Monday, May 16, 2022
Homeदेश-समाजPFI सदस्यों ने बना रखी थी हिटलिस्ट, बीजेपी-RSS से जुड़े 100 लोगों के नाम:...

PFI सदस्यों ने बना रखी थी हिटलिस्ट, बीजेपी-RSS से जुड़े 100 लोगों के नाम: केरल में स्वयंसेवक की हत्या की जाँच से खुलासा

श्रीनिवासन की हत्या केस में गिरफ्तार मुख्य आरोपित मोहम्मद बिलाल, मोहम्मद रिज़वान, रियासुद्दीन और सहद ने पुलिस ने आगे अपना जुर्म कबूल किया है।

इस्लामी कट्टरपंथी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के सदस्यों ने एक हिटलिस्ट बना रखी थी। इसमें बीजेपी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) से जुड़े कम से कम 100 लोगों के नाम थे। इनकी हत्या की जानी थी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार यह खुलासा RSS कार्यकर्ता एसके श्रीनिवासन की हत्या की जाँच के दौरान हुआ है।

जनम TV की रिपोर्ट के मुताबिक यह लिस्ट श्रीनिवासन की हत्या के मामले में गिरफ्तार आरोपित के मोबाइल से मिली है। श्रीनिवासन का नाम भी इस लिस्ट में था। इस लिस्ट में बीजेपी के केरल राज्य महासचिव सी कृष्णकुमार का नाम भी शामिल बताया जा रहा है। भाजपा के युवा नेता प्रशांत सिवान का नाम भी इसमें मिला है।

रिपोर्ट के मुताबिक आरोपितों ने पूछताछ में बताया कि भाजपा और संघ के नेताओं की हत्या के पीछे उनका मकसद PFI सदस्य जुबेर की हत्या का बदला लेना है। दावा ये भी किया जा रहा है कि PFI के सीनियर लोगों को भाजपा नेताओं पर हमलों की जानकारी है। श्रीनिवासन की हत्या केस में गिरफ्तार मुख्य आरोपित मोहम्मद बिलाल, मोहम्मद रिज़वान, रियासुद्दीन और सहद ने पुलिस ने आगे अपना जुर्म कबूल किया।

आरोपितों ने माना है कि वो पलक्कड़ संघ नेता की हत्या के उद्देश्य से ही आए थे। बताया जा रहा है कि PFI के नेताओं ने आरोपितों को संघ और भाजपा नेताओं को 24 घंटे में खत्म करने के आदेश दिए थे। इस लिस्ट में शामिल श्रीनिवासन पहले शिकार बने। केरल पुलिस ने PFI की लिस्ट को गंभीरता से लिया है।

RSS कार्यकर्ता श्रीनिवासन की हत्या

गौरतलब है कि 16 अप्रैल 2022 को PFI के सदस्यों ने केरल के पलक्कड़ में संघ कार्यकर्ता श्रीनिवासन की दिनदहाड़े हत्या कर दी थी। हमलावरों की संख्या 5 से 6 के बीच बताई थी जो 3 बाइकों से आए थे। इन सभी ने श्रीनिवासन की मेलमुरी इलाके में स्थित दुकान में घुस कर उन पर धारदार हथियारों से कई वार किए। अस्पताल ले जाते हुए श्रीनिवासन की मौत हो गई। बाद में पुलिस ने इस घटना में शामिल बताए जा रहे PFI की राजनैतिक शाखा SDPI के बिलाल, रिज़वान, रियासुद्दीन और सहद को गिरफ्तार किया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तहखाना नहीं मंदिर का मंडपम कहिए, भव्य है पन्ना पत्थर का शिवलिंग’: सर्वे पर भड़की महबूबा मुफ्ती, बोलीं- ‘इनको मस्जिद में ही मिलते हैं...

"आज ये मस्जिद, कल वो मस्जिद, मैं अपने मुस्लिम भाइयों से बोलती हूँ एक ही बार ये हमें मस्जिदों की लिस्ट बताएँ, जिस पर इनकी नजर है।"

नेपाल बिना तो हमारे राम भी अधूरे हैं: प्रधानमंत्री मोदी ने ‘बुद्ध की धरती’ पर समझाई भारत से दोस्ती की अहमियत, कहा- यही मानवता...

अपनी नेपाल यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किए मायादेवी मंदिर के दर्शन और भारत और नेपाल को एक दूसरे के बिना अधूरा बताया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,091FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe