Saturday, September 25, 2021
Homeदेश-समाज23 साल का AC मिस्त्री अब्दुल समद, महिला बन नाबालिगों से माँगता था वीडियो:...

23 साल का AC मिस्त्री अब्दुल समद, महिला बन नाबालिगों से माँगता था वीडियो: 9-15 साल की 150 लड़कियाँ शिकार

"जब लड़कियाँ उसे अपने अश्लील वीडियो और तस्वीरें भेजती थीं, तो वह उन्हें ब्लैकमेल करता था और उन्हें भी सर्कुलेट कर देता था।"

उत्तर प्रदेश पुलिस ने 23 साल के एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया है जो सोशल मीडिया में महिला बन नाबालिगों को फँसाता था। फिर उनसे अश्लील वीडियो और फोटो माँगता था। इस शख्स की पहचान अब्दुल समद के तौर पर हुई है और वह पेशे से एसी मैकेनिक है।

रिपोर्टों के अनुसार उसने इंस्टाग्राम पर फेक प्रोफाइल बना रखा था। उसे इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस का इस्तेमाल कर पकड़ा गया। पुलिस उपायुक्त (डीसीपी दक्षिण) अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि अब्दुल समद को लखनऊ में उसके घर से गिरफ्तार किया गया। उसके पास से कई लड़कियों से जुड़ी जानकारियाँ और उनके अश्लील वीडियो और फोटो के साथ स्मार्टफोन बरामद किया गया है।

पुलिस के मुताबिक, अब्दुल समद किशोर बच्चों के साथ इंस्टाग्राम के जरिए बातचीत करता था और उनसे अपनी अश्लील तस्वीरें और वीडियो भेजने के लिए कहता था। उसकी इस करतूत का खुलासा तब हुआ जब 15 साल की एक पीड़िता ने 27 अगस्त 2021 को शिकायत दर्ज कराई। शिकायत के आधार पर जाँच के दौरान, उत्तर प्रदेश पुलिस ने व्हाट्सएप और इंस्टाग्राम को नोटिस भेजकर आरोपित के मोबाइल नंबर और इंस्टाग्राम आईडी की जानकारी देने को कहा। इसी ब्योरे के आधार पर पुलिस टीम ने आरोपित को लखनऊ में ट्रेस कर गिरफ्तार कर लिया।

पूछताछ के दौरान आरोपित ने पुलिस के सामने कबूल किया है कि उसने एक किशोरी से बातचीत करने के लिए उसके सामने खुद को महिला के तौर पर पेश किया था। पुलिस ने कहा कि आरोपित को इंटरनेट आधारित सोशल मीडिया साइटों में गहरी दिलचस्पी थी और उसने यूट्यूब से उनके बारे में सीखा था। वहीं से उसने ‘टेक्स्ट नाउ’ जैसे कुछ अन्य एप्लीकेशन के बारे में जानकारी हासिल की थी। इसमें वह मैसेज भेजता था और अंतरराष्ट्रीय नंबरों से लड़कियों को वीडियो कॉल करता था।

डीसीपी अतुल कुमार ठाकुर ने कहा कि आरोपित ने खुद को कनाडा में रहने वाले एक एनआरआई के तौर पर पेश किया और अपनी प्रोफाइल पिक्चर में उसने एक गोरी लड़की की तस्वीर लगा रखी थी। इस इमेज को उसने इंटरनेट से डाउनलोड किया था। डीसीपी ने कहा, “जब लड़कियाँ उसे अपने अश्लील वीडियो और तस्वीरें भेजती थीं, तो वह उन्हें ब्लैकमेल करता था और उन्हें भी सर्कुलेट कर देता था।” पुलिस अधिकारी ने कहा कि आरोपित के पास कई इंस्टाग्राम आईडी हैं और वह नई इंस्टाग्राम आईडी बनाता रहता था ताकि उसकी पोल न खुले।

डीसीपी ने कहा, “जब लड़कियाँ उसे अपने अश्लील वीडियो और तस्वीरें भेजती थीं, तो वह उन्हें ब्लैकमेल करता था और उन्हें भी सर्कुलेट कर देता था।” पुलिस अधिकारी ने कहा कि आरोपित के पास कई इंस्टाग्राम आईडी हैं और वह नई इंस्टाग्राम आईडी बनाता रहता था ताकि उसकी पोल न खुले।

रिपोर्ट के मुताबिक वह 9 से 15 साल की 150 से ज्यादा लड़कियों के साथ ऐसी करतूत कर चुका है। वह लड़कियों से ‘कैसी हो छोटी’, ‘कैसी हो मेरी गुड़िया’ आदि कहकर बात करता था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कहीं स्तनपान करते शिशु को छीन कर 2 टुकड़े किए, कहीं बार-बार रेप के बाद मरी माँ की लाश पर खेल रहा था बच्चा’:...

एक शिशु अपनी माता का स्तनपान कर रहा था। मोपला मुस्लिमों ने उस बच्चे को उसकी माता की छाती से छीन कर उसके दो टुकड़े कर दिए।

‘तुम चोटी-तिलक-जनेऊ रखते हो, मंदिर जाते हो, शरीयत में ये नहीं चलेगा’: कुएँ में उतर मोपला ने किया अधमरे हिन्दुओं का नरसंहार

केरल में जिन हिन्दुओं का नरसंहार हुआ, उनमें अधिकतर पिछड़े वर्ग के लोग थे। ये जमींदारों के खिलाफ था, तो कितने मुस्लिम जमींदारों की हत्या हुई?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,198FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe