Monday, November 29, 2021
Homeदेश-समाजमुख्तार अंसारी के शूटर रहे अली शेर को यूपी STF ने मार गिराया, BJP...

मुख्तार अंसारी के शूटर रहे अली शेर को यूपी STF ने मार गिराया, BJP के दलित नेता को चौराहे पर गोलियों से कर दिया था छलनी

STF के एडीजी अमिताभ यश ने बताया कि मारे गए बदमाश अलीशेर पर 40 से अधिक केस दर्ज थे। इनमें हत्या के प्रयास, लूट, रंगदारी जैसे मुकदमे शामिल हैं।

मुख्तार अंसारी का शॉर्प शूटर रहा अली शेर मारा गया है। उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फ़ोर्स (STF) ने बुधवार (27 अक्टूबर 2021) को लखनऊ के मड़ियांव इलाके में एक मुठभेड़ में उसे मार गिराया। उसका साथी कामरान भी इस दौरान ढेर कर दिया गया। अली शेर पर 1 लाख और कामरान पर 25 हजार रुपए का इनाम था। इनके पास से हथियार भी बरामद किए गए हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मुठभेड़ लखनऊ IIM रोड पर धैला के पास हुई है। अली शेर और कामरान को पुलिस ने घेर कर सरेंडर करने के लिए कहा। लेकिन उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी। जवाब में पुलिस ने भी गोलियॉं चलाईं। कई राउंड गोलीबारी के बाद दोनों मार गिराए गए।

STF के एडिशनल एसपी विशाल विक्रम सिंह के अनुसार मारे गए बदमाशों के पास से एक कार्बाइन, दो पिस्टल, एक देसी तमंचा, एक बाइक और भारी मात्रा में कारतूस बरामद किए गए हैं। पुलिस को इन दोनों द्वारा पुराने लखनऊ में किसी बड़े व्यापारी की हत्या करने की प्लानिंग की सूचना मिली थी। पुलिस ने इनकी लोकेशन मड़ियांव के पास पाई। दोनों को सरेंडर का मौक़ा दिया गया पर दोनों ने गोलियाँ चलानी शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में दोनों अपराधियों को गोलियाँ लगी। पुलिस ने ही दोनों को अस्पताल पहुंचाया जहाँ डॉक्टरों ने इन्हे मृत घोषित कर दिया।

झारखंड के राँची में भारतीय जनता पार्टी (BJP) दलित मोर्चे के जिलाध्यक्ष जीतराम मुंडा की हत्या में भी अली शेर आरोपित था। मुंडा राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री रघुबर दास के करीबी नेताओं में से थे। इसी हमले में एक अन्य भाजपा नेता राजकिशोर साहू घायल हो गए थे। यह हत्या 22 सितम्बर 2021 (बुधवार) को हुई थी। मुंडा को चौराहे पर गोलियों से छलनी कर दिया गया था।

बताया जा रहा है कि कामरान और अलीशेर फिलहाल अमन गिरोह के साथ काम कर रहे थे। जेल से ही अपराध का नेटवर्क चलाने वाला अमन फिलहाल राँची जेल में बंद है। अलीशेर को डॉक्टर और कामरान को बन्नू के नाम से भी जाना जाता था। ये दोनों उत्तर प्रदेश के जिला आज़मगढ़ के रहने वाले थे।

STF के एडीजी अमिताभ यश ने बताया कि मारे गए बदमाश अलीशेर पर 40 से अधिक केस दर्ज थे। इनमें हत्या के प्रयास, लूट, रंगदारी जैसे मुकदमे शामिल हैं। उसके साथी कामरान पर भी 8 से अधिक केस दर्ज हैं। इनमें हत्या के प्रयास, हत्या व रंगदारी के मुकदमे हैं। अलीशेर के लिए कामरान रेकी किया करता था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘UPTET के अभ्यर्थियों को सड़क पर गुजारनी पड़ी जाड़े की रात, परीक्षा हो गई रद्द’: जानिए सोशल मीडिया पर चल रहे प्रोपेगंडा का सच

एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसके आधार पर दावा किया जा रहा है कि ये उत्तर प्रदेश में UPTET की परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों की तस्वीर है।

बेचारा लोकतंत्र! विपक्ष के मन का हुआ तो मजबूत वर्ना सीधे हत्या: नारे, निलंबन के बीच हंगामेदार रहा वार्म अप सेशन

संसद में परंपरा के अनुरूप आचरण न करने से लोकतंत्र मजबूत होता है और उस आचरण के लिए निलंबन पर लोकतंत्र की हत्या हो जाती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,506FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe