Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाजयूपी पुलिस ने मामा को मार गिराया: गोंडा से अगवा 6 साल का बच्चा...

यूपी पुलिस ने मामा को मार गिराया: गोंडा से अगवा 6 साल का बच्चा बरामद, ₹4 करोड़ माँगी थी फिरौती

कपाला के खिलाफ दो दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज थे। काफी समय से पुलिस व एसटीएफ उसकी तलाश कर रही थी। यूपी के अलावा महाराष्ट्र और गुजरात में वारदातों को अंजाम देने वाला कपाला कमल किशोर, हेमंत कुमार, संजय और मामा के नाम से भी जाना जाता था।

उत्तर प्रदेश पुलिस ने एक लाख रुपए के ईनामी बदमाश टिंकू कपाला को मार गिराया है। वहीं, गोंडा से अगवा किए गए 6 साल के बच्चे को सकुशल बरामद भी कर लिया है।

बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक अरविंद चतुर्वेदी ने बताया कि शुक्रवार रात एसटीएफ का सामना टिंकू कपाला से हुआ। मुठभेड़ में वह जख्मी हो गया। उसे उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया जहॉं उसकी मौत हो गई।

कपाला के खिलाफ दो दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज थे। काफी समय से पुलिस व एसटीएफ उसकी तलाश कर रही थी। यूपी के अलावा महाराष्ट्र और गुजरात में वारदातों को अंजाम देने वाला कपाला कमल किशोर, हेमंत कुमार, संजय और मामा के नाम से भी जाना जाता था।

उत्तर प्रदेश पुलिस को गोंडा अपहरण मामले में भी बड़ी सफलता हासिल की है। मामले में पुलिस और एसटीएफ ने देर रात एनकाउंटर के बाद 4 अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया है। उनके साथ एक युवती के मौजूद होने की बात भी सामने आ रही है। दो अपराधियों के पैर में गोली भी लगी है।

गौरतलब है कि शुक्रवार को गोंडा जिले में एक बीड़ी व्यवसायी के 6 वर्षीय बेटे का अपहरण कर लिया गया था। अपराधियों ने सैनेटाइज़र देने के बहाने दिन में ही बच्चे का अपहरण किया था। अपराधियों ने बच्चे का अपहरण कर्नलगंज कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले गाड़ी बाज़ार में किया था। 

इसके बाद बच्चे के पिता से 4 करोड़ रुपए की फिरौती माँगी थी। शनिवार सुबह मुठभेड़ के बाद बच्चा सकुशल बरामद कर लिया गया।  

उल्लेखनीय है कि इससे पहले कानपुर से लैब असिस्टेंट संजीत यादव का 22 जून को अपहरण कर लिया गया था। फिरौती मिलने से पहले ही उनकी हत्या कर शव नदी में फेंक दिया गया था। संजीत को उसके दोस्त ने ही अपने साथियों के साथ मिलकर अगवा किया था।

इस घटना को लेकर पुलिस पर काफी सवाल उठे थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लेते हुए आईपीएस ऑफिसर अपर्णा गुप्ता, डिप्टी एसपी मनोज गुप्ता समेत चार अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया था। साथ ही फिरौती के पैसे की जाँच का आदेश दिया। इस मामले की जाँच एडीजी बीपी जोगदंड को सौंपी गई है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,090FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe