Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाजदलित सफाईकर्मी को मुस्लिम युवकों ने पीटा, जयपुर में धरने पर बैठे वाल्मीकि समाज...

दलित सफाईकर्मी को मुस्लिम युवकों ने पीटा, जयपुर में धरने पर बैठे वाल्मीकि समाज के लोग: भाजपा ने बताया- गहलोत का ‘मुगलकाल’

प्रदर्शन के दौरान अन्य सफाईकर्मियों ने आरोप लगाया कि उनके साथ मुस्लिम समुदाय के लोग आए दिन मारपीट करते हैं। साथ ही उन्होंने प्रशासन पर अपनी शिकायतों को अनदेखा करने का भी आरोप लगया।

राजस्थान की राजधानी जयपुर में दलित समुदाय के एक सफाईकर्मी के साथ मारपीट का मामला सामने आया है। पिटाई का आरोप मुस्लिम समुदाय के व्यक्ति पर लगा है। वहीं घटना के विरोध में भाजपा प्रत्याशी आचार्य बालमुकुंद ने वाल्मीकि समुदाय के लोगों के साथ हाथों में झाड़ू ले कर प्रदर्शन किया है। इस मामले में पुलिस केस दर्ज कर के जाँच कर रही है। घटना सोमवार (20 नवम्बर, 2023) की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घटना जयपुर के शास्त्री नगर थानाक्षेत्र की है। यहाँ के किशनपोल इलाके के वार्ड नंबर 55 में वाल्मीकि समुदाय के एक सफाईकर्मी के साथ एक मुस्लिम युवक ने मारपीट की। इस हमले में पीड़ित सफाईकर्मी बुरी तरफ से घायल हो गया जिसका इलाज अस्पताल में चल रहा है। पीड़ित के परिजनों का आरोप है कि जब उन्हें घटना की सूचना मिली तो वो शिकायत करने थाने पहुँचे लेकिन पुलिस ने उनकी FIR दर्ज नहीं की। घटना के चलते अन्य सफाईकर्मियों में आक्रोश फ़ैल गया।

हवामहल से भारतीय जनता पार्टी के विधानसभा प्रत्याशी आचार्य बालमुकुंद को जब इस मामले की जानकारी हुई तो वो भी अपने साथियों के साथ थाने पहुँचे। उन्होंने पुलिस पर आरोपितों को बचाने का आरोप लगाते हुए समर्थकों के साथ धरना दिया। इस दौरान जय श्री राम और भारत माता की जय के नारे लगे। जिसके बाद दबाव में आकर पुलिस ने आखिरकार मारपीट करने वाले युवकों पर FIR दर्ज की।

बताया जा रहा है कि कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया गया है जिनसे पूछताछ की जा रही है। वहीं पुलिस ने धरना दे रहे लोगों को कड़ी कार्रवाई का भरोसा दे कर शांत करवाया।

प्रदर्शन के दौरान अन्य सफाईकर्मियों ने आरोप लगाया कि उनके साथ मुस्लिम समुदाय के लोग आए दिन मारपीट करते हैं। साथ ही उन्होंने प्रशासन पर अपनी शिकायतों को अनदेखा करने का भी आरोप लगया। धरने के दौरान आचार्य बालमुकुंद ने आरोप लगाया कि सिर्फ एक ही क्षेत्र में नहीं बल्कि कई इलाकों में वर्ग विशेष के लोगों ने आतंक मचा रखा है। उन्होंने गहलोत सरकार के शासन को ‘मुगलकाल’ का नाम दिया। आचार्य बालमुकुंद का यह भी दावा है कि कॉन्ग्रेस शासन की मुस्लिम तुष्टिकरण नीति से परेशान हो कर उनके हजारों कार्यकर्ता भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन कर रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -