Tuesday, April 23, 2024
Homeदेश-समाजरिया चकवर्ती की जमानत को NCB ने सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौती, सुशांत सिंह...

रिया चकवर्ती की जमानत को NCB ने सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौती, सुशांत सिंह केस से जुड़े ड्रग्स मामले में चार्जशीट भी कर चुकी है फाइल

बॉम्बे हाई कोर्ट ने रिया चक्रवर्ती को 1 लाख रुपए के निजी मुचलके पर जमानत दी थी। एनसीबी की चार्जशीट में रिया और उसके भाई शौविक सहित 33 लोग आरोपित हैं।

सुशांत सिंह राजपूत मामले में उनकी गर्लफ्रेंड रही रिया चकवर्ती की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने रिया की जमानत के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। ड्रग्स मामले में गिरफ्तार की गई रिया को बॉम्बे हाई कोर्ट ने जमानत दे दी थी। 18 मार्च को मुख्य न्यायाधीश मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे, जस्टिस एएस बोपन्ना और वी रामासुब्रमण्यम की खंडपीठ द्वारा एनसीबी की याचिका पर सुनवाई किए जाने की संभावना है।

पिछले दिनों इस मामले में NCB ने विशेष एनडीपीएस (NDPS) कोर्ट में चार्जशीट दायर की थी। इसमें 33 लोग आरोपित बनाए गए हैं। जिनमें रिया चकवर्ती और उसके भाई शौविक का नाम भी शामिल है। चार्जशीट में 200 चश्मदीदों के बयान का उल्लेख है। चार्जशीट 12000 से अधिक पन्नों का है। करीब 50 हजार पन्ने डिजिटल फॉर्मेट में भी कोर्ट के सामने पेश किया गया था।

एनसीबी ने पिछले साल अगस्त में सुशांत की मौत मामले में ड्रग्स कनेक्शन को लेकर दो मामले दर्ज किए थे। इसके बाद एजेंसी ने रिया, उसके भाई शौविक और अन्य को गिरफ्तार किया था। ये अभी जमानत पर बाहर हैं। एनसीबी ने सारा अली खान, श्रद्धा कपूर, रकुल प्रीत सिंह, दीपिका पादुकोण और उनकी मैनेजर रहीं करिश्मा प्रकाश जैसों से भी पूछताछ की थी।

कोर्ट ने रिया चक्रवर्ती को 1 लाख रुपए के निजी मुचलके पर जमानत दी थी। कोर्ट ने कहा था कि रिया को 10 दिनों में एक बार पुलिस स्टेशन जाकर हाजिरी लगानी होगी और जेल से रिहा होने के बाद अपना पासपोर्ट भी जमा करना होगा। कोर्ट ने यह भी कहा था कि वह बिना अनुमति के विदेश यात्रा पर नहीं जा सकती हैं और मुंबई छोड़ने से पहले जाँच अधिकारी को सूचित करना होगा

सुशांत सिंह राजपूत 14 जून 2020 को ब्रांदा के अपने फ्लैट में फंदे से लटके मिले थे। सीबीआई इस मामले के जाँच कर रही है। मामले में मनी लॉन्ड्रिंग के ऐंगल की जाँच के दौरान प्रवर्तन निदेशालय (ED) को बॉलीवुड सेलिब्रिटीज और ड्रग पैडलर्स के बीच कनेक्शन मिले थे। इसके बाद एनसीबी ने कार्रवाई करते हुए कई जगहों पर छापेमारी और गिरफ्तारियाँ की थी।  

उस समय मीडिया रिपोर्टों से यह बात सामने आई थी कि रिया चक्रवर्ती के व्हाट्सऐप चैट ईडी ने सीबीआई और एनसीबी को सौंपे थे। कथित तौर पर रिया की चैट से पता चला था कि वह ड्रग्स का ‘इस्तेमाल और डीलिंग’ करती थीं।

पिछले साल दिसंबर में सीबीआई ने बताया था कि हर एंगल से जाँच की जा रही है और एजेंसी ने किसी भी पहलू को नकारा नहीं है। जाँच एजेंसी ने बताया था कि वह पूरे प्रोफेशनल तरीके से वैज्ञानिक तकनीकों का सहारा लेते हुए जाँच में आगे बढ़ रही है। राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी के पत्र के जवाब में सीबीआई ने यह बात कही थी

CBI ने कहा था कि इस मामले में जुलाई 25, 2020 को पटना के राजीव नगर थाने में सुशांत के पिता केके सिंह की शिकायत के बाद FIR दर्ज की गई थी। इसके बाद बिहार सरकार की सिफारिश के बाद इस मामले की सीबीआई जाँच के लिए एजेंसी को सौंपी गई। एजेंसी ने बताया था कि परिस्थितियों को बेहतर ढंग से समझने के लिए वरिष्ठ अधिकारियों ने कई बार घटनास्थल का दौरा किया और फॉरेंसिक एक्सपर्ट्स की देखरेख में घटनास्थल का निरीक्षण हुआ।

जाँच एजेंसी ने बताया था, “फॉरेंसिक एक्सपर्ट्स ने कूपर हॉस्पिटल का भी दौरा किया और किया और जाना कि पोस्टमॉर्टम के लिए किन प्रक्रियाओं को अपनाया गया था। पीड़ित परिजनों और अन्य सूत्रों ने जो भी आपत्ति दर्ज कराई, उस पर जाँच की गई। सभी सम्बंधित गवाहों से पूछताछ हुई। सेल टॉवर लोकेशन और डिजिटल उपकरणों के डेटा की जाँच के लिए लेटेस्ट तकनीक का इस्तेमाल किया गया। जाँच टीम अलीगढ़, फरीदाबाद, हैदराबाद, मुंबई, मानेसर (गुरुग्राम) और पटना – हर सम्बंधित जगह गई।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘नरेंद्र मोदी ने गुजरात CM रहते मुस्लिमों को OBC सूची में जोड़ा’: आधा-अधूरा वीडियो शेयर कर झूठ फैला रहे कॉन्ग्रेसी हैंडल्स, सच सहन नहीं...

कॉन्ग्रेस के शासनकाल में ही कलाल मुस्लिमों को OBC का दर्जा दे दिया गया था, लेकिन इसी जाति के हिन्दुओं को इस सूची में स्थान पाने के लिए नरेंद्र मोदी के मुख्यमंत्री बनने तक का इंतज़ार करना पड़ा।

‘खुद को भगवान राम से भी बड़ा समझती है कॉन्ग्रेस, उसके राज में बढ़ी माओवादी हिंसा’: छत्तीसगढ़ के महासमुंद और जांजगीर-चांपा में बोले PM...

PM नरेंद्र मोदी ने आरोप लगाया कि कॉन्ग्रेस खुद को भगवान राम से भी बड़ा मानती है। उन्होंने कहा कि जब तक भाजपा सरकार है, तब तक आपके हक का पैसा सीधे आपके खाते में पहुँचता रहेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe