Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाजकुशीनगर में लड़की के हाथ में कलावा देख ग्रामीणों ने दी पुलिस को गुपचुप...

कुशीनगर में लड़की के हाथ में कलावा देख ग्रामीणों ने दी पुलिस को गुपचुप निकाह की खबर: मौलवी समेत 3 हिरासत में

पुलिस जब मौके पर पहुँची तब मकान मालिक, युवती और मौलवी वहाँ मौजूद थे। पुलिस उनसे पूछताछ करने के लिए उन्हें अपने साथ ले गई। थाने में लड़की ने बताया कि वह पुरानी बस्ती थाना मुबारकपुर जिला आजमगढ़ की रहने वाली है।

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर के कसया क्षेत्र में पुलिस ने युवक-युवती और मौलवी को हिरासत में लिया। खबरों में बताया गया कि मौलवी को देर रात घर पर बुलाकर युवक दूसरे समुदाय की युवती से चुपचाप निकाह करने का प्लॉन कर रहा थाा, लेकिन पुलिस समय पर पहुँचकर मौलवी समेत तीन लोगों को अपने साथ ले गई।

पूरा मामला गुरमिया गाँव के खान टोला का है। यहाँ एक समुदाय विशेष का युवक अपने साथ एक युवती को लेकर आया जिसके हाथ में लोगों ने कलावा बँधा देखा। कुछ देर में लोगों को उसी युवक के घर में मौलवी जाता भी दिखा, जिसके बाद लोगों का शक बढ़ गया। रात के करीब 9 बजे निकाह की तैयारियाँ देख गाँव के लोगों ने सारी बात आपस में बताई और इकट्ठा होकर पुलिस को मामले से सूचित कराया।

पुलिस जब मौके पर पहुँची तब मकान मालिक, युवती और मौलवी वहाँ मौजूद थे। पुलिस उनसे पूछताछ करने के लिए उन्हें अपने साथ ले गई। थाने में लड़की ने बताया कि वह पुरानी बस्ती थाना मुबारकपुर जिला आजमगढ़ की रहने वाली है।

इस आधार पर पुलिस ने उस इलाके के थाने से इनकी जानकारी मँगाई। जाँच में पता चला कि लड़की 13 दिन पहले फरार हुई थी। तलाश के बाद भी उसका सुराग किसी को नहीं मिला। उसके परिवार ने उसके गायब होने की रिपोर्ट भी करवाई हुई है।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, गुरमिया निवासी युवक से लड़की की बात इंटरनेट के जरिए शुरू हुई थी। बात होते होते दोनों में प्रेम हो गया और लड़की ने अपने घरवालों को शादी में रोड़ा बनता देख युवक के साथ भागने का निर्णय लिया। घर से फरार होने के बाद दोनों ने कुछ समय देवरिया और गोरखपुर में बिताया। इसके बाद वह गुरमिया आए।

कुछ लोग इन दोनों को एक समुदाय का बताते रहे। मगर, स्थानीयों का कहना है कि उन्होंने लड़की के हाथ में कलावा देखा। इस पूरे मामले पर कुशीनगर के एसपी विनोद कुमार सिंह ने कहा कि युवक-युवती बालिग हैं और एक की गुमशुदगी मुबारकपुर थाने में दर्ज है। लड़की के घरवालों की शिकायत पर अब आगे की कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि हिंदुस्तान की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने इस केस में लड़की के घरवालों से बात करके पता लगाया है कि लड़का-लड़की दोनों एक ही मजहब से संबंध रखते हैं। लेकिन उनको सूचना दी गई थी कि लड़की अलग धर्म से है। उन्होंने ताजा जानकारी होते ही मकान मालिक और मौलवी को रिहा कर दिया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ये नंगे, इनके हाथ अपराध में सने, फिर भी शर्म इन्हें आती नहीं… क्योंकि ये है बॉलीवुड

राज कुंद्रा या गहना वशिष्ठ तो बस नाम हैं। यहाँ किसिम किसिम के अपराध हैं। हिंदूफोबिया है। खुद के गुनाहों पर अजीब चुप्पी है।

‘द प्रिंट’ ने डाला वामपंथी सरकार की नाकामी पर पर्दा: यूपी-बिहार की तुलना में केरल-महाराष्ट्र को साबित किया कोविड प्रबंधन का ‘सुपर हीरो’

जॉन का दावा है कि केरल और महाराष्ट्र पर इसलिए सवाल उठाए जाते हैं, क्योंकि वे कोविड-19 मामलों का बेहतर तरीके से पता लगा रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,277FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe