Friday, July 12, 2024
Homeदेश-समाजकानुपर धर्मांतरण रैकेट की NIA और STF करेगी जाँच, हिंदुओं को ईसाई बनने के...

कानुपर धर्मांतरण रैकेट की NIA और STF करेगी जाँच, हिंदुओं को ईसाई बनने के लिए मकान-नौकरी से लेकर शादी तक का दिया जा रहा था लालच

संयुक्त पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी ने कहा कि मामले की गंभीरता से जाँच चल रही है। आरोपितों से फंडिंग और उनके आकाओं की पूरी जानकारियाँ जुटाई जा रही हैं। जल्द ही सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

उत्तर प्रदेश के कानुपर में पिछले दिनों ईसाई धर्मांतरण रैकेट (Conversion case in Kanpur) का खुलासा हुआ था। अब इसकी जाँच नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) और यूपी की स्पेशल टास्क फोर्स (UPSTF) करेगी। श्याम नगर के किराए के एक फ्लैट से यह रैकेट चलाया जा रहा था। दो लोगों को गिरफ्तार कर फोटो, वीडियो, कंप्यूटर और विदेशी भाषा में लिखी कुछ पुस्तकें भी बरामद की गई थीं।

संयुक्त पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी के अनुसार कहा कि मामले की गंभीरता को देखते हुए जाँच NIA और STF को देने का फैसला किया गया है। फतेहपुर और प्रयागराज धर्मांतरण मामले की जाँच करने वाली टीम ही इस मामले को भी देखेगी।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, धर्म परिवर्तन मामले में पुलिस ने अब तक कई लोगों के बयान दर्ज किए हैं। पुलिस ने बताया है कि अब तक की जाँच में सामने आया है कि आरोपित और उनके सहयोगी चकेरी के आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से स्कूलों के बच्चों को पिकनिक के बहाने श्याम नगर स्थित फ्लैट पर लाते थे। इसके बाद बंद कमरे में उनका ब्रेनवॉश किया जाता था। पुलिस का कहना है कि आरोपित पिछले कई सालों से इस काम में लगे हुए थे। धर्म परिवर्तन कराने के लिए उन्हें मोटी रकम मिलती थी।

संयुक्त पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी ने कहा कि इस मामले में किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। मामले की गंभीरता से जाँच चल रही है। आरोपितों से फंडिंग और उनके आकाओं की पूरी जानकारियाँ जुटाई जा रही हैं। पुलिस की कई टीमों को जाँच में लगाया गया है। जल्द ही सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि कानपुर में चकेरी थाना क्षेत्र के एक फ्लैट से 6 मार्च 2023 को धर्मांतरण मामले में पुलिस ने दो आरोपितों को गिरफ्तार और कई लोगों को हिरासत में लिया था। ये दोनों लोगों को अच्छी नौकरी, बिजनेस, मकान और शादी का लालच देकर उन्हें बरगलाने का काम करते थे।

स्थानीय लोगों ने शिकायत की थी कि फ्लैट में धर्मांतरण का कार्य होता है। इसको लेकर बजरंग दल और विहिप के कार्यकर्ता वहाँ पहुँचे और उन्होंने फ्लैट पर 50 से अधिक पुरुष और महिलाओं को पाया था। विश्व हिंदू परिषद के उपाध्यक्ष आनंद सिंह ने बताया था कि इन सब लोगों का फ्लैट में ब्रेनवॉश हो रहा था। उन्हें ईसाई धर्म से जुड़े साहित्य भी उपलब्ध कराए गए थे। उनके मुताबिक करीब 8-10 लोगों को हिंदू धर्म छोड़कर ईसाई बनने को कहा जा रहा था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

उधर कॉन्ग्रेसी बक रहे गाली पर गाली, इधर राहुल गाँधी कह रहे – स्मृति ईरानी अभद्र पोस्ट मत करो: नेटीजन्स बोले – 98 चूहे...

सवाल हो रहा है कि अगर वाकई राहुल गाँधी को नैतिकता का इतना ज्ञान है तो फिर उन्होंने अपने समर्थकों के खिलाफ कभी कार्रवाई क्यों नहीं की।

अब से हर साल 25 जून होगा ‘संविधान हत्या दिवस’: मोदी सरकार ने जारी की अधिसूचना, अमित शाह बोले – तानाशाही मानसिकता से घोंटा...

अमित शाह ने याद किया कि कैसे इंदिरा गाँधी ने बेशर्मी से तानाशाही मानसिकता का परिचय देते हुए हमारे लोकतंत्र की आत्मा का गला घोंट दिया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -