Tuesday, January 18, 2022
Homeदेश-समाजयूपी पुलिस ने मामा को मार गिराया: गोंडा से अगवा 6 साल का बच्चा...

यूपी पुलिस ने मामा को मार गिराया: गोंडा से अगवा 6 साल का बच्चा बरामद, ₹4 करोड़ माँगी थी फिरौती

कपाला के खिलाफ दो दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज थे। काफी समय से पुलिस व एसटीएफ उसकी तलाश कर रही थी। यूपी के अलावा महाराष्ट्र और गुजरात में वारदातों को अंजाम देने वाला कपाला कमल किशोर, हेमंत कुमार, संजय और मामा के नाम से भी जाना जाता था।

उत्तर प्रदेश पुलिस ने एक लाख रुपए के ईनामी बदमाश टिंकू कपाला को मार गिराया है। वहीं, गोंडा से अगवा किए गए 6 साल के बच्चे को सकुशल बरामद भी कर लिया है।

बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक अरविंद चतुर्वेदी ने बताया कि शुक्रवार रात एसटीएफ का सामना टिंकू कपाला से हुआ। मुठभेड़ में वह जख्मी हो गया। उसे उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया जहॉं उसकी मौत हो गई।

कपाला के खिलाफ दो दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज थे। काफी समय से पुलिस व एसटीएफ उसकी तलाश कर रही थी। यूपी के अलावा महाराष्ट्र और गुजरात में वारदातों को अंजाम देने वाला कपाला कमल किशोर, हेमंत कुमार, संजय और मामा के नाम से भी जाना जाता था।

उत्तर प्रदेश पुलिस को गोंडा अपहरण मामले में भी बड़ी सफलता हासिल की है। मामले में पुलिस और एसटीएफ ने देर रात एनकाउंटर के बाद 4 अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया है। उनके साथ एक युवती के मौजूद होने की बात भी सामने आ रही है। दो अपराधियों के पैर में गोली भी लगी है।

गौरतलब है कि शुक्रवार को गोंडा जिले में एक बीड़ी व्यवसायी के 6 वर्षीय बेटे का अपहरण कर लिया गया था। अपराधियों ने सैनेटाइज़र देने के बहाने दिन में ही बच्चे का अपहरण किया था। अपराधियों ने बच्चे का अपहरण कर्नलगंज कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले गाड़ी बाज़ार में किया था। 

इसके बाद बच्चे के पिता से 4 करोड़ रुपए की फिरौती माँगी थी। शनिवार सुबह मुठभेड़ के बाद बच्चा सकुशल बरामद कर लिया गया।  

उल्लेखनीय है कि इससे पहले कानपुर से लैब असिस्टेंट संजीत यादव का 22 जून को अपहरण कर लिया गया था। फिरौती मिलने से पहले ही उनकी हत्या कर शव नदी में फेंक दिया गया था। संजीत को उसके दोस्त ने ही अपने साथियों के साथ मिलकर अगवा किया था।

इस घटना को लेकर पुलिस पर काफी सवाल उठे थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लेते हुए आईपीएस ऑफिसर अपर्णा गुप्ता, डिप्टी एसपी मनोज गुप्ता समेत चार अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया था। साथ ही फिरौती के पैसे की जाँच का आदेश दिया। इस मामले की जाँच एडीजी बीपी जोगदंड को सौंपी गई है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

17 की उम्र में पहली हत्या, MLA तक के मर्डर में नाम: सपा का प्यारा अतीक अहमद कभी था आतंक का पर्याय, योगी राज...

मुलायम सिंह यादव ने 2003 में उत्तर प्रदेश में अपनी सरकार बनाई। यह देख अतीक अहमद एक बार फिर समाजवादी हो गया। फूलपुर से वो सपा सांसद बना।

‘अमानतुल्लाह खान यहाँ नमाज पढ़ सकते हैं तो हिंदू हनुमान चालीसा क्यों नहीं?’: इंद्रप्रस्थ किले पर गरमाया विवाद, अंदर मस्जिद बनाने के भी आरोप

अमानतुल्लाह खान की एक वीडियो के विरोध में आज फिरोज शाह कोटला किले के बाहर हिंदूवादी लोगों ने इकट्ठा होकर हनुमान चालीसा का पाठ किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
151,996FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe