Tuesday, July 5, 2022
Homeदेश-समाजयोगी सरकार ने 12 घंटे में लगाए 25.5 करोड़ पौधे, पिछले 4 सालों में...

योगी सरकार ने 12 घंटे में लगाए 25.5 करोड़ पौधे, पिछले 4 सालों में UP में वृक्षारोपण से बढ़ा 3% फॉरेस्ट कवर

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वृक्षारोपण कार्यक्रम 4 साल पहले ही शुरू कर दिया था। राज्य वन मंत्री दारा सिंह चौहान के मुताबिक यूपी में फॉरेस्ट कवर 3% से अधिक बढ़ा है, जबकि राष्ट्रीय औसत 2.89% है।

उत्तर प्रदेश में जलवायु परिवर्तन से लड़ने और कार्बन उत्सर्जन को कम करने के लिए किए जा रहे प्रयासों की श्रृंखला में रविवार (जुलाई 4, 2021) को लगभग 25.5 मिलियन अर्थात 25.5 करोड़ पौधे लगाए गए।

रिपोर्ट्स के अनुसार पूरे दिन चलने वाला यह वृक्षारोपण कार्यक्रम 68,000 गाँवों और 83,000 वनीय क्षेत्रों में आयोजित किया गया। इस वृक्षारोपण कार्यक्रम के दौरान सरकारी अधिकारियों, वालेंटियर्स, जन-प्रतिनिधियों ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। लखनऊ में सामाजिक संगठनों के द्वारा पीपल के पेड़ लगाए गए। उत्तर प्रदेश सरकार के अनुसार 25 करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य 12 घंटे के अंदर हासिल कर लिया गया।

भारत ने अपने स्थल भाग का एक तिहाई हिस्सा फॉरेस्ट कवर के अंदर लाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वृक्षारोपण कार्यक्रम 4 साल पहले ही शुरू कर दिया था। राज्य वन मंत्री दारा सिंह चौहान के मुताबिक यूपी में फॉरेस्ट कवर 3% से अधिक बढ़ा है, जबकि राष्ट्रीय औसत 2.89% है।

राज्य वन विभाग के वरिष्ठ अधिकारी मनोज सिंह ने बताया, “हम उत्तर प्रदेश में फॉरेस्ट कवर को 15% से अधिक बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। यह लक्ष्य अगले 5 सालों के लिए तय किया गया है। आज के वृक्षारोपण अभियान के तहत 100 मिलियन से अधिक पौधे लगाए गए हैं।”

उत्तर प्रदेश सरकार ने एक लाइव डैशबोर्ड भी शेयर किया है जहाँ वृक्षरोपित किए गए पौधों की संख्या को ट्रैक किया जा सकता है। डैशबोर्ड यहाँ से चेक किया जा सकता है।

हालाँकि इन पौधों का जिंदा रहना ही चिंता का एक विषय होता है। रिपोर्ट्स के अनुसार वृक्षारोपण के बाद 60% पौधे ही जीवित रह पाते हैं। बाकी पौधे या तो पानी की कमी से या बीमारी के कारण नष्ट हो जाते हैं। यूपी के वन मंत्री चौहान ने सूचना दी कि राज्य में पिछले 4 सालों के दौरान बेहतर देखरेख और जियो-टैगिन्ग के कारण इन पौधों के जीवित रहने की दर बढ़कर 80% हो गई है। भारत सरकार ने भी सभी राज्यों को यह निर्देशित किया है कि वे 2015 पेरिस समिट के दौरान तय लक्ष्यों को पूरा करने के लिए वृक्षारोपण बढ़ाएँ। 2030 तक भारत में लगभग 95 मिलियन हैक्टेयर भूमि को जंगलों से कवर करने के लिए 6.2 बिलियन डॉलर (लगभग 46,050 करोड़ रुपए) खर्च करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

चित्रकूट में ‘कोदंड वन’ की स्थापना, CM योगी ने हरिशंकरी का पौधा लगाकर की शुरुआत: श्रीराम की तपोभूमि में लगेंगे 35 करोड़ पौधे

सीएम योगी ने 124 करोड़ रुपए की 28 योजनाओं का शिलान्यास और 15 योजनाओं का लोकार्पण करते हुए कहा कि गोस्वामी तुलसीदास व महर्षि वाल्मीकि की धरती पर धार्मिक व पर्यटन विकास में कोताही नहीं होगी।

‘सोशल मीडिया की जवाबदेही तय होगी’: मोदी सरकार के खिलाफ कोर्ट पहुँचा ट्विटर, नहीं हटा रहा भड़काऊ और झूठे कंटेंट्स

कर्नाटक हाईकोर्ट में ट्विटर ने सरकार के आदेशों को चुनौती दे दी है। नए आईटी नियमों को मानने में भी सोशल मीडिया कंपनी ने खासी आनाकानी की थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
203,707FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe