Thursday, May 30, 2024
Homeदेश-समाजCM उद्धव के मंत्री नवाब मलिक के दामाद समीर खान की बढ़ी मुश्किलें: 18...

CM उद्धव के मंत्री नवाब मलिक के दामाद समीर खान की बढ़ी मुश्किलें: 18 जनवरी तक NCB की हिरासत में

समीर, महाराष्ट्र सरकार में अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री नवाब मलिक के दामाद हैं, जिन्होंने अर्णब गोस्वामी को लेकर भविष्यवाणी की थी कि वह महाराष्ट्र सरकार द्वारा दायर केसों से तंग आकर आत्महत्या कर लेंगे।

ड्रग केस में गिरफ्तार हुए समीर खान को अदालत ने 18 जनवरी 2021 तक NCB की हिरासत में भेज दिया। समीर, महाराष्ट्र सरकार में अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री नवाब मलिक के दामाद हैं, जिन्होंने अर्णब गोस्वामी को लेकर भविष्यवाणी की थी कि वह महाराष्ट्र सरकार द्वारा दायर केसों से तंग आकर आत्महत्या कर लेंगे।

गुरुवार (जनवरी 14, 2021) को समीर को कोर्ट में पेश किए जाने से पहले उनका मेडिकल चेक अप हुआ। उनकी गिरफ्तारी बुधवार को लंबी पूछताछ के बाद NCB ने की थी। दरअसल, ड्रग्स और बॉलीवुड से जुड़े मामलों की जाँच के दौरान एनसीबी को यह पता चला था कि इस मामले के एक आरोपित और समीर खान के बीच रुपयों का ऑनलाइन लेन-देन हुआ है।

इस मामले में ब्रिटिश नागरिक करण सजनानी और दो अन्य आरोपितों को पिछले हफ्ते 200 किलो प्रतिबंधित ड्रग्स के साथ गिरफ्तार किया गया था। दो अन्य आरोपितों में रहिला फर्नीचरवाला और उनकी बहन शाइस्ता फर्नीचरवाला थे। रहीला फर्नीचरवाला कार्यकर्ता और फिल्म अभिनेत्री दीया मिर्जा के पूर्व प्रबंधक हैं। समीर खान की गिरफ्तारी के बाद, एनसीबी ने ड्रग्स मामले में जाँच तेज कर दी है और एनसीबी की कई टीमें कल रात से मुंबई में छापेमारी कर रही हैं।

गौरतलब है कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की जाँच से सामने आए ड्रग केस में अब तक कई लोग गिरफ्तार हो चुके हैं। हाल में मुच्छड़ पानवाला इस संबंध में गिरफ्तार हुए थे। अर्जुन रामपाल की बहन कोमल राजपूत से भी इस संबंध में पूछताछ की गई थी। वहीं अर्जुन रामपाल से खुद इस केस में 13 नवंबर को जरूरी सवाल किए गए थे।

बता दें कि इसी ड्रग केस को रिपब्लिक मीडिया समूह ने प्रमुखता से अपने टीवी चैनल पर चलाया था। इसके बाद महाराष्ट्र सरकार पर भी कई तरह के सवाल उठे और एडिटर अर्नब गोस्वामी पर उद्धव सरकार शिकंजा कसती गई। पिछले साल अक्टूबर महीने के दौरान महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और एनसीपी नेता ने दावा किया था कि रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्णब गोस्वामी खुद पर लगे आरोपों और महाराष्ट्र सरकार द्वारा दर्ज कराए गए मामलों से निराश होकर आत्महत्या कर लेंगे।

एक स्टिंग ऑपरेशन में नवाब मलिक ने अर्णब के बारे में कहा था, “इस आदमी को बहुत परेशानियाँ मिलने वाली हैं। मुझे इस बात से डर लगता है कि ये आदमी खुद उस ज़ोन में चला जाएगा। ये पागलपन है और ये फोबिया बन जाता है। यही फोबिया एक समय के बाद दिवालिएपन में तब्दील हो जाएगा।”   

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जो पुराना फोन आप यूज नहीं करते उसके बारे में मुझे बताइए… कहीं अपनी ‘दुकानदारी’ में आपकी गर्दन न नपवा दे न्यूजलॉन्ड्री वाला ‘झबरा’

अभिनंदन सेखरी ने बताया है कि वह फोन यहाँ बेघर लोगों को देने जा रहा है। ऐसे में फोन देने वाले को नहीं पता होगा कि फोन किसके पास जा रहा है।

कौन हैं पुणे के रईसजादे को बेल देने वाले एलएन दावड़े, अब मीडिया से रहे भाग: जिसने 2 को कुचल कर मार डाला उसे...

पुणे पोर्श कार के आरोपित को बेल देने वाले डॉक्टर एल एन दावड़े की एक वीडियो सामने आई है इसमें वो मीडिया से भाग रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -