Monday, July 26, 2021
Homeदेश-समाजप्यार में फँसा कर पति से तलाक, निकाह के नाम पर सेक्स: जिस उम्मेर...

प्यार में फँसा कर पति से तलाक, निकाह के नाम पर सेक्स: जिस उम्मेर ने किया यह सब, उसके छोटे भाई ने भी किया रेप

"जब विरोध किया तो धमकी दी। पुलिस से शिकायत की बात कही तो मिट्टी का तेल डालकर जिंदा जलाने का प्रयास किया।" - उम्मेर चौधरी व जीशान, दानिश, शहाबुद्दीन, इकरा और गयासुद्दीन के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके...

दिल्ली में अपने पति और तीन बच्चों के साथ गुजर-बसर कर रही महिला का उम्मेर ने पहले तलाक करवाया और फिर उसे अपने गाँव ले गया। वहाँ उसने उसके पैसे और जेवरात हड़पे। वहीं, उसके छोटे भाई ने महिला के साथ जबरन संबंध बनाया। जब महिला ने इन सबकी शिकायत करनी चाही तो उसे जान से मारने का प्रयास हुआ। अब पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर लिया है।

हिंदुस्तान की रिपोर्ट के अनुसार, उत्तर प्रदेश की सीतापुर निवासी महिला की शादी 15 साल पहले अपने जनपद के ही गाँव के एक युवक से हुई थी। दोनों को 3 बच्चे पैदा हुए। इस दौरान महिला अपने पति के साथ दिल्ली में रह रही थी। तभी पड़ोस में किराए के कमरे में रहने वाला उम्मेर चौधरी उसके संपर्क में आया।

उम्मेर गंगवार का निवासी था। उसने महिला को अपने जाल में फँसाकर उससे संबंध बनाए। फिर उसे शादी का झाँसा देकर उसका उसके पति से तलाक करवा दिया और बाद में उसे अपने साथ गंगवार ले आया। गंगवार में दोनों का एक बेटा भी पैदा हुआ।

मगर, अब महिला का कहना है कि उम्मेर ने उससे 2 लाख रुपए व 6 तोले सोने के जेवर भी हड़प लिए। वहीं पिछली 3 अप्रैल को उम्मेर के छोटे भाई जीशान ने जबरन महिला से संबंध बनाए।

पीड़िता कहती है कि जब उसने विरोध किया तो उसे धमकी दी गई कि अगर किसी को बताया तो खैर नहीं होगी। महिला ने शिकायत करने की बात कही तो आरोप के मुताबिक उसे मिट्टी का तेल डालकर जिंदा जलाने का प्रयास किया गया व उससे मारपीट भी हुई।

इस मामले के संबंध में पुलिस अधिकारी नीरज कुमार का कहना कि महिला की शिकायत के आधार पर उम्मेर चौधरी व जीशान, दानिश, शहाबुद्दीन, इकरा और गयासुद्दीन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। उम्मेर व जीशान पर दुष्कर्म जबकि बाकी पर मारपीट करने संबंधी धाराओं में मुकदमा हुआ है। फिलहाल आरोपित फरार हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,341FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe