है। समीर वानखेड़े ने एफिडेविट में कहा था कि उन्हें धमकी दी जा रही है और जाँच को प्रभावित किया जा रहा है।

महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने ट्विटर पर एक पत्र साझा किया था

महाराष्ट्र के मंत्री और एनसीपी नेता नवाब मलिक ने ट्विटर पर एक पत्र साझा कर वानखेड़े पर कई आरोप लगाए हैं। उनका दावा है कि यह पत्र उन्हें एनसीबी के एक अनाम अधिकारी से मिला है। चार पन्नों के पत्र में वानखेड़े पर बॉलीवुड स्टारों से वसूली करने के आरोप लगाए गए हैं। मलिक ने अपने ट्वीट में बताया कि यह पत्र वानखेड़े के खिलाफ एनसीबी की जाँच का हिस्सा होना चाहिए। पत्र में अनाम अधिकारी ने कहा है कि वह बीते दो साल से एनसीबी के मुंबई कार्यालय में तैनात है। इसके अलावा मलिक ने दावा किया है कि ये समीर वानखेड़े मुस्लिम हैं। उन्होंने एक सर्टिफिकेट जारी किया था, जिसमें उनके पिता का नाम ‘दाऊद’ लिखा हुआ था।

समीर वानखेड़े के पिता ने कहा- मेरा नाम दाऊद नहीं, ज्ञानदेव वानखेड़े है

इन आरोपों को निराधार बताते हुए समीर वानखेड़े के पिता ने इंडिया टीवी न्यूज चैनल को बताया था, ”मेरा नाम दाऊद नहीं, ज्ञानदेव वानखेड़े है। मेरे पास सारे सबूत हैं। एसएसई, बीए, पोस्ट ग्रेजुएशन, एलएलबी के सर्टिफिकेट हैं मेरे पास। इन सबमें मेरा नाम ज्ञानदेव वानखेड़े है। मुझे समझ नहीं आ रहा है दाऊद नाम कहाँ से आया।” उन्होंने कहा कि जिस तरह से आरोप लगाने वाला बोल रहा है, उससे तो यही लगता है कि यह उसी का कोई फर्जीवाड़ा है। ज्ञानदेव वानखेड़े से जब पूछा गया कि नवाब मलिक ऐसा क्यों करेंगे, इस पर समीर के पिता ने कहा, “मेरे बेटे ने नवाब मलिक के दामाद को गिरफ्तार किया था। वो 8 से 10 महीना जेल में बंद था। इससे पहले वो कुछ नहीं बोला, लेकिन अब वो जल रहा है। इसलिए ऐसा कर रहा है।”

मलिक को वानखेड़े की पत्नी क्रांति रेडेकर ने दिया जवाब

समीर वानखेड़े की पत्नी क्रांति रेडेकर ने कहा था कि इस तरह के पत्र का कोई मतलब नहीं है। मेरे पति गलत नहीं हैं और इसे वे बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने इस मसले पर कोर्ट जाने से इनकार करते हुए कहा कि जो लोग आरोप लगा रहे हैं उनको अदालत जाना चाहिए। क्रांति ने कहा था, “हम करोड़पति नहीं हैं। हम साधारण लोग हैं। समीर एक ईमानदार अधिकारी हैं। कई लोग हैं जो चाहते हैं कि उनको हटा दिया जाए।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

उर्फी जावेद के सामने टिकती भी नहीं ऋचा-तापसी-स्वरा, SRK-अल्लू अर्जुन को दे रही टक्कर: Google सर्च में अतरंगी ड्रेस के आगे ‘एजेंडा’ फीका

पिछले 12 महीनों के ट्रेंड की तुलना में तापसी, ऋचा और स्वरा भास्कर के पास PR टीम होने के बावजूद उर्फी इन तीनों से कहीं अधिक ट्रेंड कर रही हैं।

केरल: चर्च की भीड़ ने लाठी-पत्थरों से पुलिस थाने पर किया हमला, 36 पुलिसकर्मी घायल, 15 पादरियों पर केस दर्ज

सामने आई वीडियोज में दिख रहा है कि किस तरह बेकाबू भीड़ स्टेशन के सामने हर जगह लाठियाँ मार रही है और पत्थर फेंक रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
235,826FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe