Sunday, June 23, 2024
Homeदेश-समाजकानपुर के हॉस्टल में स्वीपर बना रहा था नहाती छात्रा की अश्लील वीडियो: शिकायत...

कानपुर के हॉस्टल में स्वीपर बना रहा था नहाती छात्रा की अश्लील वीडियो: शिकायत के बाद पुलिस ने पकड़ा, फोन में कई और रिकॉर्डिंग मिली

29 सितंबर 2022 को कानपुर के रावतपुर इलाके के एक गर्ल्स हॉस्टल में रह रही छात्राओं ने हॉस्टल के स्वीपर पर अश्लील वीडियो बनाने का आरोप लगाया। लड़कियों का कहना है कि आरोपित स्वीपर वाशरूम के टूटे हुए हिस्से से एक छात्रा के नहाने का वीडियो बना रहा था।

पंजाब की चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में लड़कियों के नहाने का वीडियो बनाने का मामला सामने आने के बाद आईआईटी बॉम्बे और तमिलनाडु के मदुरै में ऐसे ही मामले सामने आए थे। अब, उत्तर प्रदेश के कानपुर स्थित एक हॉस्टल में स्वीपर द्वारा लड़कियों के अश्लील वीडियो बनाने का मामला सामने आया है। सबसे बड़ी बात यह है कि, इस हॉस्टल में एडिशनल एसपी सुरेंद्रनाथ तिवारी की नेम प्लेट लगी हुई है। फिलहाल, पुलिस ने मुकदमा दर्ज करते हए आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, गुरुवार (29 सितंबर 2022) को कानपुर के रावतपुर इलाके के एक गर्ल्स हॉस्टल में रह रही छात्राओं ने हॉस्टल के स्वीपर ऋषि पर अश्लील वीडियो बनाने का आरोप लगाया। लड़कियों का कहना है कि आरोपित स्वीपर वाशरूम के टूटे हुए हिस्से से एक छात्रा के नहाने का वीडियो बना रहा था। इसके बाद जब लड़कियों ने उसका मोबाइल छीन कर जाँच की तो पता चला कि उसके मोबाइल में कई लड़कियों के वीडियो हैं।

इस घटना की जानकारी सामने आने के बाद हॉस्टल की छात्राओं ने रावतपुर पुलिस स्टेशन जाकर आरोपित स्वीपर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। वहीं पुलिस ने छात्राओं के बयान के आधार पर आरोपित को गिरफ्तार कर जाँच शुरू कर दी है। आरोपित के मोबाइल को फॉरेंसिक जाँच के लिए भेजे जाने की बात कही जा रही है।

हॉस्टल में रहने वाली छात्राओं का कहना है कि जब वह एफआईआर (FIR) दर्ज कराकर वापस लौटीं तब हॉस्टल के सभी पुरुष कर्मचारी हॉस्टल छोड़कर भाग चुके थे। छात्राओं ने हॉस्टल वार्डन पर इस मामले को दबाने का भी आरोप लगाया। इस घटना के बाद, सभी लड़कियाँ हॉस्टल छोड़कर अपने-अपने घर लौट चुकीं हैं।

इस मामले में ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर आनंद प्रकाश तिवारी का कहना है कि यह मामला बेहद गंभीर है, इसलिए तत्परता से कार्रवाई करते हुए केस दर्ज कर आरोपित को गिरफ्तार किया गया है। एडीसीपी एंटी वूमेन क्राइम के नेतृत्व में टीम गठित की गई है, जो पूरे प्रकरण की जाँच करेगी। विवेचना महिला इंस्पेक्टर ही करेंगी। जिनकी भी इसमें संलिप्तता होगी उस पर बेहद सख्त कार्रवाई की जाएगी।

वहीं, इस हॉस्टल में अपने नाम की नेम प्लेट लगे होने के आरोप में एडिशनल एसपी सुरेंद्र तिवारी ने कहा है, “मेरी कोई बिल्डिंग कानपुर में है, इसका मुझे पता ही नहीं। इस बिल्डिंग से मेरा कोई लेना देना नहीं है। कानपुर में जब पोस्टिंग थी, तब कई लोग मिलने आते थे। उसमें पता चला है कि किसी सोमानी नाम के व्यापारी ने मेरी नेमप्लेट लगाई थी। कानपुर के पुलिस अधिकारियों ने मुझसे फोन करके पूछा तो मैंने साफ कह दिया है कि ना मेरी कोई प्रॉपर्टी है और ना मैं पोस्टिंग से हटने के बाद दोबारा कानपुर गया हूँ। इसमें जिसने भी नेम प्लेट लगाई हो उस पर कड़ी कार्रवाई की जाए।”

बता दें, इससे पहले ऐसा ही मामला पंजाब की चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी से सामने आया था। जहाँ, छात्रा पर हॉस्टल के वॉशरूम में नहा रही लड़कियों के वीडियो बनाने का आरोप लगा था। यह भी कहा गया था कि आरोपित छात्रा वीडियो बनाकर अपने बॉयफ्रेंड को भेजती है।

इस मामले में पुलिस ने आरोपित छात्रा समेत पुलिस ने चार आरोपितों को गिरफ्तार किया है। यानी पुलिस ने, आरोपित एमबीए की छात्रा, उसका बॉयफ्रेंड सनी मेहता और उसका दोस्त रंकज वर्मा व सेना के जवान संजीव सिंह को गिरफ्तार किया है। इस मामले में अभी कुछ और गिरफ्तारी होने की बात कही जा रही है।

इसके अलावा, आईआईटी बॉम्बे में भी ऐसा ही मामला सामने आया था। यहाँ, हॉस्टल में रहने वाली एक छात्रा ने हॉस्टल कैंटीन में काम करने वाले एक कर्मचारी पर वॉशरूम का वीडियो बनाने का आरोप लगाया था। जिसके बाद, पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘PM मोदी ने किया जी अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का उद्घाटन, गिर गई उसकी दीवार’: News24 ने फेक न्यूज़ परोस कर डिलीट की ट्वीट,...

अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन से जुड़े जिस दीवार के दिसंबर 2023 में बने होने का दावा किया जा रहा है, वो दावा पूरी तरह से गलत है।

‘मोदी के दिए घरों में रहते हैं, 100% वोट कॉन्ग्रेस को देते हैं’: बोले असम CM सरमा – राज्य पर कब्ज़ा करना चाहते हैं...

सीएम हिमंता ने कहा कि बांग्लादेशी मूल के अल्पसंख्यकों ने कॉन्ग्रेस को इसलिए वोट दिया, क्योंकि अगले 10 सालों में वे राज्य को कब्जा चाहते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -