Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजछात्रों को क्लास से निकाल 2 टीचरें पढ़ती थीं नमाज, Video वायरल होने पर...

छात्रों को क्लास से निकाल 2 टीचरें पढ़ती थीं नमाज, Video वायरल होने पर बवाल: NCPCR ने माँगा रशीदिया स्कूल से जवाब, कहा- ऐसी गतिविधि नहीं करनी चाहिए

भोपाल के जहाँगीराबाद क्षेत्र के रशीदिया स्कूल में 2 महिला टीचरों पर आरोप है कि वो क्लास में नमाज पढ़ रहीं थीं। नमाज़ से पहले उन्होंने अपनी क्लास में पढ़ रहे सभी बच्चों को बाहर निकाल दिया था। वहीं उसी स्कूल में बाकी क्लास के अन्य टीचर सामान्य तौर पर पढ़ाई करवाते मिले।

मध्य प्रदेश के भोपाल में एक सरकारी स्कूल के अंदर नमाज़ पढ़ने का मामला सामने आया है। यह नमाज़ 2 टीचरों द्वारा बच्चों को क्लास से बाहर निकाल कर पढ़ी गई है। जानकारी के मुताबिक ऐसा हर दिन होता रहता है। मामला मंगलवार (28 फरवरी 2023) को प्रकाश में आया। राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग के अध्यक्ष प्रियांक कानूनगो ने इस घटना का संज्ञान लिया है। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को नोटिस भेज कर मामले में जवाब तलब किया है।

दैनिक भास्कर के मुताबिक, मामला भोपाल के जहाँगीराबाद क्षेत्र में आने वाले मॉडल सीएम राइज रशीदिया स्कूल का है। यहाँ की 2 महिला टीचरों पर आरोप है कि वो क्लास में नमाज पढ़ रहीं थीं। नमाज़ से पहले उन्होंने अपनी क्लास में पढ़ रहे सभी बच्चों को बाहर निकाल दिया था। वहीं उसी स्कूल में बाकी क्लास के अन्य टीचर सामान्य तौर पर पढ़ाई करवाते मिले। बताया जा रहा है कि दोनों टीचर की ये रोज की हरकत थी। मंगलवार को किसी ने इसका वीडियो बना लिया। दावा किया गया है कि दोनों टीचर हर दिन बच्चों को बाहर कर के नमाज़ पढ़ती हैं। शुक्रवार यानी जुमे के दिन उसी स्कूल कैम्पस में बच्चों को भी नमाज़ पढ़ाई जाती है।

बताते चलें कि जिस रशीदिया स्कूल में नमाज़ पढ़ने की जानकारी सामने आई है उसे मध्य प्रदेश में सीएम राइज के तौर पर पहले स्कूल के रूप में चुना गया था। राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग के अध्यक्ष प्रियांक कानूनगो ने इस घटना का संज्ञान लिया है। उन्होंने नोटिस भेज कर संबंधित अधिकारियों से जवाब माँगा है। 1 मार्च 2023 को किए गए अपने ट्वीट में प्रियांक ने लिखा, “बच्चों की पढ़ाई के मूल कार्य को रोक कर इस तरह की गतिविधि नहीं करनी चाहिए।”

गौरतलब है कि अक्टूबर 2021 में भोपाल की भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने वहाँ के केंद्रीय विद्यालय में नमाज़ होने का आरोप लगा कर आपत्ति दर्ज करवाई थी। तब उन्होंने आरोप लगाया था कि केंद्रीय विद्यालय में अवैध मस्जिद भी बनी है जहाँ बाहरी लोग नमाज़ पढ़ने आया करते हैं। भाजपा सांसद ने इसे स्कूल की छात्राओं के लिए असुरक्षित बताया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पुरी के जगन्नाथ मंदिर का 46 साल बाद खुला रत्न भंडार: 7 अलमारी-संदूकों में भरे मिले सोने-चाँदी, जानिए कहाँ से आए इतने रत्न एवं...

ओडिशा के पुरी स्थित महाप्रभु जगन्नाथ मंदिर के भीतरी रत्न भंडार में रखा खजाना गुरुवार (18 जुलाई) को महाराजा गजपति की निगरानी में निकाल गया।

1 साल में बढ़े 80 हजार वोटर, जिनमें 70 हजार का मजहब ‘इस्लाम’, क्या याद है आपको मंगलदोई? डेमोग्राफी चेंज के खिलाफ असम के...

असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने तथ्यों को आधार बनाते हुए चिंता जाहिर की है कि राज्य 2044 नहीं तो 2051 तक मुस्लिम बहुल हो जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -