Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजदेवबंद के मदरसे से पढ़कर घर लौट रहा था बच्चा, अगले दिन सरसों के...

देवबंद के मदरसे से पढ़कर घर लौट रहा था बच्चा, अगले दिन सरसों के खेत में गर्दन कटी लाश मिली: कुकर्म की आशंका

SSP विपिन टाडा ने बताया है कि जब शव बरामद हुआ था तब बच्चे के शरीर पर नीचे के कपड़े नहीं थे। इससे उसके साथ कुकर्म की आशंका जताई जा रही है।

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में एक मदरसा छात्र की गर्दन कटी लाश मिली है। वह देवबंद के एक मदरसे से पढ़कर घर लौट रहा था। अगले दिन उसका गला कटा शव सड़क किनारे एक सरसों के खेत में मिला है। 13 वर्षीय मृतक के साथ कुकर्म की भी आशंका जताई जा रही है। पुलिस मामले की जाँच कर रही है। घटना सोमवार (30 जनवरी 2023) की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घटना देवबंद थानाक्षेत्र के गाँव सांपला की है। यहाँ 13 वर्षीय बालक की लाश खेत में पड़ी मिली है। घटना की सूचना मिलती ही पुलिस मौके पर पहुँच गई। पुलिस ने शव को कब्ज़े में लिया और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इस घटना में कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में मृतक के साथ कुकर्म होने की भी बात कही जा रही है। लेकिन इसकी अभी तक आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

सहारनपुर पुलिस के SSP विपिन टाडा के मुताबिक मृतक एक दिन पहले 29 जनवरी को मदरसे से पढ़कर घर लौट रहा था। जब वह देर रात घर नहीं पहुँचा तब परिजनों ने उसकी खोजबीन शुरू कर दी। SSP के अनुसार अगले दिन बच्चे का शव मिला। पुलिस ने मौके से सबूत जुटाए हैं। CCTV फुटेज और अन्य सबूतों के आधार पर जाँच कर रही है। CCTV फुटेज में बच्चा गुम होने से पहले अपने कुछ साथियों के साथ मदरसे से लौटता दिखाई दिया है।

SSP ने बताया है कि मृतक छात्र के साथ लौट रहे अन्य बच्चों से पूछताछ में एक संदिग्ध प्रकाश में आया है। उस संदिग्ध को हिरासत में लेकर पूछताछ चल रही है। बच्चे के साथ कुकर्म के सवाल पर SSP विपिन टाडा ने कहा कि जब शव बरामद हुआ था तब उसके नीचे के कपड़े नहीं थे। इससे उसके साथ कुकर्म की आशंका है। पुलिस ने किसी पुरानी रंजिश की बात सामने न आने की जानकारी देते हुए मृतक के ही किसी साथी की संलिप्तता की तरफ इशारा किया है। पुलिस के मुताबिक केस मामले का जल्द ही खुलासा किया जाएगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

पुरी के जगन्नाथ मंदिर का 46 साल बाद खुला रत्न भंडार: 7 अलमारी-संदूकों में भरे मिले सोने-चाँदी, जानिए कहाँ से आए इतने रत्न एवं...

ओडिशा के पुरी स्थित महाप्रभु जगन्नाथ मंदिर के भीतरी रत्न भंडार में रखा खजाना गुरुवार (18 जुलाई) को महाराजा गजपति की निगरानी में निकाल गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -