Tuesday, October 4, 2022
Homeदेश-समाजट्रांसजेंडरों को मोदी सरकार का तोहफा: आयुष्मान भारत योजना के तहत करा सकेंगे लिंग...

ट्रांसजेंडरों को मोदी सरकार का तोहफा: आयुष्मान भारत योजना के तहत करा सकेंगे लिंग परिवर्तन, उत्थान-पुनर्वास के लिए ₹500 करोड़

केंद्र ने ट्रांसजेंडर समुदाय के कल्याण और उत्थान के लिए पंचवर्षीय योजना में 500 करोड़ रुपए की राशि आवंटित किया है। आयुष्मान योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट रहा है।

मोदी सरकार ने ट्रांसजेंडरों को बड़ा तोहफा देते हुए उन्हें आयुष्मान भारत योजना के तहत शामिल किया है। इस योजना के तहत ट्रांसजेंडर समुदाय के लोगों को मेडिकल कवर के साथ ही अपना सेक्स चेंज कराने का भी ऑप्शन मिलेगा। आयुष्मान भारत योजना को प्रधानमंत्री जन आरोग्य के नाम से भी जाना जाता है और इसके अंतर्गत 5 लाख रुपए तक का कवर मिलता है।

केंद्र सरकार ने इसे सपोर्ट फॉर मार्जिनलाइज्ड इंडिविजुअल्स फॉर लाइवलीहुड एंड एंटरप्राइज (SMILE) योजना के तहत बढ़ाते हुए ट्रांसजेंडरों को भी इस योजना में शामिल करने का प्रयास किया है।

भारत सरकार के सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग के सचिव आर सुब्रह्मण्यम ने ईटी को बताया, “नई योजना के पाँच घटक निर्धारित किए गए हैं, जिनमें शिक्षा, स्वास्थ्य, कौशल विकास, पुनर्वास और आर्थिक संबंध शामिल हैं। स्वास्थ्य के लिहाज से ट्रांसजेंडरों के लिए आयुष्मान भारत के तहत पैकेज पर काम किया जा रहा है। यह ट्रांसजेंडर व्यक्तियों द्वारा आवश्यक सर्जरी और चिकित्सा सहायता को कवर करेगा।”

12 अक्टूबर को लॉन्च होगी स्माइल योजना

उन्होंने बताया कि सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय 12 अक्टूबर को SMILE शुरू करने जा रहा है। इस योजना की दो उप योजनाएँ हैं, ट्रांसजेंडर व्यक्तियों के कल्याण के लिए व्यापक पुनर्वास के लिए केंद्रीय क्षेत्र की योजना और भीख माँगने के कार्य में लगे व्यक्तियों के व्यापक पुनर्वास के लिए केंद्रीय क्षेत्र की योजना है। अम्ब्रेला योजना के तहत ट्रांसजेंडर व्यक्तियों और भीख माँगने वालों के लिए कल्याणकारी उपायों समेत उनके पुनर्वास, चिकित्सा सुविधाओं के प्रावधान, परामर्श, शिक्षा, कौशल विकास, आर्थिक संबंधों के समर्थन पर व्यापक रूप से ध्यान दिया जाएगा। इसमें राज्य सरकारें और गैर-सरकारी संगठन (एनजीओ) का भी सहयोग लिया जाएगा।

गौरतलब है कि केंद्र ने ट्रांसजेंडर समुदाय के कल्याण और उत्थान के लिए पंचवर्षीय योजना में 500 करोड़ रुपए की राशि आवंटित किया है। आयुष्मान योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट रहा है। प्रधानमंत्री इसके जरिए हर गरीब तबके तक स्वास्थ्य योजना का लाभ पहुँचाना चाहते हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

एक मिनट में दागेगा 750 गोलियाँ, ऊँचाई वाले स्थानों पर दुश्मन की खैर नहीं: जानें 5800 किलो के स्वदेशी ‘प्रचंड’ के बारे में, जो...

'प्रचंड' चॉपर दुश्मनों के लड़ाकू विमानों को ध्वस्त करने, आतंकवाद विरोधी अभियानों को अंजाम देने, कॉम्बैट सर्च और बचाव कार्यों में सक्षम हैं।

कॉन्ग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ने भारत आए चीतों को बताया लंपी वायरस का कारण, नामीबिया को बताया ‘नाइजीरिया’: BJP नेता ने कहा – इनको...

महाराष्ट्र कॉन्ग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा है कि देश में फैले हुए लंपी वायरस के लिए 'नाइजीरिया' से आए चीते जिम्मेदार हैं। हुई जगहँसाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
226,129FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe