अरबाज ने प्रेमजाल में फँसाया, फिर 3 दोस्तों के साथ किया गैंगरेप: कैमूर में लोगों ने जला डाला आरोपित का घर

सोमवार को भी आक्रोशित लोग आरोपित के घर की ओर उसे जलाने के लिहाज से आगे बढ़ चुके थे, लेकिन उस समय पुलिस ने उन्हें तितर-बितर करके घटना को होने से पहले रोक लिया था लेकिन गुरुवार को...

बिहार के कैमूर में नाबालिग के साथ गैंगरेप कर वीडियो वायरल करने के मामले में लोगों का गुस्सा शांत होने का नाम नहीं ले रहा। भारी तादाद में पुलिस तैनात होने के बाद भी वहाँ आक्रोशित लोग जमा होकर अपना गुस्सा जाहीर कर रहे हैं। पथराव, आगजनी, तोड़फोड़ और फायरिंग जैसी घटनाएँ तो वहाँ सोमवार से थोड़ी-थोड़ी देर में हो रही हैं। ऐसे माहौल में कल वहाँ 3 लोगों के घायल होने की खबर भी आई, जिन्हें बाद में पास के अस्पताल में भर्ती करवाया गया। इसके अलावा ये भी मालूम चला कि गुस्साए लोगों ने चार आरोपितों में से एक का घर जला डाला।

जानकारी के मुताबिक इलाके में हालात इतने बिगड़ चुके हैं कि पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ रहा हैं और धारा 144 भी तत्काल प्रभाव से लागू की जा चुकी है। खुद वहाँ के एसपी और डीएम माइक की मदद से बार-बार शांति बहाल करने की अपील कर रहे हैं। इस उपद्रव में अब तक करीब आधा दर्जन दुकानें आग के हवाले की जाने की खबर हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार गुरुवार को पुलिस और प्रशासन को जानकारी मिली थी कि गैंगरेप के विरोध में बड़ी संख्या में लोग प्रदर्शन के लिए सुबह 10 बजे मोहनिया में एकत्रित होंगे। जिसके बाद सुरक्षा कारणों से सुबह ही बड़ी संख्या में पुलिस बल और मजिस्ट्रेट की तैनाती मोहनिया के विभिन्न चौक-चौराहों पर की गई। लेकिन, इसी बीच करणी सेना के लोग चांदनी चौक पर पहुँच गए और उन्होंने पुलिस को माँग पत्र दिया। इस पत्र में आरोपितों को फांसी की माँग की गई थी। इसके बाद धीरे-धीरे इलाके में बड़ी संख्या में भीड़ इकट्ठा हो गई और सब आरोपित के घर को जलाने के लिए आगे बढ़ने लगे। इस दौरान पुलिस ने उन्हें चेन बनाकर रोकने की बहुत कोशिश की, लेकिन विरोध कर रहे सभी लोग दूसरे रास्ते से उसके घर में घुस गए।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इसके बाद इलाके में दोनों तरफ से पथराव शुरू हुआ। स्थिति इतनी बिगड़ गई की पथराव से मामला गोलीबारी तक पहुँच गया। करीब 2 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद स्थिति पर काबू पाया जा सका। पुलिस ने दावा किया कि गुरुवार शाम तक दोनों पक्ष की ओर से 18 उपद्रवियों की गिरफ्तार हो चुकी है।

बता दें रविवार को वीडियो वायरल का मामला सामने के बाद से ही इलाके में तनाव वाली स्थिति बनी हुई। लोग लगातार लड़की के लिए इंसाफ की माँग करते हुए गुनहगारों को कड़ी से कड़ी सजा देने की गुहार लगा रहे हैं। गुरुवार से पहले सोमवार को भी आक्रोशित लोग आरोपित के घर की ओर उसे जलाने के लिहाज से आगे बढ़ चुके थे, लेकिन उस समय पुलिस ने उन्हें तितर-बितर करके घटना को होने से पहले रोक लिया था। इस दौरान सुरक्षा के लिहाज से पुलिस ने राज्य में इंटरनेट सेवाओं को भी बंद कर दिया था और शांति की अपील की गई थी।

अरबाज, सिकंदर, सोनू और कलाम ने नाबालिग को कार में खींचा, गैंगरेप कर Video किया वायरल

नाबालिग से गैंगरेप पर लोगों का फूटा गुस्सा: अरबाज गिरफ्तार, कलाम और सिकंदर अब भी फरार

कैमूर गैंगरेप मामला: अरबाज पर कार्रवाई के बाद अन्य आरोपितों को पकड़ने की माँग, आगजनी, खूनी संघर्ष

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

रामचंद्र गुहा और रवीश कुमार
"अगर कॉन्ग्रेस में शीर्ष नेताओं को कोई अन्य राजनेता उनकी कुर्सी के लिए खतरा लगता है, तो वे उसे दबा देते हैं। कॉन्ग्रेस में बहुत से अच्छे नेता हैं, जिन्हें मैं बहुत अच्छे से जानता हूँ। लेकिन अगर मैंने उनका नाम सार्वजनिक तौर पर लिया तो पार्टी में उन्हें दबा दिया जाएगा।"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

143,129फैंसलाइक करें
35,293फॉलोवर्सफॉलो करें
161,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: