Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाजनाबालिग पहलवान का नहीं हुआ था यौन शोषण: पिता बोले- बृजभूषण ने मेरी बेटी...

नाबालिग पहलवान का नहीं हुआ था यौन शोषण: पिता बोले- बृजभूषण ने मेरी बेटी से भेदभाव किया, गुस्से में दर्ज कराई थी शिकायत

"बेटी के साथ भेदभाव के कारण हमारे अंदर गुस्सा था। फेडरेशन ने हमारी अपील नहीं सुनी। हमने पुलिस को जो शिकायत दी थी, उसमें कुछ सच और कुछ गलत था। सही और गलत को कोर्ट में जाकर स्पष्ट कर दिया है।"

भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) के पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह (Brij Bhushan Sharan Singh) ने नाबालिग महिला पहलवान का यौन शोषण नहीं किया था। यह बात मीडिया रिपोर्टों में नाबालिग पहलवान के पिता के हवाले से कहा गया है। पिता का कहना है कि उनकी बेटी के साथ भेदभाव हुआ था। उन्होंने गुस्से में आकर शिकायत दर्ज कराई थी।

नाबालिग पहलवान द्वारा यौन शोषण के आरोप वापस लेने की खबरें ऐसे समय में आई है, जब केंद्र सरकार ने पहलवानों को 15 जून तक जाँच पूरा होने का भरोसा दिलाया है। वैसे इससे पहले भी मीडिया में इस तरह की खबरें आईं थी कि नाबालिग पहलवान ने कोर्ट से शिकायत वापस ले ली है। लेकिन तब इस पहलवान के पिता ने ऐसी खबरों को खारिज कर दिया था।

दैनिक भास्कर से बातचीत में नाबालिग पहलवान के पिता ने कहा, “बेटी के साथ भेदभाव के कारण हमारे अंदर गुस्सा था। फेडरेशन ने हमारी अपील नहीं सुनी। हमने पुलिस को जो शिकायत दी थी, उसमें कुछ सच और कुछ गलत था। सही और गलत को कोर्ट में जाकर स्पष्ट कर दिया है।” हिंदुस्तान ने उनके हवाले से कहा है, “यौन उत्पीड़न की कोई घटना नहीं हुई। लेकिन मेरी बेटी के साथ भेदभाव किया गया। मैंने 5 जून को सुप्रीम कोर्ट में स्पष्ट कर दिया था कि महासंघ के अध्यक्ष (बृजभूषण शरण सिंह) ने किसी तरह का उत्पीड़न नहीं किया। लेकिन मैं भेदभाव की शिकायत से पीछे नहीं हट रहा।”

न्यूज 18 के साथ बातचीत में भी नाबालिग पहलवान के पिता ने बयान बदले जाने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा है, “हमने किसी लालच, डर या दबाव में बयान नहीं बदला है। यह पूरी तरह सत्य है कि मेरी बेटी नाबालिग है। हमने केस वापस नहीं लिया है। बस बयान बदला है।” आज तक से नाबालिग महिला पहलवान के पिता ने कहा है, “बृजभूषण और WFI ने एशियाई चैंपियनशिप के लिए चयन में पक्षपाती फैसले लिए थे। इससे मेरी बेटी प्रभावित हुई थी। जब पहलवान शुरू में विरोध पर बैठे तो उन्होंने गुस्से में आकर शिकायत की थी। उन्हें अब भी लगता है कि चयन प्रक्रिया में उनकी बेटी के साथ भेदभाव हुआ था।”

गौरतलब है कि पहलवानों की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने बृजभूषण सिंह के खिलाफ दो एफआईआर दर्ज कर रखी है। इनमें यौन उत्पीड़न के 15 मामलों का जिक्र है। इनमें से 10 में गलत तरीके से छूने की शिकायत की गई है। शिकायत में बिना सहमति के गलत तरीके से छूना, स्तनों और पेट पर हाथ फेरना, पीठ पर हाथ रखना, डराना-धमकाना और पीछा करना शामिल है। एक एफआईआर नाबालिग पहलवान की शिकायत पर दर्ज है। इसमें POCSO अधिनियम की धारा 10 जोड़ी गई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -