Saturday, May 18, 2024
Homeदेश-समाजसाहिम ने लड़कों से मिलने पर गर्लफ्रेंड की कर दी हत्या: हिंदू सिपाही के...

साहिम ने लड़कों से मिलने पर गर्लफ्रेंड की कर दी हत्या: हिंदू सिपाही के नाम लिखवा दी गई FIR, फोन में मिली तस्वीरें तो कब्र से निकलवाई गई लड़की लाश

एसपी के आदेश के बाद शीरीं को दफनाने के 23 दिन बाद 7 अप्रैल शीरीं का शव कब्र से निकाला गया। पोस्टमार्टम हुआ, तो पता चला कि शीरीं की हत्या की गई थी।

पीलीभीत में 13 अप्रैल को एक 16 साल की लड़की शीरीं का शव मिला था। माता-पिता नेपाल में ईंट-भट्टे पर काम करते थे, दादा-दादी घर पर रहते थे। सुबह शव मिला, तो सामान्य मौत मान कर घर वालों और गाँव वालों ने दफना दिया। माँ-बाप के आने से पहले ही शीरीं के शव को दफना दिया गया था, वो उसका चेहरा भी आखिरी बार नहीं देख पाए थे। इस मामले में स्थानीय थाने की चौकी पर तैनात रहे एक हिंदू सिपाही पर उँगली उठी और शीरीं के ही गाँव की एक लड़की, जो सिपाही की गर्लफ्रेंड थी। लेकिन अब मामला बदल चुका है, क्योंकि असली हत्यारे का चेहरे सामने आ चुका है। इस केस में शीरीं का प्रेमी साहिम ही हत्यारा निकला है। हम बताते हैं सिलसिलेवार तरीके से, कि आखिर इस मामले में क्या कुछ हुआ…

मोबाइल में मिली तस्वीर से उलझा मौत का राज

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पीलीभीत के जहानाबाद थाना क्षेत्र का ये मामला बेहद चौंकाने वाला निकला है। यहाँ की शीरीं की हत्या के 23 दिन बीत जाने के बाद शीरीं की माँ ने उसके टूट चुके मोबाइल को रिपेयर कराया। चूँकि अब तक शीरीं की मौत को सभी सामान्य मान रहे थे, लेकिन माँ ने जब फोन ठीक कराया, तो गैलरी में मिली उसे एक सिपाही और गाँव की ही लड़की के आपत्तिजनक वीडियो और तस्वीर… इन वीडियो और तस्वीरों में यूपी पुलिस का सिपाही राजकुमार था, जो स्थानीय थाने में कभी तैनात रहता था। उस तस्वीर के आधार पर माँ-बाप पहुँचे एसपी के पास और फिर मामला दर्ज कराया।

पहले सिपाही पर गया सभी का शक

एसपी के आदेश के बाद शीरीं को दफनाने के 23 दिन बाद 7 अप्रैल शीरीं का शव कब्र से निकाला गया। पोस्टमार्टम हुआ, तो पता चला कि शीरीं की हत्या की गई थी। माता-पिता ने शीरीं के फोन में मिली तस्वीर के आधार पर सिपाही राजकुमार, अपने ही गाँव की सिपाही की प्रेमिका, एक लड़के साहिम और एक अन्य के खिलाफ एफआईआर लिखवा दी। खूब हो हल्ला-मचा और फिर पुलिस पर आरोप लगाए गए कि वो सिपाही को बचा रही है। लेकिन जाँच के बाद मामला खुल गया।

…फिर साहिम ने बताया, कैसे दिया हत्याकांड को अंजाम

शीरीं हत्याकांड में नामजद साहिम के साथ लड़की की खूब बातचीत होती थी। सिपाही राजकुमार के पास शीरीं की गाँव की दो लड़कियाँ शीरीं के फोन से ही बात करती थी। ऐसे में साहिम से पूछताछ हुआ, तो वो मामले को घुमाने लगा। लेकिन अंत में वो टूट गया। उसने जो खुलासा किया, वो हैरान करने वाला था।

दरअसल, साहिम और शीरीं की प्रेम कहानी 4 साल से चल रही थी। दोनों के बीच संबंध भी थे। उस रात शीरीं ने साहिम को अपने पास अपने घर में बुलाया था, लेकिन वो तय समय से पहले ही उसके घर पहुँच गया। इस दौरान साहिम ने देखा कि दो लड़के शीरीं के कमरे से निकल रहे हैं, जिसके बारे में उसने शीरीं से सवाल जवाब किए। अपने सवालों के संतोषजनक जवाब न पाकर वो गुस्से में पागल हो गया और शीरीं का गला दबा दिया। उसने एक हाथ से शीरीं का गला दबाया और दूसरे हाथ से उसका मुँह।

शीरीं की साँसे रुक गई, तो साहिम उसे बिस्तर पर ही लिटाकर भाग निकला। दूसरे दिन से वो बाकी गाँव वालों की तरह ही मामले से अंजान बना रहा। जब शीरीं के शव का पोस्टमार्टम हुआ, और हत्या की वजह गला दबाकर मारने की निकली, तब भी वो अंजान बनता रहा और खुद को बेकसूर बताता रहा। चूँकि शीरीं के फोन से राजकुमार नाम के सिपाही की तस्वीर निकली थी, इसलिए सारा ठीकरा उसके ही सर फोड़ता रहा, लेकिन पुलिस ने सख्ती की तो वो टूट गया और सच सामने आ गया। अब पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज दिया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्वाति मालीवाल बन गई INDI गठबंधन में गले की फाँस? राहुल गाँधी की रैली के लिए केजरीवाल को नहीं भेजा गया न्योता, प्रियंका कह...

दिल्ली में आयोजित होने वाली राहुल गाँधी की रैली में शामिल होने के लिए AAP प्रमुख अरविंद केजरीवाल को न्योता नहीं दिया गया है।

‘अनुच्छेद 370 को हमने कब्रिस्तान में गाड़ दिया, इसे वापस नहीं लाया जा सकता’: PM मोदी बोले- अलगाववाद को खाद-पानी देने वाली कॉन्ग्रेस ने...

पीएम मोदी ने कहा, "आजादी के बाद गाँधी जी की सलाह पर अगर कॉन्ग्रेस को भंग कर दिया गया होता, तो आज भारत कम से कम पाँच दशक आगे होता।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -