Monday, June 24, 2024
Homeदेश-समाजतत्काल सुनवाई की केजरीवाल की याचिका दिल्ली हाई कोर्ट ने ठुकराई, ED गिरफ्तारी को...

तत्काल सुनवाई की केजरीवाल की याचिका दिल्ली हाई कोर्ट ने ठुकराई, ED गिरफ्तारी को दी थी चुनौती: शराब घोटाले में PMLA कोर्ट ने K कविता को भी नहीं दी राहत

ऐसे में ED सूत्रों का कहना है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और कविता का आमान-सामना करना बेहद जरूरी है, ताकि नई शराब नीति की साजिश का खुलासा किया जा सके। इसमें प्रवर्तन निदेशालय कविता और अन्य आरोपितों से कई गंभीर सवाल कर सकती है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को हाई कोर्ट से फिर झटका लगा है। अदालत ने उनकी याचिका पर तुरंत सुनवाई करने से इनकार कर दिया है। सीएम केजरीवाल ने प्रवर्तन निदेशालय (ED) की रिमांड के खिलाफ अपनी अर्जी में रविवार यानी 24 मार्च 2024 की सुबह सुनवाई की माँग की थी।

दिल्ली हाईकोर्ट में कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश जस्टिस मनमोहन की अदालत के मुताबिक, याचिका पर होली की छुट्टी के बाद यानी 27 मार्च को कोर्ट खुलने के बाद सुनवाई होने की उम्मीद है। सोमवार और मंगलवार (25-26 मार्च 2024) को हाईकोर्ट में अवकाश है।

वहीं, भारतीय राष्ट्रीय समिति (BRS) की नेता के. कविता को राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने उन्हें 26 मार्च 2024 तक ED की रिमांड पर भेज दिया है। कोर्ट में ED ने रिमांड के लिए दलील दी कि के कविता का साक्ष्यों और केस के अन्य आरोपियों से आमान-सामना करवाना जरूरी है।

वहीं, अरविंद केजरीवाल को भी गिरफ्तारी के बाद कोर्ट में पेश करते हुए ED ने दलील दी कि वे शराब घोटाले के मास्टरमाइंड हैं और कविता मनीष सिसोदिया और केजरीवाल के संपर्क में थीं। कोर्ट ने केजरीवाल को 28 मार्च (गुरुवार) को दोपहर 2 बजे तक ED की रिमांड पर भेजा है। अब खबर है कि अरविंद केजरीवाल, कविता और मनीष सिसोदिया को एक साथ बैठाकर पूछताछ हो सकती है।

ED ने कोर्ट में दलील दी कि के कविता के जरिए ही साउथ लॉबी (दक्षिण भारत के शराब कारोबारियों) ने 100 करोड़ रुपए की रिश्वत देकर नई शराब नीति में एंट्री की। इसमें मिले 100 करोड़ रुपए की रिश्वत में से आम आदमी पार्टी (AAP) ने 45 करोड़ रुपए गोवा चुनाव में खर्च किए।

ऐसे में ED सूत्रों का कहना है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और कविता का आमान-सामना करना बेहद जरूरी है, ताकि नई शराब नीति की साजिश का खुलासा किया जा सके। इसमें प्रवर्तन निदेशालय कविता और अन्य आरोपितों से कई गंभीर सवाल कर सकती है।

अरविंद केजरीवाल से सामना के दौरान ED कविता से पूछ सकती है कि दिल्ली सरकार की नई शराब नीति के बारे में उन्हें जानकारी कैसे मिली। क्या आपने खुद दिल्ली सरकार को अप्रोच किया था या केजरीवाल सरकार की तरफ से प्रस्ताव आया था? अरविंद केजरीवाल से मुलाकात या संपर्क का जरिया क्या है? शराब नीति तैयार करते समय केजरीवाल से कितनी बार बातचीत या संपर्क हुए।

इसके अलावा भी प्रवर्तन निदेशालय अरविंद केजरीवाल और कविता से कई तरह के सवाल कर सकती है। वहीं, ED अरविंद केजरीवाल से पूछ सकती है कि कविता के जरिए साउथ लॉबी को नई शराब नीति के बारे में उन्हें जानकारी कब हुई। कविता से उनका संपर्क कब हुआ और क्या कविता के कहने पर प्रॉफिट मार्जिन 5 प्रतिशत से बढ़ाकर 12 प्रतिशत किया गया था?

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किसानों के आंदोलन से तंग आ गए स्थानीय लोग: शंभू बॉर्डर खुलवाने पहुँची भीड़, अब गीदड़-भभकी दे रहे प्रदर्शनकारी

किसान नेताओं ने अंबाला शहर अनाज मंडी में मीडिया बुलाई, जिसमें साफ शब्दों में कहा कि आंदोलन खराब नहीं होना चाहिए। आंदोलन खराब करने वाला खुद भुगतेगा।

‘PM मोदी ने किया जी अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का उद्घाटन, गिर गई उसकी दीवार’: News24 ने फेक न्यूज़ परोस कर डिलीट की ट्वीट,...

अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन से जुड़े जिस दीवार के दिसंबर 2023 में बने होने का दावा किया जा रहा है, वो दावा पूरी तरह से गलत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -