Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाजAIMIM के कादिर खान, कॉन्ग्रेस के अनूप पटेल ने उकसाया तो मॉं-बेटी ने खुद...

AIMIM के कादिर खान, कॉन्ग्रेस के अनूप पटेल ने उकसाया तो मॉं-बेटी ने खुद को लगाई आग: 4 पर FIR

इस घटना के बाद विरोधी दल उत्तर प्रदेश की योगी सरकार से सवाल करने लगे। महिलाओं के अमेठी से होने की वजह से केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर भी खूब सवाल उठाए गए।

लखनऊ स्थित लोकभवन के सामने 17 जुलाई को माँ-बेटी ने आत्मदाह की कोशिश की थी। मंडलायुक्त सुजीत पाण्डेय ने बताया है कि कुछ लोगों ने आपराधिक षड्यंत्र रच महिलाओं को ऐसा करने के लिए भड़काया था

उन्होंने बताया कि इस मामले में AIMIM नेता कादिर खान, कॉन्ग्रेस के अनूप पटेल समेत 4 लोगों पर मामला दर्ज किया गया है। लखनऊ के ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर (लॉ एंड ऑर्डर) नवीन अरोड़ा ने भी इस घटना से जुड़ी कुछ बातें बताई। उन्होंने कहा, “एक महिला को पुलिस वालों ने बचा लिया जबकि दूसरी की हालत गंभीर है।” 

इस घटना के बाद विरोधी दल उत्तर प्रदेश की योगी सरकार से सवाल करने लगे। महिलाओं के अमेठी से होने की वजह से केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर भी खूब सवाल उठाए गए।   

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा, “लखनऊ में लोकभवन के सामने दो महिलाओं ने दो महिलाओं द्वारा दबंगों के खिलाफ़ कोई कार्रवाई न होने से हताश होकर आत्मदाह करने की दुखद ख़बर आई है। सपा ने लोकभवन इसलिए बनवाया था कि वहाँ बिना भेदभाव आम जनता अपनी शिकायतों के निवारण के लिए जा सके। लेकिन इस भाजपा सरकार में ग़रीबों की कोई सुनवाई नहीं।” 

बसपा मुखिया मायावती ने ट्वीट कर कहा, “ज़मीन विवाद प्रकरण में अमेठी ज़िला प्रशासन से न्याय न मिलने पर माँ बेटी को लखनऊ में आत्मदाह करने को मजबूर होना पड़ा। यूपी सरकार इस घटना को गंभीरता से ले तथा पीड़ित को न्याय दे व लापरवाह अफसरों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करे ताकि ऐसी घटना पुनः न हो।”   

इसके बाद कॉन्ग्रेस और AIMIM नेताओं ने इस घटना पर सिलसिलेवार तरीके से योगी सरकार को घेरना शुरू कर दिया।   

संयोग और हैरानी की बात है कि घटना के बाद लगातार कई ट्वीट आए। इसमें लगभग सारे ट्वीट AIMIM नेताओं और समर्थकों के थे। इनमें बिना किसी आधार के योगी सरकार को ज़िम्मेदार ठराया गया था।   

आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने भी ट्वीट किया, जबकि आम आदमी पार्टी की सक्रियता उत्तर प्रदेश में लगभग न के बराबर है। उन्होंने भी इस घटना की आड़ में योगी सरकार को कठघरे में खड़ा करने का अवसर नहीं छोड़ा।   

कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ़ इंडिया के पूर्व सांसद मोहम्मद सलीम ने ट्वीट कर कहा, “जलती हुई भारत माता सड़कों पर दौड़ रही हैं।” 

खुद को पत्रकार कहने वाली रोहिणी सिंह जिनके अखिलेश यादव से करीबी संबंध है, ने भी इस घटना पर ट्वीट किया।

17 जुलाई के दिन दो महिलाओं ने लखनऊ के लोकभवन क्षेत्र के ठीक सामने खुद को आग लगा ली थी। घटना में दोनों बुरी तरह झुलस गई। दोनों माँ-बेटी हैं और अमेठी के जामो थाना क्षेत्र की रहने वाली है।   

मां बेटी ने लखनऊ में किया आत्मदाह
लखनऊ में जिस स्थान पर मां-बेटी ने आत्मदाह किया

घटना के दौरान पुलिसकर्मियों ने एक महिला को बचा लिया था। दूसरी महिला की हालत गंभीर बनी हुई है। दोनों महिलाओं को उपचार के लिए नज़दीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ख़बरों के मुताबिक़ उनका अपने पड़ोसी से विवाद हुआ था। उन्होंने पड़ोसियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कराया था। इसके बाद पड़ोसी ने भी माँ-बेटी के विरुद्ध मामला दर्ज कराया था। दोनों का आरोप था कि पुलिस उनकी शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं कर रही थी। फिलहाल बेटी की हालत स्थिर है जबकि माँ की हालत गंभीर बनी हुई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बड़ी संख्या में OBC ने दलितों से किया भेदभाव’: जिस वकील के दिमाग की उपज है राहुल गाँधी वाला ‘छोटा संविधान’, वो SC-ST आरक्षण...

अधिवक्ता गोपाल शंकरनारायणन SC-ST आरक्षण में क्रीमीलेयर लाने के पक्ष में हैं, क्योंकि उनका मानना है कि इस वर्ग का छोटा का अभिजात्य समूह जो वास्तव में पिछड़े व वंचित हैं उन तक लाभ नहीं पहुँचने दे रहा है।

क्या है भारत और बांग्लादेश के बीच का तीस्ता समझौता, क्यों अनदेखी का आरोप लगा रहीं ममता बनर्जी: जानिए केंद्र ने पश्चिम बंगाल की...

इससे पहले यूपीए सरकार के दौरान भारत और बांग्लादेश के बीच तीस्ता के पानी को लेकर लगभग सहमति बन गई थी। इसके अंतर्गत बांग्लादेश को तीस्ता का 37.5% पानी और भारत को 42.5% पानी दिसम्बर से मार्च के बीच मिलना था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -