Sunday, July 3, 2022
Homeदेश-समाजभगवा गमछा, पगड़ी और झंडा, 'जय श्री राम' के नारे के साथ जामा मस्जिद...

भगवा गमछा, पगड़ी और झंडा, ‘जय श्री राम’ के नारे के साथ जामा मस्जिद में पूजा करने निकले हिन्दू संगठन: कर्नाटक पुलिस ने रोका

हिन्दू संगठनों ने 'श्रीरंगपटना चलो' नाम से ये रैली निकाली। रैली में राम भजन के साथ ही हनुमान चालीसा का भी पाठ किया गया। इस रैली का आह्वान बजरंग दल ने किया था।

वाराणसी में ज्ञानवापी विवादित ढाँचे के अंदर से शिवलिंग मिलने के बाद देश के बाकी हिस्सों में मस्जिदों का सर्वे की माँग उठ रही है। इसी क्रम में कर्नाटक (Karnataka) के मांड्या जिले में विश्व हिन्दू परिषद (VHP) और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने श्रीरंगपटना स्थित जामा मस्जिद (Jama Masjid ) में पूजा करने के लिए रविवार (5 जून 2022) को एक बाइक रैली निकाली। भगवा गमछा, भगवा पगड़ी और भगवा झंडा लिए ‘जय श्री राम’ के नारे लगाते हुए विहिप के कार्यकर्ता आगे बढ़ रहे थे, लेकिन जामा मस्जिद पहुँचने से पहले ही पुलिस अधिकारियों ने हिन्दुओं की रैली को रोक दिया

रिपोर्ट के मुताबिक, हिन्दू संगठनों ने ‘श्रीरंगपटना चलो’ नाम से ये रैली निकाली। रैली में राम भजन के साथ ही हनुमान चालीसा का भी पाठ किया गया। इस रैली का आह्वान बजरंग दल ने किया था। लेकिन जब पुलिस अधिकारियों ने हिन्दुओं को रोका तो भीड़ के कारण बेंगलुरु-मैसूर और मैसूर-पांडवपुरा हाईवे जाम हो गया। हिन्दू संगठनों ने उन्हें मस्जिद की ओर जाने देने की माँग की। मांड्या जिले के एसपी पी यतीश ने धारा 144 का उल्लंघन करने वालों को गिरफ्तार करने की चेतावनी दी और ट्रैफिक बहाल करने के लिए सभी को किरांगुर शहर ले जाया गया।

दूसरी ओर हंगामे के बाद भी मुस्लिम मौलवियों ने मस्जिद परिसर में स्थित मदरसे में छात्रों के लिए कक्षाएँ संचालित कीं। इसके विरोध में हिन्दू कार्यकर्ताओं ने जिला प्रशासन और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की और सरकार पर मस्जिद के अंदर मदरसे को चलने देने का आरोप लगाया।

क्या है पूरा मामला

कर्नाटक के श्रीरंगपटना में स्थित जामा मस्जिद को लेकर विश्व हिंदू परिषद का दावा है कि यहाँ पहले मंदिर था, जिसे टीपू सुल्तान ने गिराकर मस्जिद बनाई थी। हिंदू संगठनों ने भी ज्ञानवापी की तर्ज पर जामा मस्जिद के सर्वेक्षण की माँग को लेकर अदालत का दरवाजा खटखटाने का फैसला किया है। विहिप और बजरंग दल ने 20 मई को मांड्या जिला कमिश्नर को एक ज्ञापन सौंपकर माँग की कि जामा मस्जिद में ज्ञानवापी की तर्ज पर सच्चाई का पता लगाने के लिए एक सर्वेक्षण किया जाए। अब विहिप ने जामा मस्जिद में घुसकर पूजा करने का ऐलान कर दिया है।

हिन्दू संगठनों के इस ऐलान के बाद 3 जून को पुलिस ने आनन फानन में पूरे शहर में धारा 144 लागू कर दी थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सिर कलम करने में जिस डॉ युसूफ का हाथ, वो 16 साल से था दोस्त: अमरावती हत्याकांड में कश्मीर नरसंहार वाला पैटर्न, उदयपुर में...

अमरावती में उमेश कोल्हे की हत्या में उनका 16 साल पुराना वेटेनरी डॉक्टर दोस्त यूसुफ खान भी शामिल था। उसी ने कोल्हे की पोस्ट को वायरल किया था।

‘1 बार दलित को और 1 बार महिला आदिवासी को चुना राष्ट्रपति’: BJP की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में भारत को पुनः विश्वगुरु बनाने की बात

"सर्जिकल स्ट्राइक, एयर स्ट्राइक, अनुच्छेद 370 खत्म करने, GST, आयुष्मान भारत, कोरोना टीकाकरण, CAA, राम मंदिर - कॉन्ग्रेस ने सबका विरोध किया।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
202,752FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe