Thursday, August 5, 2021
Homeदेश-समाजनुसरत जहां की फोटो दिखा लुभा रहा था वीडियो चैट ऐप, TMC सांसद के...

नुसरत जहां की फोटो दिखा लुभा रहा था वीडियो चैट ऐप, TMC सांसद के कंप्लेन पर हरकत में आई पुलिस

बता दें जिस ऐप के विज्ञापन को देख कर नुसरत जहां भड़की हैं, उसका नाम fancy-u video chat App है। इसमें अभिनेत्री व सासंद की फोटो शेयर करते हुए लिखा गया है, "लॉकडाउन में घर पर बैठे बनाएँ नए दोस्त।" इसके अलावा उनकी फोटो पर लिखा है, "फाइंड आउट मोर अबाउट हर।"

तृणमूल कॉन्ग्रेस की सांसद व अभिनेत्री नुसरत जहां ने सोमवार को अपनी तस्वीर के गलत इस्तेमाल पर कोलकाता पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई। उन्होंने यह शिकायत एक वीडियो चैट एप्लीकेशन के ख़िलाफ़ करवाई है। उनका कहना है कि एप्लीकेशन ने बिना उनकी रजामंदी के उनकी फोटो का इस्तेमाल किया।

सांसद नुसरत जहां ने कोलकाता पुलिस कमिश्नर अनुज शर्मा को अपने ट्वीट में टैग करते हुए उस विज्ञापन का स्क्रीनशॉट शेयर किया और कानूनी कार्रवाई की माँग की।

उन्होंने लिखा, “यह बिलकुल अस्वीकार्य है। तस्वीर को बिना रजामंदी के इस्तेमाल किया गया। कोलकाता पुलिस की साइबर सेल से अनुरोध है कि वह इस पर गौर करें। मैं इस पर कानूनी रूप से कार्रवाई के लिए तैयार हूँ।”

इस शिकायत पर एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि साइबर सेल ने मामले की जाँच शुरू कर दी है। बता दें जिस ऐप के विज्ञापन को देख कर नुसरत जहां भड़की हैं, उसका नाम fancy-u video chat App है। इसमें अभिनेत्री व सासंद की फोटो शेयर करते हुए लिखा गया है, “लॉकडाउन में घर पर बैठे बनाएँ नए दोस्त।” इसके अलावा उनकी फोटो पर लिखा है, “फाइंड आउट मोर अबाउट हर।”

गौरतलब है कि इस घटना से पहले भी नुसरत जहां अपनी एक फोटो के कारण चर्चा में कुछ दिन पहले ही आईं थी। उस तस्वीर में वह माँ दुर्गा जैसी वेशभूषा में दिख रही थीं। हालाँकि वो तस्वीर उन्होंने खुद ही शेयर की थी, मगर कट्टरपंथियों को उसे देख गुस्सा आ गया। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, उन्हें उनकी उस तस्वीर के लिए बहुत घेरा गया और कई सवाल किए गए।

उस तस्वीर में उन्होंने लाल रंग की साड़ी पहनी थी। अपने केश खुले रखे थे और हाथ में त्रिशूल लेकर लोगों को महालया की शुभकामना दे रही थीं। इस तस्वीर को देख कट्टरपंथी उनसे सवाल करने लगे कि वह हिंदुओं जैसा आचरण करके इस्लाम का अपमान क्यों कर रही हैं। जब वह हिंदुओं की तरह रहती हैं तो उनका मजहब इस्लाम कैसे?

याद दिला दें, पिछले साल जून में निखिल जैन से शादी करने के बाद भी कट्टरपंथियों ने उन्हें घेरा था। उस समय कट्टरपंथियों ने उनकी खूब आलोचना की थी। उन्होंने जब दुर्गा पूजा में ढाक बजाया तब भी मामला बहुत गर्माया था। मजहबी ठेकेदारों ने इसे अपराध कहा था, जिनके जवाब में नुसरत ने कहा था कि वह बंगाल में पैदा हुई हैं और परंपरा और संस्कृति के हिसाब से सही काम कर रही हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

टोक्यो ओलंपिक: फाइनल में खूब लड़े रवि दहिया, भारत की चाँदी

टोक्यो ओलंपिक 2020 में पुरुषों की 57 किग्रा फ्रीस्टाइल कुश्ती में रेसलर रवि दहिया ने भारत को सिल्वर मैडल दिलाया है।

जब मनमोहन सिंह PM थे, कॉन्ग्रेस+ की सरकार थी… तब हॉकी टीम के खिलाड़ियों को जूते तक नसीब नहीं थे

एक दशक पहले जब मनमोहन सिंह के नेतृत्व में कॉन्ग्रेस नीत यूपीए की सरकार चल रही थी, तब हॉकी टीम के कप्तान ने बताया था कि खिलाड़ियों को जूते भी नसीब नहीं हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,091FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe