Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाजहनुमान जी ने ऐसे बचाई गंगनहर में डूब रहे बंदर की जान: रात भर...

हनुमान जी ने ऐसे बचाई गंगनहर में डूब रहे बंदर की जान: रात भर प्रतिमा से लिपट कर बैठा रहा, यूपी पुलिस ने रेस्क्यू कर सुरक्षित निकाला

मंदिर के महंत मुकेश गोस्वामी ने बताया कि गंगनहर में डूब रहे बंदर का हनुमान जी सहारा बने। यह दृश्य वास्तव में देखने लायक था। उन्होंने कहा कि...

जाको राखे साइयाँ, मार सके न कोय’, अर्थात् जिसके साथ ईश्वर होता है उसका कोई बाल भी बाँका नहीं कर सकता है। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले में एक ऐसा ही ‘चमत्कार’ देखने को मिला है। यहाँ एक बेजुबान बंदर को भगवान हनुमान की मूर्ति ने बचा लिया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह मामला गाजियाबाद जिले में मुरादनगर गंगनहर का है। शनिवार (30 अक्टूबर 2022) शाम को गंगनहर में एक बंदर अचानक गिर गया। पानी के तेज बहाव के चलते वह काफी दूर तक निकल गया। इस दौरान उसने अपनी जान बचाने की लाख को​शिश की, लेकिन नहर के किनारे पर नहीं जा सका। इसी बीच गंगनहर के बीच में स्थापित हनुमान जी की मूर्ति बंदर के लिए सहारा बन गई।

बंदर इस मूर्ति के पास बैठ गया। बताया जा रहा है कि रात भर बंदर हनुमान जी की प्रतिमा से लिपटकर बैठा रहा। रविवार (31 अक्टूबर, 2022) सुबह होने पर यह दृश्य कुछ पुलिसकर्मियों ने देखा। इसके बाद स्थानीय लोगों की मदद से बंदर की जान बचाई गई।

मंदिर के महंत मुकेश गोस्वामी ने बताया कि गंगनहर में डूब रहे बंदर का हनुमान जी सहारा बने। यह दृश्य वास्तव में देखने लायक था। उन्होंने कहा कि सर्दी ज्यादा लगने से बंदर की तबीयत बिगड़ गई थी। लेकिन, इलाज के बाद अब वह पूरी तरह से ठीक हो गया है। सोशल मीडिया पर हनुमान जी की मूर्ति से चिपके हुए बंदर का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। कोई इसे आस्था, तो कोई चमत्कार बता रहा है।

वहीं, मुरादनगर पुलिस स्टेशन के SO सतीश कुमार ने बताया कि बंदर कैसे गंगनहर में गिरा, इसका पता नहीं चला। लेकिन लोगों ने रविवार सुबह उसको गंगनहर के बीच पिलर पर स्थापित हनुमान मूर्ति को पकड़कर बैठे हुए देखा। बंदर ठंड के कारण काँप रहा था। थाने के हेड कांस्टेबल प्रमोद कुमार मोटरबोट लेकर पिलर तक गए और बंदर को सुरक्षित रेस्क्यू किया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -