Thursday, March 30, 2023
Homeदेश-समाजउज्जैन में तेजाब डाल कर हनुमान जी की मूर्ति को जलाया: हिन्दू संगठनों के...

उज्जैन में तेजाब डाल कर हनुमान जी की मूर्ति को जलाया: हिन्दू संगठनों के लोग कार्रवाई के लिए सड़क पर, 144 लागू

पुलिस की एक विशेष टीम आरोपितों को पकड़ने में लग गई है। मूर्ति देख पुलिस ने आशंका जताई है कि मूर्ति पर तेजाब डाला गया या फिर हो सकता उस पर आग लगाई गई हो। फॉरेंसिक दल इसकी जाँच कर रहा है।

मध्यप्रदेश के उज्जैन जिले के बड़नगर शहर में डायवर्शन रोड पर पेट्रोल पंप के पास बने हनुमान मंदिर में असामाजिक तत्वों ने छेड़छाड़ कर बजरंग बली की मूर्ति को जला कर काला कर दिया। मूर्ति की हालत देख मालूम होता है कि किसी ज्वलनशील पदार्थ को मूर्ति पर डाला गया। 

मामले की जानकारी होते ही हिंदू संगठन के लोग आक्रोशित हो गए और सड़कों पर आकर प्रदर्शन करने लगे। इस दौरान चक्का जाम भी हुआ। स्थिति इतनी तनावपूर्ण हो गई कि पुलिस को बैरिकेडिंग करनी पड़ी। वहीं हालातों के मद्देनजर बाजार भी बंद करा दिए गए हैं। 

मंदिर में क्षतिग्रस्त हुई हनुमान जी की मूर्ति

रिपोर्ट्स में पथराव और तोड़फोड़ की बात भी कही जा रही है। हालाँकि स्थिति अभी नियंत्रण में हैं। शहर में धारा 144 लगाई गई है। पुलिस ने आश्वासन दिया है कि जल्द से जल्द मूर्ति को क्षतिग्रस्त करने वाला पकड़ा जाएगा। 

पुलिस की एक विशेष टीम आरोपितों को पकड़ने में लग गई है। मूर्ति देख पुलिस ने आशंका जताई है कि मूर्ति पर तेजाब डाला गया या फिर हो सकता उस पर आग लगाई गई हो। फॉरेंसिक दल इसकी जाँच कर रहा है।

जानकारी के अनुसार, स्थानीयों के संज्ञान में ये घटना मंगलवार को आई, वो भी तब जब सुबह श्रद्धालु हनुमान जी के दर्शन को पहुँचे, वहाँ लोगों ने देखा कि वहाँ मूर्ति काली हुई पड़ी थी।

थोड़ी देर में हर जगह इसका शोर हो गया। हिंदूवादी संगठन विरोध करने सड़कों पर उतर आए। प्रमुख मार्गों पर चक्का जाम कर दिया गया। लोगों ने घटना से नाराज होकर पुलिस और प्रशासन के ख़िलाफ़ नारेबाजी की। कई जगह पथराव भी हुआ। भारी भीड़ में घटना के ख़िलाफ़ जुलूस निकाले गए।

स्थानीय समाचार पोर्टल Damoh Today के अनुसार, स्वस्तिक पीठ के संत डॉ अवधेश पुरी ने इस घटना को बेहद शर्मनाक बताया है। उन्होंने कहा कि इससे पहले भी 5 मार्च को मंदिर को नुकसान पहुँचाया गया था। यदि उसी समय कार्रवाई हो जाती तो यह दूसरी बार घटना नहीं होती। दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाए।

अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के डॉ. नरेंद्र सिंह राजावत ने घटना की निंदा की। उन्होंने कहा कि इस तरह की घटनाओं से हिन्दुओं की भावनाओं को ठेस पहुँची है। उन्होंने चेतावनी भरे अंदाज में कहा कि प्रशासन जितनी जल्दी हो सके, उतनी जल्दी सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वालों को पकड़े। स्थानीय लोगों ने मोटरसाइकिल रैली निकाल कर असामाजिक तत्वों की गिरफ्तारी की माँग भी की।

बता दें कि हिंदूवादी संगठनों के लोगों ने पुलिस-प्रशासन पर सही से जाँच न करने का आरोप लगाया है। जिसके चलते एसपी सत्येंद्र शुक्ला ने टीआइ सतनाम सिंह को लाइन अटैच कर दिया और शहर में धारा 144 लगा दी गई है। सुरक्षा के लिहाज से बड़ी संख्या में पुलिस बल भी तैनात किया गया है। पुलिस ने अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की जाँच शुरू कर दी है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जेल में डालने की धमकी दी’: भोपाल में मंदिर में लाउडस्पीकर बजाने पर SDM ने संचालक को थमाई नोटिस, बोला प्रशासन – लोगों ने...

मंदिर संचालक का कहना है कि लाउडस्पीकर पर भजन-कीर्तन और सुंदरकाण्ड का पाठ करने पर उन्हें और उनके बेटे को जेल में डालने की धमकी दी गई है।

‘इस बार बैसाखी ऐतिहासिक हो’ : सिखों को भड़काते अमृतपाल की वीडियो-ऑडियो मीडिया में वायरल, रिपोर्ट्स- सरेंडर के लिए भगोड़े ने रखी 3 शर्त

रिपोर्ट्स के अनुसार अमृतपाल का पहला वीडियो आया है जो पंजाबी में है। इसमें वह पंजाब के लोगों को भड़काने की कोशिश कर रहा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
251,655FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe