Wednesday, June 19, 2024
Homeराजनीतिकॉन्ग्रेस सांसद के ₹200 करोड़ PM मोदी ने देश को दिखाया, कहा - पाई-पाई...

कॉन्ग्रेस सांसद के ₹200 करोड़ PM मोदी ने देश को दिखाया, कहा – पाई-पाई लौटानी पड़ेगी: यूजर्स बोले इमोजी हुआ अब EMODI

धीरज साहू के रिश्तेदार वर्षों से शराब के कारोबार में है। इनमें से एक कंपनी है 'बलदेव साहू एन्ड ग्रुप ऑफ कंपनीज'। 40 साल पहले इसने ओडिशा में देशी शराब बनानी शुरू की गई थी।

झारखंड में कॉन्ग्रेस सांसद धीरज साहू के ठिकाने से 200 करोड़ रुपए नकद बरामद किए गए हैं, जिसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस पर निशाना साधा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस खबर को शेयर करते हुए लिखा, “देशवासी इन नोटों के ढेर को देखें और फिर इनके नेताओं के ईमानदारी के ‘भाषणों’ को सुनें। जनता से जो लूटा है, उसकी पाई-पाई लौटानी पड़ेगी, यह मोदी की गारंटी है।” इस ट्वीट में उन्होंने इमोजी भी लगाई है, जो चर्चा का विषय बन रहा है। लोग कहने लगे कि अब से इमोजी को ‘इमोडी’ कहा जाना चाहिए।

इससे पहले मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कॉन्ग्रेस पार्टी की बुरी हार के बाद उनके द्वारा बनाए जा रहे बहानों पर ‘इंडिया टुडे’ के पत्रकार शिव अरूर ने वीडियो बनाया था, जिसे शेयर करते हुए पीएम मोदी ने इमोजी का इस्तेमाल किया था। वहीं धीरज साहू की बात करें तो पश्चिम बंगाल, ओडिशा और झारखंड में उनके 10 ठिकानों पर छापेमारी हुई है। कैश इतना ज़्यादा है कि गिनती लगातार जारी है। देश में इतनी नकदी आज तक कभी जब्त नहीं की गई।

धीरज साहू के रिश्तेदार वर्षों से शराब के कारोबार में है। इनमें से एक कंपनी है ‘बलदेव साहू एन्ड ग्रुप ऑफ कंपनीज’। 40 साल पहले इसने ओडिशा में देशी शराब बनानी शुरू की गई थी। इसी कंपनी से जुड़ी कई कंपनियाँ हैं – बौद्ध डिस्टिलरी प्राइवेट लिमिटेड (BDPL), क्वालिटी बॉटलर्स प्राइवेट लिमिटेड (QBPL) और किशोर प्रसाद विजय प्रसाद बेवरेज प्राइवेट लिमिटेड (KPVPBPL)। चतरा से 2 बार लोकसभा का चुनाव हार चुके धीरज साहू तीसरी बार राज्यसभा संसद बने हैं।

उनके पिता राय साहब बलदेव साहू भी उद्योगपति हुआ करते थे। 64 वर्षीय धीरज साहू के भाई दिवंगत शिव प्रसाद साहू राँची से लोकसभा सांसद रहे हैं। 2018 के राज्यसभा चुनाव में धीरज साहू ने अपनी संपत्ति 38 करोड़ रुपए बताई थी। उनसे जुड़ी कंपनियों के खातों को फ्रीज़ कर दिया गया है और ED की भी इस मामले में एंट्री हो सकती है। 157 बैगों में भर कर ट्रक से रुपए लाए गए हैं। झारखंड के कई अन्य कारोबारी और अधिकारी भी IT की रडार पर हैं।

झारखंड के एक अन्य उद्योगपति रामचंद्र रुंगटा (आरसी रुंगटा) के व्यापारिक समूह के 18 और उनके सहयोगी ‘ग्रीन टेक’ के 25 समेत कुल 43 ठिकानों पर छापेमारी चल रहा है। अवैध खनन और मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में CBI ने भी 8 ठिकानों पर छापेमारी की है। धीरज साहू के यहाँ 9 आलमीरों में नोटों की गड्डियाँ भरी हुई थी। वहीं झारखंड के पेयजल मंत्री और झामुमो नेता ने उनका समर्थन किया है। उन्होंने कहा है कि बिजनेसमैन के यहाँ पैसे नहीं मिलेंगे तो कहाँ मिलेंगे, उनका कच्चा व्यवसाय है और हर रोज करोड़ों रुपए आते हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

14 फसलों पर MSP की बढ़ोतरी, पवन ऊर्जा परियोजना, वाराणसी एयरपोर्ट का विस्तार, पालघर का पोर्ट होगा दुनिया के टॉप 10 में: मोदी कैबिनेट...

पालघर के वधावन पोर्ट की क्षमता अब 298 मिलियन टन यूनिट की जाएगी। इससे भारत-मिडिल ईस्ट कॉरिडोर भी मजबूत होगा। 9 कंटेनर टर्मिनल होंगे।

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -