Tuesday, May 18, 2021
Home देश-समाज राहत ब्रो, 'काफ़िरों की शराब, शबाब और पैसा पसंद' होना ठीक, लेकिन पैसों की...

राहत ब्रो, ‘काफ़िरों की शराब, शबाब और पैसा पसंद’ होना ठीक, लेकिन पैसों की स्मगलिंग ‘गल्त बात’ है

2011 में भी राहत के साथ 2 और लोगों विदेशी मुद्रा की स्मगलिंग के लिए हिरासत में लिया गया था। तब राहत को पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया था। लेकिन इस बार ईडी राहत को बख्शने के मूड में नहीं दिखती।

ऐसे समय में जब गायक राहत फ़तेह अली ख़ान एक बार फिर फॉरेन करेंसी स्मगलिंग के मामले में चर्चा में आ गए हैं, हम लाए हैं एक किस्सा, जो भारतीय राजनयिकों के गलियारे में ख़ूब चर्चा में रहा है। ये किस्सा है 1990 का, जब पाकिस्तान के एक मशहूर ग़ज़ल गायक और उस दौरान इस्लामाबाद में पोस्टेड एक भारतीय राजनयिक साथ में हवाई सफ़र कर रहे थे।

भारतीय राजनयिक इस ग़ज़ल गायक के फ़ैन तो थे ही, आस-पास ही बैठे होने के कारण बातचीत का माहौल भी बना हुआ था। ग़ज़ल गायक को लगा कि शायद ये पाकिस्तान के ही राजनयिक हैं और भारत में होने वाले उनके दौरों पर बात करते हुए भारत के लिए आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया था। इसी माहौल में वो ‘काफ़िर’ भारतीय लोगों पर खूब बरस भी रहे थे, साथ ही उन्होंने कहा था कि एक ‘मोमिन’ होने के नाते वो भारत देश के काफ़िरों की सिर्फ शराब, शबाब और और पैसा पसंद करते हैं और इसमें उन्हें कोई परेशानी नहीं होती।

प्लेन से अपने हवाई सफ़र से उतरने के बाद जब राजनयिक ने उनसे बताया कि वो पाकिस्तानी नहीं बल्कि भारतीय राजनयिक हैं तो भारतीय शराब, शबाब और रूपए के शौक़ीन ग़ज़ल गायक ने फ़ौरन उनसे माफ़ी माँगी, गिड़गिड़ाए और इस नासमझी के लिए उनसे माफ़ी भी माँगी।

राजनयिक की सिफ़ारिश पर तत्कालीन भारत सरकार द्वारा इस ग़ज़ल गायक को कई वर्षों के लिए भारत में ‘ब्लैकलिस्ट’ कर दिया गया और ‘काफ़िरों’ के इस देश में परफॉर्म करने की अनुमति देने से मना कर दिया।

ऐसे में जब ग़ज़ल गायक के पास ‘काफ़िरों’ से पैसे आने बंद हो गए और ‘पाक़’ जमीं पर गाने-बजाने के लिए कोई ख़ास धन और अवसर थे नहीं, तो स्वाभाविक है कि रुपयों की तंगी गायक को सताने लगी।

हमारे देश में फिर एक समय आया, जब कविता, काव्य और ग़ज़लों के शौक़ीन प्रधानमन्त्री ने इस ग़ज़ल गायक को फिर से भारत आने का मौका दिया और काफ़िरों से आने वाले रूपए पर फिर से चाँदी लूटी जानी लगी।

बचपन में एक कहानी पड़ी थी, बिच्छू की प्रवृत्ति डंक मारने की ही होती है, लेकिन इंसान की प्रवृत्ति उस पर दया कर के उसे बचाने की होनी चाहिए।

पाकिस्तान के जाने-माने सिंगर और पाकिस्तानी गायक नुसरत फ़तेह अली ख़ान के भतीजे राहत फ़तेह अली खान पर सरकार ने फॉरेन करेंसी स्मगलिंग मामले में शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। ईडी (इंफोर्समेंट डायरेक्टरेट) ने FEMA (फ़ॉरेन एक्सचेंज मैनेजमेंट एक्ट) के तहत राहत फ़तेह अली ख़ान को ‘शो-कॉज’ नोटिस यानी कारण बताओ नोटिस जारी किया है और जाँच में शामिल होने को कहा है। आरोप हैं कि राहत फ़तेह अली ख़ान 3 सालों से फॉरेन करेंसी की स्मगलिंग के धंधे में लिप्त थे।

राहत फ़तेह अली ख़ान के साथ करेंसी स्मलिंग का ये दूसरा मामला है। इससे पहले 2011 में दिल्ली के इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर रेवेन्यू इंटैलीजेंस की टीम ने राहत फ़तेह अली ख़ान को फॉरेन करेंसी के साथ पकड़ा था, जिसकी कोई रसीद या सबूत राहत के पास नहीं था। राहत के साथ 2 और लोगों को हिरासत में लिया गया था। तब राहत को पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया था। लेकिन इस बार ईडी राहत को बख्शने के मूड में नहीं दिखती।

हैरानी की बात है कि ऐसे समय में जब भारत देश में रह रहे कुछ कलाकारों को, जिनकी यहाँ पर बहुत बड़ी फ़ैन फ़ॉलोइंग भी है, को लगता है कि इस देश में लोगों के अंदर धार्मिक असहिष्णुता का माहौल है, पाकिस्तानी कलाकार यहाँ आकर अपने ‘टैलेंट’ को साबित करने के लिए मरे जाते हैं। संगीत और कला के प्रति भारत देश की आसक्ति हमेशा से ही दिलचस्म मुद्दा रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

आशीष नौटियाल
पहाड़ी By Birth, PUN-डित By choice

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

क्यों पड़ा Cyclone का नाम Tauktae, क्यों तबाही मचाने आते हैं, जमीन पर क्यों नहीं बनते? जानिए चक्रवातों से जुड़ा सबकुछ

वर्तमान में अरब सागर से उठने वाले चक्रवाती तूफान Tauktae का नाम म्याँमार द्वारा दिया गया है। Tauktae, गेको छिपकली का बर्मीज नाम है। यह छिपकली बहुत तेज आवाज करती है।

क्या CM योगी आदित्यनाथ को ग्रामीणों ने गाँव में घुसने से रोका? कॉन्ग्रेस नेताओं, वामपंथी पत्रकारों के फर्जी दावे का फैक्ट चेक

मेरठ पुलिस ने सोशल मीडिया पर किए गए भ्रामक दावों का खंडन किया। उन्होंने कहा, “आपने सोशल मीडिया पर जो पोस्ट किया है वह निराधार और भ्रामक है। यह फेक न्यूज फैलाने के दायरे में आता है।"

मेवात के आसिफ की हत्या में सांप्रदायिक एंगल नहीं, पुरानी राजनीतिक दुश्मनी: हरियाणा पुलिस

आसिफ की मृत्यु की रिपोर्ट आने के तुरंत बाद, कुछ मीडिया हाउसों ने दावा किया कि उसे मारे जाने से पहले 'जय श्री राम' बोलने के लिए मजबूर किया गया था, जिसकी वजह से घटना ने सांप्रदायिक मोड़ ले लिया।

नारदा केस में विशेष CBI कोर्ट ने ममता बनर्जी के चारों मंत्रियों को दी जमानत, TMC कार्यकर्ताओं ने किया केंद्रीय बलों पर पथराव

नारदा स्टिंग मामले में सीबीआई की विशेष अदालत ने सोमवार (17 मई 2021) की शाम को ममता बनर्जी के चारों नेताओं को जमानत दे दी।

IDF हवाई हमले में जिहादी कमांडर अबू हरबीद का सफाया, अमेरिका ने इजरायल को दी $735 मिलियन के हथियार

इजरायली रक्षा बलों ने सोमवार को इस्लामिक जिहाद के एक आतंकी कमांडर का सफाया कर दिया है। प्रारंभिक रिपोर्टों से पता चलता है कि हुसाम अबू हरबीद उत्तरी गाजा में अपने घर में इजरायली हवाई हमले में मारा गया।

बंगाल की उबड़-खाबड़ डगर: नारदा में TMC पर कसा फंदा तो CBI से ममता ने दिखाई पुरानी रार

बंगाल की राजनीति कौन सी करवट लेगी, यह समय तय करेगा। फिलहाल ममता बनर्जी और उनकी सरकार के लिए रास्ते सीधे नहीं दिखते।

प्रचलित ख़बरें

जैश की साजिश, टारगेट महंत नरसिंहानंद: भगवा कपड़ा और पूजा सामग्री के साथ जहाँगीर गिरफ्तार, साधु बन मंदिर में घुसता

कश्मीर के रहने वाले जान मोहम्मद डार उर्फ़ जहाँगीर को साधु के वेश में मंदिर में घुस कर महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती की हत्या करनी थी।

अल्लाह-हू-अकबर चिल्लाती भीड़ का हमला: यहूदी खून से लथपथ, बचाव में उतरी लड़की का यौन शोषण

कनाडा में फिलिस्तीन समर्थक भीड़ ने एक व्यक्ति पर हमला कर दिया जो एक अन्य यहूदी व्यक्ति को बचाने की कोशिश कर रहा था। हिंसक भीड़ अल्लाह-हू-अकबर का नारा लगाते हुए उसे लाठियों से पीटा।

विनोद दुआ की बेटी ने ‘भक्तों’ के मरने की माँगी थी दुआ, माँ के इलाज में एक ‘भक्त’ MP ने ही की मदद

मोदी समर्थकों को 'भक्त' बताते हुए मल्लिका उनके मरने की दुआ माँग चुकी हैं। लेकिन, जब वे मुश्किल में पड़ी तो एक 'भक्त' ने ही उनकी मदद की।

भारत में दूसरी लहर नहीं आने की भविष्यवाणी करने वाले वायरोलॉजिस्ट शाहिद जमील ने सरकारी पैनल से दिया इस्तीफा

वरिष्ठ वायरोलॉजिस्ट शाहिद जमील ने भारत में कोविड-19 के प्रकोप की गंभीरता की भविष्यवाणी करने में विफल रहने के बाद भारतीय SARS-CoV-2 जीनोम सीक्वेंसिंग कंसोर्टिया (INSACOG) के वैज्ञानिक सलाहकार समूह के अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे दिया।

ओडिशा के DM ने बिगाड़ा सोनू सूद का खेल: जिसके लिए बेड अरेंज करने का लूटा श्रेय, वो होम आइसोलेशन में

मदद के लिए अभिनेता सोनू सूद को किया गया ट्वीट तब से गायब है। सोनू सूद वास्तव में किसी की मदद किए बिना भी कोविड-19 रोगियों के लिए मदद की व्यवस्था करने के लिए क्रेडिट का झूठा दावा कर रहे थे।

ईसाई धर्मांतरण की पोल खोलने वाले MP राजू का आर्मी हॉस्पिटल में होगा मेडिकल टेस्ट, AP सीआईडी ने किया था टॉर्चर: SC का आदेश

याचिकाकर्ता (राजू) की मेडिकल जाँच सिकंदराबाद स्थित सैन्य अस्पताल के प्रमुख द्वारा गठित तीन सदस्यीय डॉक्टरों का बोर्ड करेगा।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,376FansLike
95,641FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe