Thursday, July 25, 2024
Homeदेश-समाज4 लोगों को मारने के लिए PFI ने बनाई कट्टरपंथियों की 'सर्विस टीम', हत्यारों...

4 लोगों को मारने के लिए PFI ने बनाई कट्टरपंथियों की ‘सर्विस टीम’, हत्यारों को दी ट्रेनिंग: कर्नाटक में BJP नेता प्रवीण नेट्टारू की हत्या केस में 20 के खिलाफ चार्जशीट दायर

NIA के मुताबिक बिहार के फुलवारी शरीफ में पकड़े गए आरोपितों की तरह प्रवीण नेट्टारू के हत्यारोपित भी साल 2047 तक भारत में इस्लामी कानून लागू करने का टारगेट ले कर चल रहे थे। चिन्हित किए गए लोगों की हत्या के लिए बनाए गए अलग से दल का नाम 'सर्विस टीम' रखा गया था।

कर्नाटक में प्रतिबंधित PFI (पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया) के आतंकियों द्वारा मारे गए भाजपा युवा मोर्चा (BJYM) कार्यकर्ता प्रवीण नेट्टारू (Praveen Nettaru) हत्याकांड में राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (NIA) ने चार्जशीट दाखिल कर दी है। यह चार्जशीट में PFI के 20 सदस्यों के खिलाफ दाखिल हुई है। इस चार्जशीट के मुताबिक आरोपितों ने चिन्हित किए गए लोगों की हत्या करने के लिए बाकायदा एक टीम बनाई थी। चार्जशीट में यह भी बताया गया है कि सभी आरोपित देश में इस्लामी कानून लागू करने की साजिश रच रहे थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक NIA द्वारा दायर चार्जशीट में बताया गया है कि जाँच के दौरान उन्हें आरोपितों के देश में साम्प्रदायिक तनाव और हिंसा फैलाने की साजिश का पता चला। बताया गया है कि आरोपित अपनी करतूतों से समाज को अस्थिर करना चाह रहे थे। NIA के मुताबिक बिहार के फुलवारी शरीफ में पकड़े गए आरोपितों की तरह प्रवीण नेट्टारू के हत्यारोपित भी साल 2047 तक भारत में इस्लामी कानून लागू करने का टारगेट ले कर चल रहे थे। चिन्हित किए गए लोगों की हत्या के लिए बनाए गए अलग से दल का नाम ‘सर्विस टीम’ रखा गया था।

NIA के अनुसार PFI की ‘सर्विस टीम’ न सिर्फ कत्ल के लिए टारगेट चुन रही थी बल्कि उसे अंजाम देने वालों को ट्रेनिंग भी दे रही थी। प्रवीण नेट्टारू की हत्या के बाबत चार्जशीट में बताया गया है कि सर्विस टीम द्वारा कुल 4 लोगों को चिन्हित किया गया था। इसके बाद नेट्टारू की 26 जुलाई 2022 को हत्या कर दी गई। हत्या से पहले सभी आरोपितों की मीटिंग बेंगलुरु के सुल्लिया टाउन में हुई थी। इस मीटिंग में सर्विस टीम के जिला प्रमुख मुस्तफा को किसी ख़ास व्यक्ति को चिन्हित कर के मारने के निर्देश मिले थे।

NIA ने इस केस में अभी तक जिन आरोपितों के खिलाफ चार्जशीट लगाई है उनके नाम मोहम्मद शियाब, मुस्तफा पैचार, ए बशीर, रियाज़, मसूद, मोहम्मद शरीफ, अबू बकर सिद्दीक, नौफाल, इस्माइल, इकबाल, शहीद, मोहम्मद शफीक, उमर फारूक, अब्दुल कबीर, मोहम्मद ईशा, आबिद, शेख हुसैन, ज़ाकिर, अब्दुल हरिस और तुफैल हैं। फिलहाल मुस्तफा पैचार, मसूद, मोहम्मद शरीफ, अबू बकर सिद्दीक, उमर फारूक और तुफैल फरार चल रहे हैं। इन आरोपितों को गिरफ्तार करवाने वाले पर NIA ने इनाम भी घोषित किया है।

जानकारी के मुताबिक मोहम्म्द शरीफ और मसूद की गिरफ्तारी में मदद करने वाले को 5-5 लाख रुपए का इनाम दिया जाएगा। सूचना देने का नाम भी गुप्त रखा जाएगा। दोनों आरोपित दक्षिण कन्नड़ जिले के निवासी बताए जा रहे हैं। NIA ने दोनों की तस्वीरें भी जारी की हैं।

गौरतलब है कि भाजपा नेता प्रवीण नेट्टारू की हत्या में आरोपित एक व्यक्ति शफीक के अब्बा प्रवीण की ही दुकान पर लम्बे समय से काम कर रहे थे। शफीक का प्रवीण के घर भी आना-जाना बताया जा रहा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -