Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाज'शौहर दोपहर और शाम को बहुत मारता है, हाथ-पाँव बाँध कर...': बेटी होने पर...

‘शौहर दोपहर और शाम को बहुत मारता है, हाथ-पाँव बाँध कर…’: बेटी होने पर ससुराल वालों ने ;पिंकी खातून को ज़हर दे दिया, सास-ससुर भी करते थे टॉर्चर

महिला ने आरोप लगाया कि उसका हाथ-पाँव बाँध दिया गया और फिर मुँह में जबरदस्ती बैंगन के खेत में डालने वाला ज़हर डाल दिया गया।

बिहार के कटिहार में पिंकी खातून नामक एक महिला को बेटी को जन्म देने के कारण अपने ही परिवार द्वारा प्रताड़ित किए जाने का मामला सामने आया है। महिला ने बताया कि उसका शौहर उसकी बहुत पिटाई करता है, दिन में बस एक बार खाने के लिए देता है। कभी दोपहर में तो कभी शाम को ही पीटने लगता है। पीड़िता ने बताया कि उसे सोने तक नहीं दिया जाता है, जमीन पर लेटने को कहा जाता है। प्रताड़ना देने में सास, ससुर और शौहर – सब मिले हुए हैं।

महिला ने आरोप लगाया कि उसका हाथ-पाँव बाँध दिया गया और फिर मुँह में जबरदस्ती बैंगन के खेत में डालने वाला ज़हर डाल दिया गया। बकौल पिंकी खातून, उसके ससुराल वालों की साजिश है कि उसकी हत्या कर के उसके शौहर मोहम्मद तस्लीम का निकाह कहीं और करा दिया जाए। ये सब इसीलिए किया जा रहा है क्योंकि उसने बेटा नहीं, बेटी को जन्म दिया है। इतना ही नहीं, आरोप है कि छोटी सी बच्ची को भी मारने के लिए ये लोग गन्ने के खेत में लेकर गए थे, लेकिन पीड़िता ने किसी तरह अपनी बेटी को बचाया।

ससुराल वाले अब बहू को अस्पताल में छोड़ कर फरार हो गए हैं। घटना कटिहार के बरारी प्रखंड की है। आरोप है कि बेटी होने पर ससुराल वालों ने बहू को ज़हरीला पदार्थ खिला दिया और उसकी हत्या करने की कोशिश की। पिंकी खातून का इलाज कटिहार के सदर अस्पताल में चल रहा है। वो अनारकली गाँव की रहने वाली है, जिसका निकाह दुर्गापुर के मोहम्मद तस्लीम से 2021 में धूमधाम से किया गया था। अम्मी-अब्बू ने जम कर दहेज़ भी दिया था।

पिंकी खातून का कहना है कि 2 साल तक ससुराल में उसके साथ अच्छा व्यवहार हुआ, लेकिन बेटी के जन्म के बाद शौहर के साथ-साथ सास साजिमा खातून और ससुर जयदुल हक इन सभी ने मिल कर मारपीट शुरू कर दी। जो सास, ससुर और पति प्यार करते थे वही अब उसकी पिटाई करने लगे। पिंकी खातून के साथ ऐसा किया जा रहा था, ताकि वो खुद घर छोड़ कर चली जाए। ऐसा नहीं हुआ तो ज़हर दे दिया। अस्पताल में इलाज के बाद किसी तरह पीड़िता की जान बच गई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आरक्षण पर बांग्लादेश में हो रही हत्याएँ, सीख भारत के लिए: परिवार और जाति-विशेष से बाहर निकले रिजर्वेशन का जिन्न

बांग्लादेश में आरक्षण के खिलाफ छात्र सड़कों पर उतर आए हैं। वहाँ सेना को तैनात किया गया है। इससे भारत को सीख लेने की जरूरत है।

कर्नाटक के बाद अब तमिलनाडु में YouTuber अजीत भारती के खिलाफ FIR, कॉन्ग्रेस नेता सैमुअल MC ने की शिकायत: राहुल गाँधी से जुड़ा है...

"कर्नाटक उच्च न्यायालय ने स्थगन का आदेश दे रखा है, उस पर कथित घटना और केस पर स्टे के बाद, वापस दूसरे राज्य में केस करना क्या बताता है? "

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -