Wednesday, June 19, 2024
Homeदेश-समाजUP के इब्राहिमपुर में बच्चों को राइफल चलाने की ट्रेनिंग: वीडियो वायरल होने से...

UP के इब्राहिमपुर में बच्चों को राइफल चलाने की ट्रेनिंग: वीडियो वायरल होने से मचा हड़कंप, पुलिस ने इंतजार और गुलजार को किया गिरफ्तार

SP सतपाल अंतिल ने कहा, "आज सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ है। इसमें इंतजार हुसैन और गुलजार हुसैन की .315 बोर राइफल से कुछ फायर किए गए हैं। वीडियो को तत्काल संज्ञान में लेते हुए थानाध्यक्ष द्वारा मौके पर पहुँच करके दोनों सगे भाइयों को गिरफ्तार कर लिया गया है। राइफल को बरामद कर लिया गया है।"

जब बिहार में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के ट्रेनिंग के खुलासे हो रहे हैं और भारत को इस्लामी मुल्क बनाने के लिए ‘इंडिया विजन 2047’ का पर्दाफाश हो रहा है, उसी समय यूपी के प्रतापगढ़ का एक वीडियो सामने आया है। इस वीडियो में एक बुजुर्ग को किशोरों को हथियार चलाने की ट्रेनिंग देते देखा जा सकता है। इस मामले में पुलिस ने इंतजार और गुलजार को गिरफ्तार किया है।

यह वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। इस वीडियो में दिख रहा है कि एक बुजुर्ग किशोरों के हाथ में हथियार देकर गोली चलवा रहा है। वीडियो में एक ऐसा शख्स भी दिख रहा है, जो सऊदी अरब के लोगों की तरह चोंगा पहने और सिर पर गमछा बाँधे हुए है।

वीडियो उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले के कंधई थाना क्षेत्र स्थित गाँव इब्राहिमपुर गोपालपुर का बताया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यहाँ पर तमाम किशोर और युवा पहुँचकर राइफल से फायरिंग करते हैं। कुछ दिन पहले कुछ युवक भी राइफल चलाने के लिए वहाँ गए और इसका वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। वीडियो सामने आने के बाद इलाके में हड़कंप मचा हुआ है।

बताया जा रहा है कि हबीबी नाम का शख्स है राइफल चलाना सिखा रहा है। रायफल में गोली भरने से लेकर हवा में फायर करने तक के बारे में वह लोगों को बता रहा है। 30 सेकेंड के वायरल वीडियो में भारी भीड़ दिख रही और अधिकांश लोग मुस्लिम समुदाय के दिख रहे हैं।

वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस भी हरकत में आ गई है। इस मामले मेें पुलिस ने FIR दर्ज कर दो लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार दोनों सगे भाई हैं। वहीं, उनके लाइसेंसी राइफल को भी जब्त कर लिया है। पुलिस का कहना है कि लाइसेंस रद्द करने की कार्रवाई की जा रही है।

SP सतपाल अंतिल ने कहा, “आज सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ है। इसमें इंतजार हुसैन और गुलजार हुसैन की .315 बोर राइफल से कुछ फायर किए गए हैं। वीडियो को तत्काल संज्ञान में लेते हुए थानाध्यक्ष द्वारा मौके पर पहुँच करके दोनों सगे भाइयों को गिरफ्तार कर लिया गया है। राइफल को बरामद कर लिया गया है।”

वहीं, कुछ मीडिया रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि यह वीडियो बकरीद के दिन का है। उस दिन राइफल चलाने की ट्रेनिंग देने के दौरान कुछ लोगों ने वीडियो बना लिया था और उसे वायरल कर दिया।

बता दें कि एक सप्ताह पहले ही पटना में PFI के ट्रेनिंग सेंटर का खुलासा हुआ था, जहाँ दूसरे राज्यों से आकर लोग स्थानीय युवाओं को हथियार चलाने की ट्रेनिंग देते थे। इस दौरान PFI का दस्तावेज भी बरामद किया गया था, जिसमें भारत को 2047 तक इस्लामी राज्य बनाने के मिशन के बारे में चर्चा की गई थी।

PFI ने अपने दस्तावेज में कहा था कि अगर 10% मुस्लिम भी उसके साथ आ गए तो वह ‘कायर हिंदुओं’ को घुटनों पर ला देगा और भारत को इस्लामी मुल्क में बदलकर इस्लाम के गौरव के देश में फिर से स्थापित कर देगा। उसने मुस्लिम युवकों से हथियार चलाने के साथ-साथ अपने घरों में हथियार इकट्ठा रखने की भी अपील की थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

कनाडा का आतंकी प्रेम देख भारत ने याद दिलाया कनिष्क ब्लास्ट, 23 जून को पीड़ितों को दी जाएगी श्रद्धांजलि: जानिए कैसे गई थी 329...

भारत ने एयर इंडिया के विमान कनिष्क को बम से उड़ाने की बरसी याद दिलाते हुए कनाडा में वर्षों से पल रहे आतंकवाद को निशाने पर लिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -