Saturday, July 13, 2024
Homeदेश-समाजतिहाड़ में सत्येंद्र जैन को VVIP सुविधा के लिए कैदियों को मजबूर किया गया:...

तिहाड़ में सत्येंद्र जैन को VVIP सुविधा के लिए कैदियों को मजबूर किया गया: जाँच समिति को रेप कैदी ने बताया- अधिकारियों ने मालिश के लिए कहा, अब मिल रही धमकी

जाँच समिति ने जेल अधिकारियों पर अपने पद के दुरुपयोग का आरोप लगाया है और कहा कि यहाँ जेल के नियमों एवं कायदों का उल्लंघन किया गया। मामला सामने आने के बाद दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना के निर्देश पर जाँच कमिटी का गठन किया गया था।

अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) की नेतृत्व वाली दिल्ली की आम आदमी पार्टी (AAP) सरकार में मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendra Jain) को तिहाड़ जेल VVIP सुविधा उपलब्ध कराने को लेकर जाँच पैनल ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। पैनल का कहना है कि जेल प्रशासन ने 5 कैदियों को सत्येंद्र जैन की सेवा करने के लिए बाध्य किया था। इन कैदियों में दो नाबालिग से रेप के आरोपित भी हैं।

जाँच पैनल ने कहा कि सत्येंद्र जैन की सेवा में जेल अधिकारियों का एक सहयोगी भी शामिल था। पॉक्सो केस का आरोपित रिंकू ने जाँच समिति को बताया, “मैंने जेल अधिकारियों के निर्देश पर उन्हें मालिश किया था। अब मुझे धमकी दी जा रही है। मैंने मालिश करने के लिए सत्येंद्र जैन के सेल से पानी की एक बूंद भी नहीं ली है।”

बता दें कि मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जेल में बंद सत्येंद्र जैन को उनकी सेल में मालिश करने का एक वीडियो कुछ दिन पहले सामने आया था। वीडियो सामने आने के बाद राजनीतिक तूफान खड़ा हो गया था। कहा गया कि सत्येंद्र जैन को जो शख्स मालिश कर रहा था, वह नाबालिग से बलात्कार का आरोपित है और उसका नाम रिंकू है।

वीडियो सामने आने के बाद आम आदमी पार्टी ने दावा किया था कि सत्येंद्र जैन को स्वास्थ्य संबंधी कारणों की वजह से फिजियोथेरेपी का उपचार दिया जा रहा था। हालाँकि, रिंकू नाम के इस कैदी ने बताया कि उसने फिजियोथैरेपी की कभी ट्रेनिंग नहीं ली है। उसका काम विवाह समारोहों में घोड़ी उपलब्ध कराना था।

समिति ने कहा, “यह मालिश स्वेच्छा या स्नेह से नहीं किया गया था, जैसा कि तत्कालीन अधीक्षक जेल ने दावा किया था। यह सत्येंद्र जैन द्वारा जेल में शानदार जीवन शैली का आनंद लेने के लिए था।” इस बीच POCSO के एक अन्य आरोपित मनीष फल और बाहर का खाना सत्येंद्र जैन को उपलब्ध कराता था। “जेल वार्डन मेरे जेल खाता कार्ड में पैसे जमा करता था।

मनीष ने बताया, “मैं अपने कार्ड से सत्येंद्र जैन के लिए जेल की कैंटीन से फल खरीदता था। जेल के वॉर्डन ने मेरे जेल खाते के कार्ड में 3-4 बार पैसे जमा किए और हर बार उसने 6,900 रुपए जमा किए। मैंने सत्येंद्र जैन को स्वेच्छा से सेवाएँ नहीं दीं।”

जाँच समिति ने जेल अधिकारियों पर अपने पद के दुरुपयोग का आरोप लगाया है और कहा कि यहाँ जेल के नियमों एवं कायदों का उल्लंघन किया गया। मामला सामने आने के बाद दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना के निर्देश पर जाँच कमिटी का गठन किया गया था।

जाँच कमिटी में प्रधान सचिव (राजस्व), प्रधान सचिव (कानून) और सचिव (विजिलेंस) शामिल थे। कमिटी के सदस्यों ने जेल के सीसीटीवी फुटेज का विश्लेषण और जेल के कई अधिकारियों एवं कैदियों से पूछताछ की। पैनल ने जेल के अधीक्षक, वॉर्डन और मुंशी को दोषी पाया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव में NDA की बड़ी जीत, सभी 9 उम्मीदवार जीते: INDI गठबंधन कर रहा 2 से संतोष, 1 सीट पर करारी...

INDI गठबंधन की तरफ से कॉन्ग्रेस, शिवसेना UBT और PWP पार्टी ने अपना एक-एक उमीदवार उतारा था। इनमें से PWP उम्मीदवार जयंत पाटील को हार झेलनी पड़ी।

नेपाल में गिरी चीन समर्थक प्रचंड सरकार, विश्वास मत हासिल नहीं कर पाए माओवादी: सहयोगी ओली ने हाथ खींचकर दिया तगड़ा झटका

नेपाल संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में अविश्वास प्रस्ताव पर हुए मतदान में प्रचंड मात्र 63 वोट जुटा पाए। जिसके बाद सरकार गिर गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -