Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजजिसे सुरेश समझ फेसबुक पर दोस्ती और मंदिर में की शादी, वो निकला जुबेर:...

जिसे सुरेश समझ फेसबुक पर दोस्ती और मंदिर में की शादी, वो निकला जुबेर: 2 बार कराया गर्भभात, मुस्लिम नहीं बनी तो मारपीट कर घर से निकाला

पीड़िता ने बताया कि बीच में वो गर्भवती हुई तब सुरेश बने शमी ने उसे मारा-पीटा और उसका 2 बार गर्भपात करवाया।

UP के प्रयागराज में मोहम्मद शमी उर्फ़ जुबेर नाम के व्यक्ति को पुलिस ने हिन्दू लड़की से सुरेश नाम से शादी करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। मोहम्मद शमी पर पीड़िता के साथ अप्राकृतिक दुराचार, गर्भपात और ठगी का भी आरोप है। बाद में आरोपित ने दूसरा निकाह कर लिया। शमी की गिरफ्तारी रविवार (26 जून 2022) को हुई है। आरोपित की गिरफ्तारी की माँग के साथ कई भाजपा नेता शनिवार रात में ही थाने पहुँच गए थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पीड़िता की उम्र 22 साल है। करेली के रहने वाले मोहम्मद शमी से उसका परिचय फेसबुक के माध्यम से साल 2016 में हुआ था। शमी ने अपनी फेसबुक ID सुरेश पाल के नाम से बनाई थी। इस बीच दोनों की मुलाकातें होने लगी। लगभग 2 साल मिलने के बाद साल 2018 में शमी ने मनकामेश्वर मंदिर में पीड़िता से शादी कर ली। शादी के बाद दोनों खुल्दाबाद इलाके में किराए पर मकान ले कर रहने लगे।

पुलिस को दी गई शिकायत में पीड़िता ने बताया कि बीच में वो गर्भवती हुई तब सुरेश बने शमी ने उसे मारा-पीटा और उसका 2 बार गर्भपात करवाया। खुल्दाबाद थाने पर दी गई शिकायत में शमी पर धर्म परिवर्तन का दबाव बनाने और ऐसा न करने पर घर से निकल देने का आरोप लगाया गया है। पीड़िता के मुताबिक उसे सुरेश के शमी होने का पता शिकायत से मात्र 20 दिन पहले पता चला। पीड़िता के मुताबिक शमी ने खुद ही उसे बताया और साथ ही अपने मज़हब की लड़की से निकाह करने की भी जानकारी दी।

पीड़िता ने यह शिकायत शनिवार (25 जून 2022) को दी थी। पुलिस ने फ़ौरन ही FIR दर्ज करते हुए अगले ही दिन 26 जून को आरोपित शमी को गिरफ्तार कर के जेल भेज दिया है। पुलिस के मुताबिक शमी फाइनेंस क्षेत्र में काम करता है। पीड़िता भी उसी के साथ ही काम किया करती थी। इस दौरान दोनों में जान-पहचान हुई थी। पुलिस ने पीड़िता की सहेली का भी बयान दर्ज किया है। पीड़िता की सहेली ने इस बात की गवाही दी है कि आरोपित शमी पहली बार उस से सुरेश पाल बन कर मिला था। पीड़िता का यह भी दावा है कि उसके द्वारा शिकायत दर्ज करवाने के बाद शमी के पक्ष वाले उसे लगातार धमकी दे रहे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -