Tuesday, October 19, 2021
Homeदेश-समाजकोरोना से हुई मौत... तो परिजनों को नहीं मिलेंगे ₹4 लाख: इलाज में SDRF...

कोरोना से हुई मौत… तो परिजनों को नहीं मिलेंगे ₹4 लाख: इलाज में SDRF फंड से किया जाएगा खर्च

स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि देश में अब तक सामने आए 83 मामलों में 17 विदेशी नागरिक शामिल हैं। इनमें इटली के 16 पर्यटक और कनाडा का एक नागरिक है।

देश में कोरोना संक्रमण के 83 मामलों की अब तक पुष्टि हो चुकी है। दो मौतें भी हुई हैं। इसका प्रसार रोकने के लिए केंद्र सरकार कई तरह के कदम उठा रही है। इसी कड़ी में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोविड-19 को आपदा घोषित कर दिया है। इससे पीड़ितों को स्टेट डिजास्टर रेस्पॉन्स फंड यानी एसडीआरएफ के अंतर्गत मदद करने का रास्ता खुलेगा।

केंद्रीय गृह मंत्रालय के हवाले से न्यूज एजेंसी एएनआई ने बताया था कि अब इस वायरस के संक्रमण से यदि मौत होती है तो मृतक के परिजनों को चार लाख रुपए की मदद दी जाएगी। इससे निपटने के अभियान या इससे जुड़ी अन्य गतिविधि के दौरान मौत होने पर भी परिजनों को इतने की ही आर्थिक मदद दी जाएगी। अब केंद्र सरकार ने कहा है कि कोरोना के संक्रमण से मौत होने पर ऐसा कोई मुआवजा नहीं मिलेगा। सरकार अब इन रुपयों का इस्तेमाल क्वारंटाइन (इलाज), सैम्पल कलेक्शन और स्क्रीनिंग के लिए करेगी। अब एसडीआरएफ फंड का ही इस्तेमाल कोरोना से संक्रमित लोगों के लिहाज के लिए ज़रूरी उपकरण व सामान ख़रीदने हेतु भी किए जाएँगे।

कोरोना से दिल्ली और कर्नाटक में अब तक एक-एक मौत के मामले सामने आए हैं। सऊदी अरब से हाल में लौटे कलबुर्गी के 76 वर्षीय एक व्यक्ति की गुरुवार को मौत हो गई थी। वहीं, दिल्ली की 68 वर्षीय एक महिला की शुक्रवार रात राम मनोहर लोहिया अस्पताल में मौत हो गई। स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि देश में अब तक सामने आए 83 मामलों में 17 विदेशी नागरिक शामिल हैं। इनमें इटली के 16 पर्यटक और कनाडा का एक नागरिक है।

इसका प्रसार रोकने के लिए भारत ने एक तरह से खुद को दुनिया से अलग-थलग कर लिया है। 15 अप्रैल तक यात्री वीजा सस्पेंड कर दिया है। साथ ही अपने नागरिकों को भी विदेश यात्रा से बचने की सलाह दी है। कई राज्यों में कोरोना वायरस के चलते स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए हैं। वहीं उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, दिल्ली, कर्नाटक, समेत देश के कई राज्यों में सिनेमा हॉल और सभाओं पर भी इस वायरस से होते संक्रमण के चलते पाबंदियाँ लगा दी गई हैं। दिल्ली में इसे महामारी घोषित किया जा चुका है तथा कर्नाटक में शादी समारोह पर भी रोक लगा दी गई है।

गौरतलब है कि चीन के वुहान शहर से यह संक्रमण शुरू हुआ था। अब तक दुनिया के 114 देश इसकी चपेट में आ चुके हैं। कोरोना वायरस संक्रमण 5,000 से अधिक लोगों की जान ले चुका है। दुनियाभर में 1,34,300 से ज्यादा लोग इससे संक्रमित हैं। यही कारण है कि WHO ने बुधवार को इसे वैश्विक महामारी घोषित कर दिया था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘335 मंदिरों पर हमले, मुस्लिम भीड़ ने 1800 हिन्दुओं का जला दिया घर’: बांग्लादेश के हिन्दुओं की ऐसे मदद कर सकते हैं आप

पूरे बांग्लादेश के अलग-अलग इलाकों में हिन्दू हमले का शिकार हो रहे हैं। उन्हें घर, भोजन और सुरक्षा चाहिए। अगर आप उनकी मदद करना चाहते हैं तो ऐसे करें।

क्रिएटिविटी के नाम पर हिन्दुओं की धार्मिक भावनाओं से खिलवाड़ कब तक, ऐसे उत्पादों या कंपनियों का आर्थिक बहिष्कार जरूरी

अपने विरुद्ध किए जाने वाले प्रोपेगंडा और चलाए जाने वाले एजेंडा के विरुद्ध आज भी हिंदुओं का सबसे बड़ा हथियार आर्थिक विरोध है और इसके लिए उनका आभार प्रकट किया जाना चाहिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,963FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe