Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाजगढ़चिरौली नक्सली हमले में NCP नेता गिरफ़्तार, 1 नागरिक समेत 16 पुलिसकर्मी हुए थे...

गढ़चिरौली नक्सली हमले में NCP नेता गिरफ़्तार, 1 नागरिक समेत 16 पुलिसकर्मी हुए थे ब्लास्ट का शिकार

अगले 2-3 दिनों में गढ़चिरौली पुलिस NIA को जाँच सौंप देगी। यह पूछे जाने पर कि NIA को जाँच क्यों सौंपी जा रही है, गढ़चिरौली के पुलिस अधीक्षक शैलेश बलकवडे ने कहा कि NIA ने कुछ नक्सली मामलों को उठाने का फ़ैसला किया है। उन्होंने कहा, "उन्होंने छत्तीसगढ़ और झारखंड में भी कुछ मामले उठाए हैं।"

राष्ट्रवादी कॉन्ग्रेस पार्टी (NCP) के कुरखेड़ा तहसील अध्यक्ष, कैलाश रामचंदानी को गढ़चिरौली में IED ब्लास्ट मामले में गिरफ़्तार किया गया। इस हमले में 15 पुलिसकर्मी और एक नागरिक मारे गए थे। इस विस्फोट मामले को स्थानीय पुलिस द्वारा राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (NIA) को सौंप दिया जाएगा।

ख़बर के अनुसार, महाराष्ट्र के गढ़चिरौली ज़िले में नक्सलियों द्वारा एक सुरक्षा वाहन को निशाना बनाया गया था। नक्सलियों ने कुरखेड़ा तहसील में उस समय IED ब्लास्ट किया था जब राज्य अपना स्थापना दिवस मना रहा था। इस ब्लास्ट में 15 पुलिसकर्मियों और एक नागरिक की जान चली गई थी।

इससे पहले, इस मामले में गढ़चिरौली पुलिस ने टॉप नक्सली कमांडर नर्मदक्का और उसके पति किरण कुमार को गिरफ़्तार किया था। उनके द्वारा उपलब्ध कराए गए इनपुट और उपलब्ध तकनीकी साक्ष्यों के आधार पर पुलिस ने दिलीप हिदामी, परसाराम तुलवी, सोमनाथ मडावी, किसान हिडामी और सुक्रु गोटा को भी गिरफ़्तार किया।

इन 5 आरोपितों को हिरासत में लेने के बाद, उनके पूछताछ के बाद कुरखेड़ा तहसील अध्यक्ष, कैलाश रामचंदानी का नाम हमले में शामिल होने का पता चला। कैलाश एक इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकान के मालिक हैं और पिछले कई महीनों से NCP के ज़िला अध्यक्ष के रूप में कार्य कर रहे हैं। पुलिस का मानना है कि इस धमाके में कई अन्य बड़े नाम भी शामिल हो सकते हैं।

अगले 2-3 दिनों में गढ़चिरौली पुलिस NIA को जाँच सौंप देगी। यह पूछे जाने पर कि NIA को जाँच क्यों सौंपी जा रही है, गढ़चिरौली के पुलिस अधीक्षक शैलेश बलकवडे ने कहा कि NIA ने कुछ नक्सली मामलों को उठाने का फ़ैसला किया है। उन्होंने कहा, “उन्होंने छत्तीसगढ़ और झारखंड में भी कुछ मामले उठाए हैं।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

काँवड़ यात्रा पर किसी भी हमले के लिए मोहम्मद जुबैर होगा जिम्मेदार: यशवीर महाराज ने ‘सेकुलर’-इस्लामी रुदालियों पर बोला हमला, ढाबों मालिकों की सूची...

स्वामी यशवीर महाराज ने 18 जुलाई 2024 को एक वीडियो बयान जारी कर इस्लामिक कट्टरपंथियों और तथाकथित 'सेकुलरों' को आड़े हाथों लिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -